अपना शहर चुनें

States

हरियाणा और बागपत के किसानों के बीच सीमा विवाद को लेकर खूनी भिड़ंत, धारदार हथियार से हमले में 4 घायल

हमले में गंभीर रूप से घायल किसान आईसीयू में एडमिट
हमले में गंभीर रूप से घायल किसान आईसीयू में एडमिट

सोमवार को बागपत (Baghpat) के किसान अपनी जमीन की जुताई करने गए थे. तभी हरियाणा के एक दर्जन के करीब किसान पुलिस के साथ आए और उनपर धारदार हथियार व लाठी-डंडों से हमला बोल दिया.

  • Share this:
बागपत. सीमा विवाद (Border Dispute) में एक दर्जन से ज्यादा हरियाणा (Haryana) के किसानों (Farmers) ने पुलिस (Police) की मौजूदगी में बागपत (Baghpat) के किसानों को पीटा. इस हमले में चार किसान घायल हुए हैं, जिसमें से एक किसान की हालत गंभीर बनी हुई है. उसका इलाज बडौत के एक निजी अस्पताल के आईसीयू में चल रहा है. घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस मामले की पड़ताल में जुटी है. बागपत के किसानों का आरोप है किसानों ने उनकी पिटाई की और उल्टा हरियाणा की पुलिस बागपत के सात किसानों को उठाकर ले गई है. इस तरह से हरियाणा के किसान और पुलिस बागपत के किसानों का उत्पीड़न कर रही है. आरोप है कि बागपत प्रशासन उनकी सुनवाई नहीं कर रहा है.

गौरतलब है कि पिछले काफी समय से किसानों के साथ सीमा विवाद की समस्या बनी हुई है. दरअसल घटना छपरौली थाना के टांडा खादर की बताई जा रही है, जहांं सोमवार को बागपत के किसान अपनी जमीन की जुताई करने गए थे. तभी हरियाणा के एक दर्जन के करीब किसान पुलिस के साथ आयेे और बागपत के किसानों पर धारदार हथियार व लाठी-डंडों से हमला बोल दिया. जिसमें चार किसान गंभीर रूप से घायल हो गए, जिनमें से एक की हालत गंभीर बनी हुई है.

कई साल से है सीमा विवाद
घयाल किसानों के नाम याकूब, रिजवान, रियाज, सुलेमान आदि बताए जा रहे हैं. बागपत के किसानों का आरोप है कि पिछले काफी समय से हरियाणा के किसानों ने उनकी  जमीन पर कब्जा कर रखा हैं और जिस जमीन पर पिछले कई  साल से वह जुताई कर रहे ।उस पर भी हरियाणा के किसान कब्ज़ा करनाा चाहते है. इसी को लेकर सोमवार को हरियाणा किसानों ने  एक बार फिर बागपत के किसानों पर हमला बोल दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज