बदायूं: पुलिस की कार्यशैली से आहत गैंगरेप पीड़िता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या!

लेकिन पुलिस ने गैंगरेप से इनकार किया था. जिससे आहत होकर बुधवार देर रात घर में फांसी लगाकर उसने आत्महत्या कर ली. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

CHITRANJAN SINGH | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 23, 2018, 1:55 PM IST
बदायूं: पुलिस की कार्यशैली से आहत गैंगरेप पीड़िता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या!
बदायूं एसएसपी अशोक कुमार
CHITRANJAN SINGH | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 23, 2018, 1:55 PM IST
बदायूं में नाबालिग गैंगरेप पीड़िता ने पुलिस की कार्यशैली से आहत होकर बुधवार देर रात फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. दरअसल, 20 अगस्त को गन पॉइंट पर नाबालिग किशोरी के साथ तीन युवकों ने गैंगरेप किया था. लेकिन पुलिस ने गैंगरेप से इनकार किया था. जिससे आहत होकर बुधवार देर रात घर में फांसी लगाकर उसने आत्महत्या कर ली. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

परिजनों का आरोप है कि 20 अगस्त को मां को बंदूक के बल पर बंधक बनाकर किशोरी को तीन युवकों ने किया अगवा किया था. जिसके बाद तीनों ने गांव के ही स्कूल में किशोरी के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया था. किशोरी बेहोशी की हालत में स्कूल से बरामद हुई थी. फिलहाल पुलिस की लापरवाही के चलते दो आरोपी अभी भी फरार हैं. पूरे मामले में पुलिस लीपापोती में जुटी है.

उधर पीड़िता के भाई का आरोप है कि उसकी बहन को गांव के एक युवक ने घर से तमंचे के बल पर अगवा कर लिया और सरकारी स्कूल में अपने दोस्तों के साथ गैंगरेप किया. इस मामले में पुलिस ने केस भी दर्ज किया और मेडिकल भी कराया. लेकिन इसके बाद पुलिस ने बहन पर ही गंभीर आरोप लगाए. पुलिस ने कहा की 122 बार लड़की की लड़के से बात हुई. यह भी कहा कि मेडिकल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं हुई है. इससे आहत होकर बहन ने बुधवार रात आत्महत्या कर ली.

वहीं, आज किशोरी द्वारा फांसी लगाए जाने के बाद पुलिस ने घर पर फोरेंसिक टीम भेज दी है. एसएसपी अशोक कुमार का कहना है कि 21अगस्त को एक तहरीर आई थी. जिसके बाद गैंगरेप का मामला दर्ज कर लिया गया था. आज लड़की ने आत्महत्या कर ली है, जिसका मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया जाएगा. इसमें एक आरोपी को जेल भेजा जा चुका है.

क्या है पूरा मामला?

दरअसल, बदायूं के मूसाझाग थाना क्षेत्र के एक गांव में तीन दबंग युवकों ने एक नाबलिग लड़की को जबरन तमंचे की नोक पर घर से अगवा कर लिया और फिर सरकारी स्कूल में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया. नाबलिग लड़की के परिजनों ने तीन दबंग युवकों के खिलाफ गैंगरेप का मामला दर्ज कराया. पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. वहीं पुलिस ने कहा कि पीड़िता की मेडिकल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नही हुई है. पुलिस का कहना है कि पीड़िता और आरोपी की पिछले लगभग दो महीने के अंदर  कई बार मोबाइल पर बात हुई है.

दूसरी तरफ, परिजन का आरोप है कि जब वे लड़की को थाने लेकर पहुंचे तो पुलिस ने पहले तो मामला दबाने का प्रयास किया. लेकिन बाद में मुकदमा दर्ज कर लड़की को मेडीकल परीक्षण के लिए भेज दिया. उसके बाद पुलिस ने कहा कि मेडिकल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं हुई है और आरोप की पीड़िता से कई बार बात हुई. पुलिस के इन आरोपों से आहत होकर बेटी ने आत्महत्या कर ली.
Loading...
एसएसपी अशोक कुमार ने कहा कि सभी बिन्दुओं पर जांच की जा रही है. उन्होंने यह भी बताया कि मेडिकल रिपोर्ट में कोई रेप की बात सामने नही आई है. यही नहीं पीड़ता और एक आरोपी के बीच लगातार बात होती थी.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर