बागपत: 14 हुई कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या, सभी तबलीगी जमात से जुड़े

बाग़पत में संक्रमित मरीज मिलने  के बाद चार गांव को किया गया सील

बाग़पत में संक्रमित मरीज मिलने के बाद चार गांव को किया गया सील

जिले के डीएम-एसपी ने शुक्रवार को लॉकडाउन के दौरान सीज किए गए गांवों दौरा किया और लोगों को जरूरी सामानों की होम स्टेप डिलीवरी लेने के बारे में जानकारी दी.

  • Share this:
बागपत. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बागपत (Baghpat) में अब कोरोना (Coronavirus) पॉजिटिव मरीजों की संख्या 14 हो गई है. इसके बाद जिला प्रशासन ने उन चार गांवों को सील कर दिया है, जहां से यह मरीज मिले हैं. साथ ही चारों गांव के 45 हजार से ज्यादा लोगों की जिला प्रशासन ने स्क्रीनिंग करा ली है और 200 से ज्यादा लोगों को होम क्वारंटाइन और इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन कर दिया है. जिले के डीएम-एसपी ने शुक्रवार को लॉकडाउन के दौरान सीज किए गए गांवों दौरा किया और लोगों को जरूरी सामानों की होम स्टेप डिलीवरी लेने के बारे में जानकारी दी. माइक लेकर गांव में घूमते हुए डीएम व एसपी ने लोगों से घरों में रहने की अपील करते हुए जरूरी चीजों की आवश्यकता होने पर पुलिस से मदद मांगने की अपील की है.

सभी संक्रमित जमात से जुड़े

वहीं डीएम ने बताया के इन चार गांवों को सेनेटाइज़ करा दिया गया है. गांवों में रहने वाले सभी लोगों की स्क्रीनिंग करा दी गई है. गांव में हर समय 50 से ज्यादा डॉक्टरों की ड्यूटी लगाई गई है, ताकि जरूरत पड़ने पर डॉक्टरों को परेशानी न हो. दरअसल बागपत के रटोल, ओसिक्का, असारा और अशरफाबाद थल गांव में निजामुद्दीन दिल्ली से जमात आई हुई थी. उन जमातों में से तेरह जमातीयों को कोरोना पॉजिटिव पाया गया हैं. जिसके बाद जिला प्रशासन ने इन चारों गांव को सील कर दिया है और सीमाओं पर बैरिकेडिंग कर पुलिस को तैनात कर दिया है. गांव में किसी के आने और किसी के बाहर जाने पर पूरी तरह से रोक है. साथ ही जो लोग जमात के लोगों के संपर्क में आये थे ऐसे सभी लोगों को होम क्वारंटाइन कर दिया गया है. जिन पर मेडिकल विभाग की टीम नजर बनाए हुए हैं. साथ ही एक ऐसे व्यक्ति को भी कोरोना की पुष्टि हुई है जो जमातियो के संपर्क में आया था. इस तरह से बागपत में अब तक कोरोनावायरस के मरीजो की संख्या 14 हो गई है. जो सभी जमात से ताल्लुक रखते हैं .

अब जिला प्रशासन अलर्ट पर है और डीएम व एसपी गांव में घूम-घूम कर लोगों को घरों में रहने की अपील कर रहे हैं. साथ ही जमातियों के संपर्क में आए लोगों से सामने आकर मेडिकल कराने की बात कर रहे हैं. सील गांव में किसी को बाहर निकलने की अनुमति नहीं है. जिसको लेकर ग्रामीणों को जरूरी सामानों की होम स्टेप डिलीवरी दी जा रही है.आज डीएम शकुंतला गौतम और एसपी प्रताप गोपेन्द्र ने इन चारों गांव का निरीक्षण कर लोकडाउन का जायजा लिया.
ये भी पढ़ें:

स्वास्थ्य विभाग की टीम पर पथराव करने में 7 महिलाओं समेत 17 गिरफ्तार

COVID-19: नोएडा में हॉटस्पॉट लिस्ट से चार बाहर, नहीं मिला कोई पॉजिटिव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज