लाइव टीवी

यूरोपीय पावरलिफ्टिंग में गोल्ड जीतने वाले वर्ल्ड चैंपियन रजत का बदायूं में भव्य स्वागत

ETV UP/Uttarakhand
Updated: July 9, 2017, 8:05 AM IST

उत्तर प्रदेश के बदायूं के रहने वाले रजत गोयल ने हॉलैंड में आयोजित यूरोपीय पावरलिफ्टिंग चैंपियनशिप के 110 किलो ग्राम वर्ग में गोल्ड मैडल जीत कर इतिहास रच दिया.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश के बदायूं के रहने वाले रजत गोयल ने हॉलैंड में आयोजित यूरोपीय पावरलिफ्टिंग चैंपियनशिप के 110 किलो ग्राम वर्ग में गोल्ड मैडल जीत कर इतिहास रच दिया. रजत गोयल दुनिया में अपने शहर और देश का नाम रोशन किया है. रजत ने 1 जुलाई को 600 किलो ग्राम का वजन उठाकर विश्व में भारत का नाम रोशन किया. उनके रिकॉर्ड को अभी तक कोई पार नहीं कर सका है. यूरोप से वापस लौटे रजत जब अपने घर बदायूं पहुंचे तो उनका भव्य स्वागत हुआ, उनका रोड शो निकाला गया. रजत की इस उपलब्धि से उनके घर आने वालों का तांता लगा गया.

मिली जानकारी के मुताबिक, बदायूं के रहने बाले रजत गोयल ने हॉलैंड में आयोजित टोटल पावरलिफ्टिंग  600 किलोग्राम का वजन उठाया और दूसरे डेड फिल्फ्त अलोन में 230 किलोग्राम वजन उठाया . रजत ने यूरोपीय और वर्ल्ड रिकॉर्ड को हासिल किया. पावरलिफ्टिंग चैंपियनशिप में 110 किलो वर्ग में गोल्ड मेडल जीतकर बड़ी उपलब्धि हासिल की है.

रजत गोयल ने इस उपलब्धि का श्रेय अपने पहले गुरु सुभाष को देते हुए कहा कि उनकी प्रतिभा को आगे बढ़ाने का काम उनके दिल्ली के कोच ने किया. इस उपलब्धि का श्रेय के असली हकदार गुरुजनों के साथ पूरा परिवार है.

रजत के माता पिता का कहना है कि उन्हें अपने बेटे की इस उपलब्धि पर बहुत गर्व है. उनके बेटे ने न केवल बदायूं का बल्कि पूरे देश का नाम दुनिया में ऊंचा किया है. रजत की मां सुधा ने बताया कि उन्होंने ऐसा बेटे को जन्म दिया जिसने देश का नाम रौशन किया. मुझे अपने बेटे पर नाज है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 9, 2017, 8:05 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...