Assembly Banner 2021

बदायूं गैंगरेप केस: सीबीआई जांच में ऑनर किलिंग के मिले संकेत

चिर्चित बदायूं गैंगरेप मामले में सीबीआई की ओर से अबतक की गई जांच में ऑनर किलिंग की बात सामने आ रही है। इससे पहले यूपी पुलिस के डायरेक्‍टर जनरल एएल बनर्जी ने भी इस मामले में ऑनर किलिंग की आशंका जताई थी।

चिर्चित बदायूं गैंगरेप मामले में सीबीआई की ओर से अबतक की गई जांच में ऑनर किलिंग की बात सामने आ रही है। इससे पहले यूपी पुलिस के डायरेक्‍टर जनरल एएल बनर्जी ने भी इस मामले में ऑनर किलिंग की आशंका जताई थी।

चिर्चित बदायूं गैंगरेप मामले में सीबीआई की ओर से अबतक की गई जांच में ऑनर किलिंग की बात सामने आ रही है। इससे पहले यूपी पुलिस के डायरेक्‍टर जनरल एएल बनर्जी ने भी इस मामले में ऑनर किलिंग की आशंका जताई थी।

  • Last Updated: August 13, 2014, 7:25 AM IST
  • Share this:
चिर्चित बदायूं गैंगरेप मामले में सीबीआई की ओर से अबतक की गई जांच में ऑनर किलिंग की बात सामने आ रही है। इससे पहले यूपी पुलिस के डायरेक्‍टर जनरल एएल बनर्जी ने भी इस मामले में ऑनर किलिंग की आशंका जताई थी।

मालूम हो कि 14 और 15 साल की दो चचेरी बहनों की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई थी। जो अपने घरों से 27 मई को लापता हों गईं थीं। बाद में दोनों के शव आम के पेड़ पर लटके मिले थे।

सूत्रों कि मानें तो सीबीआई की ओर से दो महीने की गई जांच में ऑनर किलिंग के कई संकेत सामने आए हैं। हाल ही में सीबीआई ने पीड़ित माता-पिता का लाइ डिटेक्‍शन टेस्‍ट (झूठ का पता लगाने परीक्षण) कराया था, जिसमें दोनों की ओर से दिए गए बयान यूपी पुलिस के सामने कही गई बातों से मेल नहीं खाते हैं।



सूत्रों के अनुसार फोरेंसिक विशेषज्ञों ने सीबीआई को सौंपी रिपोर्ट में बताया है कि माता-पिता ने गिरफ्तार सभी पांच लोगों पर झूठा आरोप लगाया था। वहीं गिरफ्तार पांचों लोगों ने लाइ डिटेक्‍शन टेस्‍ट में भी अपने ऊपर लगे आरोपों को झूठा बताया है।
जांच में जुटी सीबीआई टीम के एक सदस्‍य ने न्‍यूज18 को बताया, हम अभी किसी को भी क्‍लीनचिट नहीं दे रहे हैं, लेकिन अब तक जो बातें सामने आई हैं वह ऑनर किलिंग की ओर इशारा करती हैं।

तथ्‍यों के आधार पर सीबीआई यह भी कह रही है कि वारदात से ठीक पहले लड़की के साथ शारीरिक संबंध बनाने की पुष्‍टि नहीं होती है। इससे पहले डीजीपी बनर्जी भी कह चुके हैं कि एक लड़की के साथ रेप की पुष्‍टि नहीं हुई है।

जांच अधिकरी के मुताबिक मोबाइल के कॉल की डिटेल से पता चला है कि दोनों बहनों में से एक का आरोपी युवक के साथ रिललेशनशिप में थी। जांच टीम अपराध के मनोवैज्ञानिक पहलू पर भी ध्यान दे रहा है।

अधिकारी ने बताया कि माता-पिता का आरोप है कि रेप के बाद दोनों बहनों को घर के नजदीक के पेड़ पर लटकाया गया। इसमें गौर करने वाली बात यह है भला आरोपी घर के नजदीक वाले पेड़ पर उन्‍हें लटकाने की हिम्‍मत कैसे कर सकता है, इससे तो उनके फंसने का खतरा बढ़ जाता। जबकि आरोपी युवक अपने घर पर सोते हुए मिला था।

जांच ऐजेंसी को सीडीएफओ हैदराबाद और एफएसएल गांधी नगर से जांच रिपोर्ट आने का इंतजार है। इसके बाद ही किसी अंतिम निष्‍कर्ष पर पहुंचेगी।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज