Assembly Banner 2021

बदायूं गैंगरेप: घरवालों पर घूमी शक की सुई

चर्चित बदायूं गैंगरेप मामले में सीबीआई ने ऑनर किलिंग की आशंका जताई है। जांच में जुटी सीबीआई के हाथ वह मोबाइल हाथ लगी हे जो हत्या के वक्त दो बहनों में से एक के पास था।

चर्चित बदायूं गैंगरेप मामले में सीबीआई ने ऑनर किलिंग की आशंका जताई है। जांच में जुटी सीबीआई के हाथ वह मोबाइल हाथ लगी हे जो हत्या के वक्त दो बहनों में से एक के पास था।

चर्चित बदायूं गैंगरेप मामले में सीबीआई ने ऑनर किलिंग की आशंका जताई है। जांच में जुटी सीबीआई के हाथ वह मोबाइल हाथ लगी हे जो हत्या के वक्त दो बहनों में से एक के पास था।

  • IBN7
  • Last Updated: June 29, 2014, 4:40 PM IST
  • Share this:
चर्चित बदायूं गैंगरेप मामले में सीबीआई ने ऑनर किलिंग की आशंका जताई है। जांच में जुटी सीबीआई के हाथ वह मोबाइल हाथ लगी हे जो हत्या के वक्त दो बहनों में से एक के पास था।

सीबीआई के मुताबिक पीड़ित परिजनों ने एक-एक लाख रुपए गवाहों के बैंक खाते में ट्रांसफर किए हैं। मालूम हो कि लड़कियों के परिवार के सदस्यों का नार्कों टेस्ट कराया जा रहा है। इस मामले में सीबीआई अगले हफ्ते पीड़ित लड़कियों को घर के सदस्यों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर सकती है।

हत्‍या के वक्‍त जो मोबाइल लड़की के पास से बरामद हुआ था वह लड़की के मामा के घर से मिला है। इसका सिमकार्ड फर्जी आईडी पर लिया गया था।



सीबीआई इस सवाल का जवाब तलाश रही है कि आखिर ये मोबाइल तोड़ा क्यों गया और सिम फर्जी आईडी पर क्यों है। सीबीआई की इस जांच पर राज्य सरकार की भी नजरें लगी हैं, क्योंकि बदायूं गैंगरेप के बाद यूपी पुलिस पर ही सवालिया निशान लगे थे।
सीबीआई के मुताबिक पीड़ित परिवार ने एक-एक लाख रुपए गवाहों के खातों में जमा कराए हैं, असल में दो अलग-अलग राजनीतिक दलों ने बतौर मदद दोनों चचेरी बहनों के परिवारों को पांच-पांच लाख रुपए दिए थे, इनमें से एक-एक लाख रुपए दो गवाहों- रामबाबू उर्फ नजर और बाबूराम के बैंक खातों में जमा कराए गए हैं। रामबाबू और बाबूराम इन दोनों लड़कियों के रिश्तेदार भी हैं।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज