बदायूं: पुत्र की चाहत में गर्भ में पल रहे बच्चे का लिंग जानने को फाड़ा था पत्नी का पेट, अब पैदा हुआ मृत बेटा

महिला की हालत गंभीर है और उसका इलाज दिल्ली के अस्पताल में चल रहा है.
महिला की हालत गंभीर है और उसका इलाज दिल्ली के अस्पताल में चल रहा है.

पीड़ित महिला के भाई रवि ने बताया की महिला को 5 बोतल खून चढ़ाया जा चुका है. पीड़ित का भाई अपने जीजा को फांसी की सजा दिलाना चाहता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2020, 10:38 AM IST
  • Share this:
बदायूं. गत शनिवार को बदायूं (Badaun) जिले में बेटे की चाहत में हैवान पति ने गर्भ में पल रहे बच्चे का लिंग जानने के लिए पत्नी पेट को हसिए से फाड़ डाला था. महिला का गंभीर हालत में दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज चल रहा है. अब इस मामले में नया मोड़ आया है. डॉक्टरों ने ऑपरेशन के माध्यम से महिला की डिलीवरी करवाई. महिला ने एक मृत बेटे को जन्म दिया. डॉक्टरों ने एक और ऑपरेशन कर बाहर निकली आंतों को अंदर किया है. महिला की हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है. गर्भ में पल रहा बच्चा लड़का ही था, जिसकी चाहत में शख्‍स ने पत्नी का पेट फाड़ डाला था.

महिला के भाई ने आरोपी जीजा को फांसी की सजा देने की मांग की है. पीड़ित महिला के भाई रवि ने बताया की महिला को 5 बोतल खून भी चढ़ाया जा चुका है. पीड़ित का भाई अपने जीजा को फांसी की सजा दिलाना चाहता है. उनका कहना है कि वह तो जेल में रोटी पानी बढ़िया खा रहा होगा और उसकी बहन यहां मौत से लड़ रही है. जिसकी चाहत उसने की थी वही पैदा भी हुआ और उसकी मौत भी हो गई. रवि ने कहा कि जीजा पन्नालाल बच्चे की मौत कराने का जिम्मेदार है.

आरोपी को है पांच बेटियां
अनिता ने 5 लड़कियों को जन्म दिया था. वह छठी बार गर्भवती थीं. उधर, बेटे की लालसा रखे पति पन्नालाल ने शनिवार को हैवानियत दिखाते हुए गर्भ में पल रहे बच्चे का लिंग जानने के लिए धारदार हथियार से अनिता का पेट फाड़ दिया. रविवार को महिला की गंभीर हालत को देखते हुए बरेली रेफर किया गया था. जब पीड़ित महिला की तबीयत ख़राब होने लगी तो मायके वालों ने दिल्ली रेफर करा लिया. वहीं, इस मामले में पीड़िता के छोटे भाई गोलू की तहरीर पर जीजा पन्नालाल के खिलाफ 307 के तहत मुकदमा दर्ज होने के बाद सिविल लाइन थाना पुलिस ने आरोपी को जेल भेज दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज