अपना शहर चुनें

States

नरेश टिकैत बोले- दिल्ली की घटना से सरकार का नहीं, किसानों का हुआ नुकसान

बागपत में भारती किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत
बागपत में भारती किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत

भारतीय किसान यूनियन (BKU) के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत (Naresh Tikait) ने कहा कि सरकार अगर आंदोलन तोड़ना ही चाहती थी तो वह 2 दिन पहले किसानों पर गोलियां भी चलवा सकती थी. इसमें सरकार और दिल्ली पुलिस की लापरवाही है कि आखिर उनकी बेरीकेटिंग को तोड़कर किसान लाल किले तक कैसे पहुंच गए?

  • Share this:
बागपत: गणतंत्र दिवस (Republic Day) के मौके पर किसान ट्रैक्टर परेड (Farmer Tractor Parade) के दौरान दिल्ली में हुए बवाल (Violence) को लेकर भारतीय किसान यूनियन (BKU) के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत (Naresh Tikait) का बड़ा बयान सामने आया है. ट्रैक्टर परेड से वापस लौट रहे नरेश टिकैत ने बागपत (Baghpat) में इस घटना की निंदा की. उन्होंने कहा कि इस घटना में सरकार का नहीं बल्कि किसानों का नुकसान हुआ है. सरकार लगातार किसान को बेइज्जत करने में लगी है. वही लाल किले पर पहुंचे किसानों को लेकर नरेश टिकैत ने कहा कि किसानों को किसी ने गुमराह कर वहां तक भेजा है. और इस आंदोलन को तोड़ने के लिए यह किसी ने चाल चली है.

सरकार और दिल्ली पुलिस की लापरवाही है : नरेश टिकैत

उन्होंने कहा कि सरकार अगर आंदोलन तोड़ना ही चाहती थी तो वह 2 दिन पहले किसानों पर गोलियां भी चलवा सकती थी. इसमें सरकार और दिल्ली पुलिस की लापरवाही है कि आखिर उनकी बेरीकेटिंग को तोड़कर किसान लाल किले तक कैसे पहुंच गए? किसान दिल्ली के बारे में नहीं जानते इसलिए किसानों की इसमें कोई गलती नहीं है. वहीं इस बवाल के दौरान मारे गए किसान को लेकर नरेश टिकैत ने कहा कि किसान की मौत दिल्ली पुलिस की गोली से हुई है. जिसके चलते किसान के परिवार को मुआवजा मिलना चाहिए.



संघर्ष जारी रहेगा
उन्होंने कहा कि किसानों के लिए उनका संघर्ष जारी रहेगा और आंदोलन चलता रहेगा. इसके लिए चाहे उन्हें जेल भी जाना पड़े तो वो तैयार हैं. इस दौरान राकेश टिकैत के साथ बीकेयू के कुछ कार्येकर्ता भी वापस लौट आये.

राकेश टिकैत का वीडियो वायरल, किसानों से कहा- लाठी-डंडे रखना साथ

इस बीच किसानों के बवाल के बाद किसान नेता राकेश टिकैत का एक वीडियो सामने आया है. इस वीडियो में भाकियू नेता राकेश टिकैत किसानों से लाठी-डंडा साथ रखने की बात कर रहे हैं. इसके साथ ही टिकैत ये कहते हुए भी दिखाई दे रहे हैं कि किसानों से उनकी जमीन छीन ली जाएगी.



सरकार मान नहीं रही है और अब सब आ जाओ अपनी जमीन नहीं बच रही.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज