राजभर ने फिर दिया विवादित बयान, CM को चिट्ठी लिखने वाले MLAs को बताया जीव

प्रदेश के कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने बदायूं के इस्लामियां इंटर कॉलेज के मैदान पर विकलांग युवक युवतियों को ट्राई साइकिल का वितरण किया.

News18 Uttar Pradesh
Updated: May 23, 2018, 5:37 PM IST
राजभर ने फिर दिया विवादित बयान, CM को चिट्ठी लिखने वाले MLAs को बताया जीव
यूपी सरकार में पिछड़ा विभाग मंत्री राजभर (फाइल फोटो)
News18 Uttar Pradesh
Updated: May 23, 2018, 5:37 PM IST
उत्तर प्रदेश सरकार में पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री और अपनी ही सरकार के खिलाफ विवादित बयान देकर सुर्खियों में रहने वाले ओमप्रकाश राजभर ने बुधवार को बीजेपी विधायकों को लेकर विवादित बयान दिया.

सपा सांसद धर्मेंद्र यादव के विकास कार्यों के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को विधायकों की चिट्ठी के सवाल पर ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि कुछ ऐसे जीव होते हैं जिन्हें बस किसी न किसी हालत में तमाशा करना होता है. इन विधायकों को ठेका और कमीशन नहीं मिल रहा होगा इसलिए चिट्ठी लिख डाली.

बता दें, बदायूं के चार बीजेपी विधायकों ने क्षेत्र के सांसद धर्मेंद्र यादव द्वारा सपा शासन के दौरान कराए गए तमाम विकास कार्यों का हवाला देते हुए और उनकी तारीफ करते हुए अप्रैल में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर जनपद के लिए विकास की कुछ बड़ी परियोजनाओं की मांग की थी.

प्रदेश के कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने बदायूं के इस्लामियां इंटर कॉलेज के मैदान पर विकलांग युवक युवतियों को ट्राई साइकिल का वितरण किया. इस दौरान उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि बीजेपी से उनका रिश्ता 2024 तक का है. उनकी नाराज़गी सरकार से नहीं, प्रदेश की अफसरशाही से है.

राजभर ने कहा, ‘मैं आम जनता के मुद्दों को लेकर लड़ाई लड़ता हूं. अभी एक लड़ाई लड़ रहा हूं, वह दलित और पिछड़ों की कैटेगिरी को लेकर है. इस पर मैंने अमित शाह से भी बात की. सरकार इस मुद्दे पर काम कर रही है. 2019 के चुनाव से पहले इसे लागू कर दिया जाएगा.’


कैराना उपचुनाव की बात करते हुए राजभर ने कहा कि बिल्ली जब गर्म दूध पीते समय जल जाती है तो वह छांछ भी फूंक-फूंक कर पीती है. हम फूलपुर और गोरखपुर का चुनाव अतिउत्साह में हारे थे. अब आगे ऐसा नहीं होगा.

राज्य के कुछ बीजेपी विधायकों को मिल रही धमकियों पर राजभर ने कहा कि विदेश में बैठे कुछ खुराफाती लोग ऐसा कर रहे हैं. राजभर ने कहा कि डरता वही है जो डरपोक होता है. (भाषा इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें- पूर्व सीएम ही नहीं कई सियासी दिग्गजों का है सरकारी बंगले पर कब्जा

कट्टरपंथी सोच है मदरसा पाठ्यक्रम के आधुनिकीकरण का विरोध: बीजेपी

अमेठी: भंडारा खाने आए युवक को दबंगों ने पेड़ से बांधकर जमकर पीटा
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर