दुश्मन को फंसाने के लिए के लिए बेटे का करवाया अपहरण, पुलिस ने बच्चे को बचाया

पुलिस के अनुसार पिता का बेटे की हत्या करा कर मारने का प्लान था ताकि गांव में पुरानी रंजिश के तहत अपने दुश्मन को जेल भिजवा सके. मामला कोतवाली दातागंज का है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 1, 2018, 4:00 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 1, 2018, 4:00 PM IST
बदायूं के कलियुगी पिता ने अपने दुश्मन को फंसाने के लिए के लिए अपने बेटे का अपहरण करवा दिया. गनीमत रही कि पुलिस ने अपनी सक्रियता के कारण बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया. पुलिस के अनुसार पिता का बेटे की हत्या करा कर मारने का प्लान था ताकि गांव में पुरानी रंजिश के तहत अपने दुश्मन को जेल भिजवा सके. मामला कोतवाली दातागंज का है.

बदायूं के दातागंज की रहने वाले जयवीर की गांव में तासू नाम के व्यक्ति से जमीन को लेकर पुरानी रंजिश चल रही है. जयवीर ने तासू की जमीन पर अवैध कब्जा किया था जिसे तासू ने प्रशासन की मदद से खाली करा लिया और तभी से जयवीर उससे रंजिश मानने लगा और तासू को फंसाने का मन बना लिया.

इसी प्लानिंग के तहत जयवीर ने अपने साढ़ू के बड़े भाई शातिर बदमाश वीरेश से संपर्क किया और उससे कहा कि वह उसके बच्चे का अपहरण कर उसकी हत्या कर दे जिससे वह तासू को फंसा सके. जयवीर की योजना के अनुसार वीरेश ने उसके बच्चे का अपहरण कर लिया. इधर गांव में शोर मचा कर जयवीर ने तासू के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया.

जयवीर के रपट लिखाने पर पुलिस को शक हुआ तब जाकर पुलिस सक्रिय हुई. पुलिस ने बच्चे के पिता जयवीर पर शिकंजा कस दिया. पुलिस की सक्रियता के कारण पांच वर्ष के मासूम अरुण को पुलिस ने मरने से पहले ही बचा लिया. एसएसपी ने बताया कि जनपद बरेली के थाना भमौरा के एक गांव से बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया गया है. अगर पुलिस समय पर नहीं पहुंचती तो ये लोग बच्चे को मार देते. पुलिस ने एक आरोपी वीरेश को गिरफ्तार कर लिया है जबकि कलयुगी पिता अभी फरार बताया जा रहा है. पुलिस उस पर भी कानूनी कार्रवाई करेगी.

ये भी पढ़ें - 

तस्वीरों में देखिए कैसे बारिश में धंसने लगा है आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे

BJP MLA का विवादित बयान, मुस्लिम बहुसंख्यक हो जाएंगे तो भारत नहीं रहेगा प्रजातंत्र
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर