अपना शहर चुनें

States

एक हफ्ते तक मां के शव के पास भूखी-प्यासी खेत में पड़ी रही डेढ़ साल की मासूम

देश की नीति आयोग ने हेल्थ इंडेक्श जारी किया है. इसमें जहां देश के बड़े प्रदेशों की स्वास्थ्य सुविधाओं में गिरावट हुई है. सांकेतिक तस्वीर
देश की नीति आयोग ने हेल्थ इंडेक्श जारी किया है. इसमें जहां देश के बड़े प्रदेशों की स्वास्थ्य सुविधाओं में गिरावट हुई है. सांकेतिक तस्वीर

अभी पता नहीं चल पाया है कि महिला और बच्ची कहां की रहने वाली हैं? बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराया. पुलिस ने महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है.

  • Share this:
वो कहावत तो आपने जरूर सुनी होगी 'जाको राखे साइयां, मार सके ना कोय.' ये कहावत बुधवार को सच साबित हुई. बागपत जनपद पुलिस ने गन्ने के खेत से एक सप्ताह पुराने महिला के शव के पास से उसकी लगभग डेढ़ साल की बच्ची को जिंदा बरामद किया है. हत्यारों ने बच्ची को भी मारने की कोशिश की और बच्ची को मरा-समझकर लाश के पास छोड़ दिया. लेकिन, किस्मत ने उसे बचा लिया.

फिलहाल श्ह पता नहीं चल पाया है कि मृतक महिला और उसकी बच्ची कहां की रहने वाली हैं? पुलिस ने महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है, जबकि बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां डॉक्टर उसका इलाज़ कर रहे हैं. पुलिस बच्ची के स्वस्थ होने का इंतजार कर रही है. साथ ही मामले की तफ़्तीश में जुट गई है.

किसान को बेसुध मिली बच्ची, पुलिस को दी सूचना 



मामला बड़ौत कोतवाली क्षेत्र के ढ़िढोरा गांव का है, जहां सुबह के वक्त खेत पर गए एक किसान ने बच्ची को घायल अवस्था में पड़े देखा. बच्ची की हालत बेहद गंभीर थी. वह बेसुध पड़ी थी. कुछ ही दूरी पर किसान को बच्ची की मां का शव भी पड़ा मिला, जिसकी पहचान छिपाने के लिए चेहरे को डेमेज किया गया था. शव बुरी तरह सड़ चुका था. शव देखने से करीब एक हफ्ता पुराना लग रहा था. इसकी सूचना उसने आसपास के किसानों और पुलिस को दी. पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लिया.
खिसकते-खिसकते खेत की मेढ़ तक पहुंच गई बच्ची 

पुलिस ने जब बच्ची को देखा तो उसकी सांसें चल रहीं थीं. उसे तुरंत हॉस्पिटल भेजा गया. बच्ची के शरीर पर भी जख्मों के निशान थे. वहीं, ग्रामीण यशपाल की मानें तो बच्ची अपनी मां के शव के पास से खिसकते-खिसकते खेत की मेढ़ तक पहुंच गई. लेकिन, एक हफ्ते तक भूखी प्यासी खेत में पड़े रहने और जंगली जानवरों का डर, ऐसे में बच्ची का बचना करिश्मा है.

फिलहाल ठीक है अस्पताल में भर्ती बच्ची की हालत 

बड़ौत के सीओ रामानंद कुशवाहा का कहना है कि पुलिस ने बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां डॉक्टर उसके इलाज में जुटे हैं. बच्ची की हालत फिलहाल ठीक है. महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया है. पुलिस महिला की शिनाख्त में जुटी है.

अपने WhatsApp पर पाएं लोकसभा चुनाव के नतीजे, मिलेगा हर ज़रूरी खबर का अपडेट

ये भी पढ़ें- 

लोकसभा चुनाव के नतीजे आने में लग सकते हैं 2-3 दिन, दोपहर तक मिलेंगे शुरुआती रुझान

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइबकरें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज