Noida news

नोएडा

अपना जिला चुनें

कारगिल विजय दिवस: शहीद कैप्टन विजयंत थापर की पहली और अंतिम चिट्ठी आप की आंखों को कर देगी नम

कारगिल विजय दिवस:शहीद कैप्टन विजयंत थापर की पहली और अंतिम चिट्ठी आप के आंखों को कर देगी नम

तृप्ता थापर बताती हैं कि बचपन में रोबिन को उसके पापा ने 100 रुपये पॉकेट खर्च दिए थे, जिसे उसने बगीचे में रहने वाली एक औरत को दे दिया था, उसके पापा को यह बात पता चली तो पूछने पर उसने बताया था कि उसके पैसे किसी के भलाई के लिए जा रहे हैं.

SHARE THIS:
नोएडा: रोबिन एयरफोर्स में जाना चाहता था लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था, इसलिए वो भारतीय सेना में भर्ती हो गया. जन्म के बाद से ही वह टैंक, आर्मी ऑफिसर से घिरा रहता था. रोबिन हमारे परिवार की चौथी पीढ़ी थी जो भारतीय सेना में सेवा दे रहा था. यह कहना है कारगिल शहीद कैप्टन विजयंत थापर की माता तृप्ता थापर का.

सेवा के छः महीने में ही देश के लिए न्यौछावर हो गए कैप्टन विजयंत
कैप्टन विजयंत थापर के भारतीय सेना में भर्ती हुए छः महीने ही हुई थे, जब साल 1999 में पाकिस्तान के नापाक मनसूबों के कारण कारगिल युद्ध छिड़ गया. विजयंत थापर भारतीय सेना के 2 राजपूताना राइफल में तैनात थे. थापर आईएमए ( इंडियन मिलिट्री एसोसिएशन) से तुरंत पास हुए थे और कारगिल में उन्हें जाना पड़ा था. सेवा निवृत शिक्षिका तृप्ता थापर बताती है कि कारगिल युद्ध जब छिड़ा था उस दौरान मोबाइल फोन का जमाना नहीं था, टीवी भी लोगों के घरों में कम ही होते थे. आईएमए से जब विजयंत निकला तो हमें ( विजयंत के पिता, माता और छोटा भाई) को पता ही नहीं था मेरा बेटा कारगिल में दुश्मनों से लोहा ले रहा है. तृप्ता थापर बेटे को याद करते हुए बताती हैं कि जब सुबह हुई तो हमें अखबार के माध्यम से पता चला कि कारगिल युद्ध में पहली फतह पाने वाला किसी नौजवान कैप्टन की टीम है, पूरी खबर पढ़ने के बाद पता चला कि वह नौजवान कैप्टन मेरा बेटा विजयंत था.

काफी अच्छे तैराक थे कैप्टन विजयंत
विजयंत को चुनौती स्वीकार करना और उसको पूरा करना काफी पसंद था, एक बार विजयंत के पिता ने मजाक में बोला कि स्विमिंग पूल में क्या तुम 50 राउंड तैर सकते हो? विजयंत ने उस चुनौती को स्वीकार किया और ओलंपिक के आकार के स्विमिंग पूल को 50 राउंड तैर कर पार किया. उसकी आंखे लाल हो गई थी लेकिन उसने अपने टास्क को पूरा किया.

आत्मबल के पक्के मगर दयालु थे कैप्टन
कारगिल शहीद विजयंत आत्मबल से काफी मजबूत थे इसका उदाहरण देश ने कारगिल युद्ध में उनके रण कौशल के रूप में देखा था. लेकिन आग उगलती मशीनगन के सामने निडरता से चलने वाला कैप्टन दयालु भी था. तृप्ता थापर बताती हैं कि बचपन में रोबिन को उसके पापा ने 100 रुपये पॉकेट खर्च दिए थे, जिसे उसने बगीचे में रहने वाली एक औरत को दे दिया था, उसके पापा को यह बात पता चली तो पूछने पर उसने बताया था कि उसके पैसे किसी के भलाई के लिए जा रहे हैं.

चिट्ठी जिसमे लिखा था क‍ि‍ जब तक आपको यह चिट्ठी मिलेगी मैं कही दूर से आपको देख रहा होऊंगा.

अपने बेटे की पहली और अंतिम चिट्ठी को हाथ में लेकर तृप्ता कहती है कि हमने विजयंत का नाम भारतीय सेना के टैंक के नाम पर रखा था, विजयंत का मतलब होता है अंतिम तक विजयी रहना, नाम के अनुरूप ही विजयंत ने शुरुआत जीत से की और अंत तक विजयी रहा. वह कहती है कि शायद मेरे बेटे को अंदाजा लग गया था कि वह शहीद हो जाएगा, इसलिए उसने एक चिट्ठी अपने दोस्त को दी थी, जिसमें उसने लिखा था. प्यारे मम्मी-पापा, बर्डी और ग्रैनी जब तक आप लोगों को यह पत्र मिलेगा, मैं ऊपर आसमान से आप को देख रहा होऊंगा और अप्सराओं के सेवा-सत्कार का आनंद उठा रहा होऊंगा. मुझे कोई पछतावा नहीं है कि जिन्दगी अब खत्म हो रही है, बल्कि अगर फिर से मेरा जन्म हुआ तो मैं एक बार फिर सैनिक बनना चाहूंगा और अपनी मातृभूमि के लिए मैदान-ए-जंग में लडूंगा.

अगर हो सके तो आप लोग उस जगह पर जरूर आकर देखिए, जहां आपके बेहतर कल के लिए हमारी सेना के जांबाजों ने दुश्मनों से लोहा लिया था. जहां तक इस यूनिट का सवाल है, तो नए आने वालों को हमारे इस बलिदान की कहानियां सुनाई जाएंगी. मेरे आने वाले पैसों में से कुछ हिस्सा अनाथालय को भी दान कीजिएगा और रुखसाना को भी हर महीने 50 रु. देते रहिएगा (रुखसाना एक पांच-छह साल की बच्ची ​थी, जिसके माता-पिता एक आतंकी हमले में मारे गए थे, इसके बाद उसकी आवाज चली गई थी, लेकिन विजयंत थापर से मिलने के बाद उसकी आवाज पांच महीनों में वापस आ गई थी. विजयंत उस बच्ची को बेटी की तरह प्यार करते थे) और योगी बाबा से भी मिलिएगा.बेस्ट ऑफ लक टू बर्डी.बेस्ट ऑफ लक टू यू ऑल.लिव लाइफ किंग साइज.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

J&k-कश्मीरी पंडितों की जमीन वापस दिलाने के लिए लॉन्च वेबसाइट के बाद जानिए कश्मीरियों का मन

कश्मीरी पंडित क्या कश्मीर वापस लौटना चाहते है!

कश्मीरी पंडितों (Kashmiri pandit) के लिए यह एक अच्छी पहल मानी जा रही है लेकिन जो कश्मीर के आम नागरिक है वो क्या सोचता है सरकार के इस स्टेप के लेकर

SHARE THIS:

नोएडा: साल 1989-1990 में भारत के अभिन्न अंग जम्मू कश्मीर (Jammu & kashmir) से लाखों कश्मीरी पंडितों को घाटी में बढ़ रहे आतंकवाद के कारण विस्थापित होना पड़ा था, उसके बाद वह अपना व्यापार और संपत्तियों को कश्मीर में ही छोड़ कर देश और विदेशों में के अलग अलग स्थानों पर रहने लगे. ठीक तीस साल बाद भारत सरकार ने जम्मू -कश्मीर को केंद्रशासित प्रदेश बना देने के बाद कश्मीरी पंडितों के हित के लिए कुछ प्रयास करने शुरू किए है. कुछ दिनों पहले जम्मू कश्मीर के एलजी मनोज सिन्हा ने दो वेबसाइट को लॉन्च किया था. जिसके माध्यम से कश्मीर से विस्थापित लोग रजिस्टर कर अपनी जमीन वापस पा सकते हैं.
कश्मीरी पंडितों (Kashmiri pandit) के लिए यह एक अच्छी पहल मानी जा रही है.लेकिन जो कश्मीर के आम नागरिक है वो क्या सोचते हैं सरकार के इस कदम को लेकर. यह जानने के लिए हमने नोएडा -ग्रेटर नोएडा में रहने वाले कश्मीरी नागरिकों से बात की.

