बदायूं: बाबा का वेश बनाकर महिलाओं से गहने ठगने वाले 3 शातिर गिरफ्तार

गिरफ्तार तीन शातिरों में से दो ठग हैं, जबकि एक ज्वेलरी दुकानदार है, जो इनके गहने खरीदता था.
गिरफ्तार तीन शातिरों में से दो ठग हैं, जबकि एक ज्वेलरी दुकानदार है, जो इनके गहने खरीदता था.

पुलिस (Police) के मुताबिक इस गैंग के सदस्य बाबा का वेश बनाकर घर-घर जाकर भीख मांगते थे. इस दौरान अकेली महिला को देखकर उनको बातों की जाल में फंसाकर गहने ठग लेते थे.

  • Share this:
बदायूं. यूपी के बदायूं में पुलिस (Police) ने महिलाओं को जाल में फंसाकर गहने की ठगी (Cheating) करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया. वजीरगंज पुलिस ने इस सिलसिले में गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया. इनके पास से 71.050 ग्राम सोना (कीमत लगभग 3.60 लाख), एक तमंचा, कुछ कारतूस और बाइक बरामद किये गये.

जिले में धोखाधड़ी की घटनाओं में लगातार इजाफा हो रही थी. पुलिस ऐसे गिरोह की तलाश में जुटी थी, जो इन घटनाएं को अंजाम दे रहा था. इस बीच शनिवार को वाहन चैकिंग के दौरान पुलिस ने 3 शातिर ठगों को गिरफ्तार किया. इनलोगों पर पूर्व में कई मुकदमे दर्ज हैं.

पुलिस के मुताबिक इस गैंग के सदस्य बाबा का वेश बनाकर घर-घर जाकर भीख मांगते थे. इस दौरान अकेली महिला को देखकर उसको बातों की जाल में फंसाकर पारिवारिक कष्ट दूर करने का भरोसा दिलाते थे. फिर रुपये व जेवरात को दोगुना करने का लालच देकर महिलाओं से ठगी करते थे.



ठगे हुए गहने को वजीरगंज स्थित सोने की एक दुकान में ले जाया जाता था. दुकानदार इन गहनों को गलाकर ईंट का रूप दे देता था. इन ईंटों को बेचकर गिरोह अच्छी कमाई करता था. पुलिस ने उस दुकानदार को भी दबोच लिया.
गिरफ्तार अन्य दो में से एक की पहचान बदायूं के रहने वाले अय्यूब और दूसरे की पहचान फिरोजाबाद निवासी अजमेरी के रूप में हुई. पुलिस की पूछताछ में इनलोगों ने ये बताया कि पिछले कई सालों से ये लोग महिलाओं को फंसाकर ठगने का काम करते आ रहा हैं.

बदायूं एसएसपी संकल्प शर्मा ने बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि महिलाओं के साथ ठगी करने वाला गिरोह सक्रिय है. ये लोग घरों में अकेली महिला को देखकर उनको सोना दोगुना करने की लालच देकर गहने लेकर फरार हो जाते हैं. पुलिस ने इस सूचना पर कार्रवाई करते हुए दो ठग और ज्वेलरी दुकानदार को गिरफ्तार कर जेल भेजा दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज