होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

Electricity Crisis: बदायूं में बिजली कटौती से परेशान ग्रामीणों ने दो कर्मचारियों को पीटा, FIR दर्ज

Electricity Crisis: बदायूं में बिजली कटौती से परेशान ग्रामीणों ने दो कर्मचारियों को पीटा, FIR दर्ज

बिजली कटौती से परेशान ग्रामीणों द्वारा दो कर्मचारियों के साथ मारपीट करने का मामला सामने आया है.

बिजली कटौती से परेशान ग्रामीणों द्वारा दो कर्मचारियों के साथ मारपीट करने का मामला सामने आया है.

Electricity Crisis: यूपी के बदायूं जिले के सहसवान इलाके में बिजली की बेतहाशा कटौती से नाराज स्थानीय लोगों द्वारा दो बिजली कर्मचारियों के साथ मारपीट का मामला सामने आया है. इससे पहले बिसौली विधानसभा क्षेत्र से समाजवादी पार्टी के विधायक आशुतोष मौर्य ने विद्युत उप केंद्र प्रभारी से मारपीट की थी.

अधिक पढ़ें ...

बदायूं. उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले के सहसवान इलाके में बिजली की बेतहाशा कटौती से नाराज स्थानीय लोगों ने रविवार को विद्युत लाइन में आई खराबी ठीक करने गए दो बिजली कर्मचारियों की लाठी-डंडों से पिटाई कर दी. पुलिस के मुताबिक, सहसवान नगर क्षेत्र के रहने वाले फुरकान हुसैन और नफीस अहमद बिजली विभाग में संविदा कर्मचारी हैं. दोनों ने पुलिस को दी गई तहरीर में आरोप लगाया है कि रविवार सुबह वे हरना तकिया गांव में हाईटेंशन लाइन में आई खराबी की जांच कर रहे थे, तभी कुछ लोगों ने उनके साथ मारपीट कर दी.

बिजली कर्मचारियों ने बताया कि जब वह हाईटेंशन लाइन में आई खराबी की जांच कर रहे थे, तभी चंद्रपाल सिंह, जोगिंदर सिंह, रामचंद्र और मुजीब हुसैन नामक व्यक्ति लाठी-डंडे लेकर आए और बिजली कटौती को लेकर उनके साथ मारपीट की. सूत्रों के मुताबिक, पीड़ितों की तहरीर पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ सरकारी काम में बाधा डालने और मारपीट करने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी के प्रयास शुरू कर दिए हैं.

सपा विधायक आशुतोष मौर्य ने किया था ये काम
बता दें कि बदायूं जिले में बेतहाशा बिजली कटौती हो रही है, जिससे लोगों में नाराजगी बढ़ती जा रही है. यही नहीं, पिछले बृहस्पतिवार को बिसौली विधानसभा क्षेत्र से समाजवादी पार्टी के विधायक आशुतोष मौर्य ने विद्युत उप केंद्र प्रभारी से मारपीट की थी. इस मामले में उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था. वहीं, इस घटना के बाद बिजली उपकेंद्र के कर्मचारियों ने धरना देकर अपना विरोध जताया था. इसके बाद एसपी देहात सिद्धार्थ वर्मा मौके पर पहुंचे थे और कार्रवाई का भरोसा दिया था.

यूपी में पिछले कुछ दिनों से बिजली कटौती हो रही है. हालांकि ऊर्जा मंत्री अरविंद कुमार शर्मा का कहना है कि यूपी में बिजली की मांग इस वक्‍त 22,000 मेगावाट के आसपास है. जबकि उपलब्धता करीब 18,000 मेगावाट है. साथ ही कहा कि अगले कुछ दिन में बिजली का संकट खत्‍म हो जाएगा.

Tags: Badaun news, Electricity Department, Electricity problem, Samajwadi party

अगली ख़बर