अंतिम सांस कश्मीर में लूं यही अच्छा रहेगा
कुलदीप खासु 1990 में दवाइयों को अपना बहुत बड़ा व्यापार छोड़ कर पूरे परिवार के साथ नोएडा आ गए थे.यहां फिर से जीरो से शुरुआत की और फिर से अपना व्यापार जमाना शुरू किया. कुलदीप खासु हाथों में अपने घर के फोटो दिखाते हुए कहते हैं कि मेरा तीन मंजिला मकान था. उसे उन लोगों ने जला दिया.उनका कहना है कि हालात ठीक हो जाएंगे तो हम वापिस जा सकते हैं.कुलदीप बताते हैं कि पांच साल पहले मै कश्मीर गया था.मै अपने पुराने घर के पास घंटों बैठा रहा. जहां उन्होंने अपने यार दोस्तों के साथ बचपन बिताया था.अब तो अंतिम सांस अपने घर पर लूं ये बहुत अच्छा रहता.

कश्मीर सबकुछ कैसे बर्दाश्त करले
ग्रेटर नोएडा स्थित शारदा यूनिवर्सिटी के छात्र उमर बताते हैं कि जम्मू कश्मीर में लोग सब शांति से रहना चाहते हैं, ऐसे में सरकार का यह कदम सराहनीय है. लेकिन इस कदम से वहां रह रहे लोगों को कोई समस्या ना हो सरकार को यह देखना चाहिए. जब कश्मीरी पंडितों ने कश्मीर छोड़ा था तो कई लोगों ने उनकी जमीन खरीदी थी, भले ही वो सस्ती जमीन हो लेकिन खरीदी थी. किसी से छीना नहीं था. अब जब वह जमीन हमसे ली जाएगी तो हमारे साथ अन्याय होगा कैसे ये कोई बर्दाश्त करले?
क्या हमारी सुरक्षा की गारंटी है!
नोएडा में 1989 में आए अनिल धर नोएडा में कश्मीरी पारंपरिक चीजों की दुकान चलाते हैं वो बताते हैं कि सरकार का कदम तो बढ़िया है.लेकिन क्या हमारी जान की कोई गारंटी है? हमें तो यह पहले जानना है कि हमें वहां से निकाला क्यों? हमारी क्या गलती थी? हमारे साथ जिसने गलत किया उन्हे कोई सजा भी नहीं मिली.

सरकार बदल जाए तो क्या होगा?
क्रिस्टी खासु दसवी क्लास में थे जब वो कश्मीर से नोएडा आ गए थे. वो बताते है हमारी जड़ें तो वहीं है, लेकिन डर है कि अगर सरकार बदल जाए तो क्या होगा? वैसे रूल्स बन जाए तो मानना लोगों को पड़ता है.लेकिन उस वक्त भी तो लोकतांत्रिक सरकार थी फिर भी हमें भागना पड़ा था. तो अगर बीजेपी (Bjp) हटती है तो फिर क्या रवैया होगा नई सरकार का? राजनीति में हमारी बलि न चढ़ जाए.

लोग सब शांति चाहते हैं.
21 वर्षीय फारुख अब्दुल्ला शारदा यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करते है और यही हॉस्टल में रहते हैं. वो बताते हैं कि कश्मीर में लोग सब शांति से रहना चाहते हैं. शांति से ही विकास होगा और विकास होगा तो लोग सरकार का साथ देंगे. लेकिन जिस तरह से सरकार कर रही है बेशक वो कश्मीरी पंडितों के लिए सही कदम है.लेकिन जो लोग पहले से ही वहां रह रहे हैं उनकी भावनाओं को भी समझना होगा. पता नहीं है सरकार कैसे जमीन का लेनदेन करेंगी कई लोगों के पास तो अब जमीन से जुड़े पेपर तक नहीं है. ऐसे में कैसे जमीन का निपटारा किया जाएगा पता नहीं. जिसने भी जमीन खरीदी थी सबने वहां करोड़ों रुपए खर्च कर घर बना लिया है, क्या उनकी जमीन छीनी जाएगी इसका पता तो बाद में ही चलेगा.
(रिपोर्ट -आदित्य कुमार)

Noida Kidnapping: मामला निकला झूठा, युवती अपनी मर्जी से पुरुष मित्र के साथ गई थी.

अपहरण कांड के मामले में जानकारी देती डीसीपी वृंदा शुक्ला.

डीसीपी महिला सुरक्षा वृंदा शुक्ला ने शुक्रवार को बताया कि युवती के परिजनों ने नाबालिग बच्चों से किडनैप वाली बात झूठ.

SHARE THIS:

1. जिला गौतमबुद्ध नगर के बादलपुर थाना क्षेत्र में गुरुवार को एक 20 वर्षीय युवती का अपहरण का मामला झूठा निकला. युवती अपनी मर्जी से अपने पुरुष मित्र के साथ गई थी.पुलिस ने शुक्रवार को युवक और युवती को उत्तर प्रदेश के गोंडा से बरामद कर लिया है. डीसीपी महिला सुरक्षा वृंदा शुक्ला ने शुक्रवार को बताया कि युवती के परिजनों ने नाबालिग बच्चों से किडनैप वाली बात झूठ बुलवाया था, सड़क भी की थी. इस शुक्रवार को युवक और युवती को गोंडा से नोएडा पुलिस ने बरामद किया.तो वहीं अब पुलिस युवती के परिजनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करेगी.

2. सेक्टर 62 के डी पार्क के पास शनिवार की सुबह महिलाओं के लिए स्वास्थ्य चेकअप कैंप लगाया जाएगा. इस मौके पर उत्तर प्रदेश महिला आयोग की अध्यक्ष बिमला बाथम भी मौजूद रहेंगी. जिला सूचना अधिकारी राकेश कुमार चौहान ने शुक्रवार को बताया कि सेक्टर 62 में सुबह से शाम तक मुफ्त चेकअप कैंप लगाया जाएगा, जिले की महिलाएं उसमे हिस्सा ले सकती है.

3. नोएडा में पिछले दो दिन से लगातार बारिश हो रही है जिस कारण कई सेक्टरों में बिजली की आपूर्ति ठीक से नहीं हो पा रही है. पिछले दो दिन से सेक्टर 73,62,61,52 इत्यादि में बिजली सप्लाई नहीं हो रही है, जिस कारण सेक्टर के लोग अंधेरे में रहने को मजबूर है. बिजली विभाग के अधिकारियों का कहना है कि बारिश के कारण कही कही फॉल्ट हुई है जिस कारण यह समस्या है, इसे जल्द ठीक कर लिया जाएगा.

(रिपोर्ट – आदित्य कुमार)

NOIDA news bulletin : प्रेमी जोड़े से पैसे ऐंठने वाले तीन पुलिस कर्मी को कमिश्नर आलोक सिंह ने किया सस्पेंड

Police commissioner Alok singh.

प्रेमी जोड़े oyo होटल में रुके थे, पैसे की लेनदेन करते वीडियो हुआ था वायरल. Pm modi के जन्मदिन में युवा कांग्रेस ने सब्जी क्यों बेची? देखिये.

SHARE THIS:

1. ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर थाना क्षेत्र में तिलपता गोल चक्कर के पास शनिवार को एक बस पलट गई, जिसमें एक युवती की मौत हो गई वही चार महिला घायल हो गई, घायलों को नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया है. डीसीपी ग्रेटर नोएडा अभिषेक ने बताया कि शनिवार की सुबह एक बस  यूपी T 4198 बस 25-30 महिलाओं को किसी कंपनी में ले जा रही थी, को की सड़क किनारे डिवाइडर से टकरा गई. टक्कर में एक युवती की मौत हो गई वही चार घायल हो गए हैं.

2. ग्रेटर नोएडा के पुलिस चौकी परी चौक के तीन कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया गया है. तीनों कांस्टेबल का बीते दिनों एक वीडियो वायरल हुआ था.जिसमे वो किसी से पैसे का लेनदेन कर रहे थे. गौतमबुद्ध नगर पुलिस विभाग के मीडिया प्रभारी ने शनिवार को बताया कि एक थाना बीटा 2 की परी पुलिस चौकी की एक वीडियो वायरल हुई थी.जांच में इस चौकी पर तैनात हेड कांस्टेबल राजेंद्र सिंह,कांस्टेबल सचिन बालियान एवं अंकित कुमार दोषी पाए गए थे. जिसके बाद तीनों को सस्पेंड कर दिया गया है, तीनों Oyo होटल में ठहरे एक प्रेमी जोड़े से पैसे ले रहे थे.

3. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 71 वे जन्मदिन पर सबने अपने तरीके से शुभकामनाएं दी, लेकिन जिला गौतमबुद्ध नगर के कांग्रेस इकाई ने उन्हें सब्जी बेचकर जन्मदिन की बधाई दी, युवा कांग्रेस के जिला अध्यक्ष पुरुषोत्तम नागर ने बताया कि लोग महंगाई से परेशान हैं, बेरोजगारी छाई हुई है इसीलिए सब्जी बेचकर कर हमने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन मनाया है, इसे हमने बेरोजगार दिवस के रूप में देखते है.
(रिपोर्ट – आदित्य कुमार)

Noida: मात्र पांच रुपए में Dadi ki rasoi भूखों को देती है स्वादिष्ट भोजन

दादी की रसोई में लोगों को खाना परोसते हुए अनूप खन्ना

अनूप खन्ना बताते हैं कि मुझे लगता है किसी को मुफ्त में कुछ नहीं देना चाहिए नहीं तो उसका स्वाभिमान खत्म हो जाता है.

SHARE THIS:

नोएडा: राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में आपको अगर भूख लगती है तो आप भरपेट खाना कितने रुपए में खा पाएंगे? 200, 100 या 50 रुपए में? लेकिन आपको जानकर आश्चर्य होगा कि नोएडा में मात्र पांच रुपए में भरपेट खाना आपको मिल सकता है. नोएडा के सेक्टर 29 स्थित गंगा शॉपिंग कॉम्प्लेक्स में दादी की रसोई (dadi ki rasoi) मात्र पांच रुपए में भूखों को स्वादिष्ट और भरपेट खाना खिलाती है. दादी की रसोई के संचालक अनूप खन्ना (Anoop khanna) पिछले 6 सालों से लगातार रसोई चला कर गरीबों को निवाला उपलब्ध करा रहें हैं.

मां की थी इच्छा खाना लोगों को खिलाया जाए
अनूप खन्ना बताते हैं कि वर्ष 2015 में मेरी माता जी बीमार थी, उन्होंने खाना पीना छोड़ दिया था.मां ने कहा कि मैं खाना खा नहीं रही हूं मेरे बदले किसी गरीब को खिला दो. इसी के बाद सबसे पहले 21 अगस्त 2015 अपने जन्मदिन के दिन से दादी की रसोई की शुरुआत की थी और आज तक चलाते आ रहे हैं. उन्होंने बताया कि सबसे पहले जब शुरू किया था तो चावल दाल ही सिर्फ खिलाता था लेकिन धीरे धीरे लोग जुड़ते गए और अब तो फ्रूटी और मौसमी फल सब्जी भी खाने में होता है वो भी मात्र पांच रुपए में.

अमीर गरीब सबके लिए पांच रुपए हाथ में रखना जरूरी
अनूप खन्ना बताते हैं कि दादी की रसोई में जो भी व्यक्ति खाना चाहता है उसे लाइन में लगना ही पड़ता है और उसके हाथ में पांच रुपए पहले से ही होते हैं नहीं तो उन्हे खाना नहीं देते क्योंकि पीछे खड़े व्यक्ति का समय भी जरूरी है.  वो बताते हैं कि यहां की लाइन ऐसी होती है जिसमे मालिक और नौकर दोनो आगे पीछे ही खड़े होते हैं कोई भी व्यक्ति खास या आम नहीं होता है.

