लाइव टीवी

बागपत: मंदिर की खुदाई के दौरान मिली पूरा पाषाण काल की सीढ़ियां व मूर्तियां

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 22, 2019, 5:04 PM IST
बागपत: मंदिर की खुदाई के दौरान मिली पूरा पाषाण काल की सीढ़ियां व मूर्तियां
मंदिर की खुदाई में मिली प्राचीन सभ्यता

दरअसल पिछले हफ्ते ही मंदिर के जीर्णोद्धार का काम शुरू हुआ था. इसी दौरान मंदिर परिसर में खुदाई शुरू हुई तो घुमावदार सीढियां नजर आई. जब और खुदाई की गई तो आगे दीवार नजर आई.

  • Share this:
बागपत. सिनौली गांव स्थित एक अति प्राचीन शिव मंदिर (Old Shiva Temple) में खुदाई (Excavation) के दौरान जमीन से निकली प्राचीन धरोहर को देखकर लोग अचंभित हो गए. खुदाई में मर्दभान, पॉटरी, दो छोटी मूर्तियां और सीढियां निकली हैं. इतिहासकारों का मानना है कि यह वस्तुएं 2 हजार साल पहले पूरा पाषाण काल (Old Stone Age Era) सभ्यता से जुड़ी हैं. स्थानीय इतिहासकार ने मंदिर में एएसआई द्वारा खुदाई कराने की मांग की है. उनका कहना है कि खुदाई हुई तो ऐतिहासिक कहाजाना निकल सकता है. बता दें इसी गांव की खुदाई में महाभारतकालीन रथ, ताबूत और कंकाल पहले भी मिल चुके हैं.

हजारों साल पुराना है मंदिर

दरअसल पिछले हफ्ते ही मंदिर के जीर्णोद्धार का काम शुरू हुआ था. इसी दौरान मंदिर परिसर में खुदाई शुरू हुई तो घुमावदार सीढियां नजर आई. जब और खुदाई की गई तो आगे दीवार नजर आई. जिसके बाद मंदिर में खुदाई का काम रोक दिया गया और इसकी सूचना दिल्ली स्थित पुरातत्व विभाग को दे दी गई. मंदिर के पुजारी यशवीर ने बताया कि गांव के लगभग बीच में मान पट्टी स्थित शिवालय हजारों साल पुराना है. बताया जाता है कि यहां से शिवलिंग निकलने के बाद ग्रामीणों ने मंदिर का निर्माण कराया था. इस मंदिर की बड़ी मान्यता है.

जल्द पहुंचेगी एएसआई की टीम

एएसआई के निदेशक डॉ. संजय मंजुल का कहना है कि जल्द ही टीम के साथ गांव आकर जांच शुरू की जाएगी. अभी तक मंदिर से सीढ़ियों के अलावा मूर्तियां मर्दभान और पॉटरी मिला है. स्थानीय इतिहासकार डॉ केके शर्मा का कहना है कि इस गांव की जमीन के नीचे ऐतिहासिक खजाना और धरोहर हो सकता है. इसकी खुदायी सावधानी से की जानी चाहिए.

baghpat shiva temple
बागपत में मिली हजारों साल पुरानी सीढियां


एएसआई द्वारा संरक्षित किया जा रहा है गांव
Loading...

दरअसल, महाभारतकालीन सादिकपुर सिनौली गांव भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) संस्थान द्वारा संरक्षित किया जा रहा है. एएसआई आगरा सर्किल ने सादिकपुर को राष्ट्रीय महत्व का पुरातत्वीय स्थल घोषित कर रखा है. एएसआई यहां तीन चरणों में खुदाई कर चुकी है. इस दौरान युद्ध रथ, शाही ताबूत, प्राचीन ताम्र निर्मित तलवारें, मनके, मर्दभंड, सैकड़ों कंकाल आदि बरामद हो चुके हैं.

(इनपुट: शहजाद राजपूत)

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बागपत से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 22, 2019, 5:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...