पांच रुपए दाम इसलिये ताकि आत्म-सम्मान बना रहे
पांच रुपए का खाना क्यों? मुफ्त में क्यों नहीं इस बात पर अनूप खन्ना बताते हैं कि मुझे लगता है किसी को मुफ्त में कुछ नहीं देना चाहिए नहीं तो उसका स्वाभिमान खत्म हो जाता है. उसी स्वाभिमान को बचाने के लिए मिनिमम पांच रुपए रखे गए है. कोई आदमी खाने आता है तो वो हक के साथ दुबारा खाना मांगता है क्योंकि पांच रुपए उसने दिए है.

(रिपोर्ट-आदित्य कुमार)

NOIDA: सम्राट मिहिरभोज की जाति पर विवाद क्यों, देखिए इस बुलेटिन में.

Noida gate.

अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष महेंद्र सिंह तंवर ने बताया कि मिहिरभोज राजपूत समाज से ताल्लुक रखते थे.

SHARE THIS:

1. Noida के झुग्गियों में रहने वालें हजारों लोगों को noida authority जल्द ही अपना घर देने वाली है. अथॉरिटी की सीईओ रितु माहेश्वरी ने शनिवार को बताया कि सेक्टर 4,5,6,7,8,9 में झुग्गियों में रहने वाले लोगों को सेक्टर 122 में फ्लैट दिया जाएगा. अगले हफ्ते से सबको वहां शिफ्ट करना शुरू कर दिया जाएगा.

2. गुरु गोविंद सिंह के जन्म दिवस के मौके पर गुरु गोविंद सिंह राष्ट्रीय एकता पुरस्कार दिया जाएगा.इसके लिए जिले के लोग 22 सितम्बर तक आवेदन कर सकते हैं. जिला सूचना अधिकारी राकेश कुमार चौहान ने बताया कि आगामी पांच जनवरी को यह अवॉर्ड दिया जाना है.जिसमे एक लाख रुपए नकद का प्रावधान है. आवेदक भारत का निवासी होना चाहिए, मानवाधिकार,सामाजिक न्याय,  और राष्ट्रीय एकीकरण के लिए काम करने वाले को यह अवॉर्ड दिया जाना है.

3. आगामी 22 सितंबर को ग्रेटर नोएडा के दादरी में सम्राट मिहिर भोज प्रतिहार महाविद्यालय में सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा का अनावरण करने Cm Yogi Adityanath आने वाले है, इस से पहले सम्राट मिहिर भोज के नाम पर नया विवाद शुरू हो गया है.अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा ने मिहिरभोज को गुज्जर कहने से आपत्ति जताई है. अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष महेंद्र सिंह तंवर ने बताया कि मिहिरभोज राजपूत समाज से ताल्लुक रखते थे.जबकि क्षत्रिय समाज के साथ छेड़छाड़ हमे पसंद नहीं है. मिहिरभोज राजपूत समाज से ताल्लुक रखते थे गुज्जर से नहीं.
(रिपोर्ट – आदित्य कुमार)

नोएडा: गोवर्धन परिक्रमा कर घर लौट रहे परिवार को स्कॉर्पियो ने रौंदा, मां- बेटी की मौत, पिता घायल

घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने तीनों घायलों को नोएडा के सेक्टर-27 स्थित कैलाश अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया.  (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

अपर पुलिस उपायुक्त (जोन प्रथम) रणविजय सिंह ने बताया कि मूल रूप से आगरा के रहने वाले रामकरण शर्मा (46 वर्ष) नोएडा के सलारपुर (Salarpur) की एक सोसाइटी में परिवार के साथ रहते हैं. रविवार देर रात मथुरा के गोवर्धन से परिक्रमा कर वह घर लौटे रहे थे.

SHARE THIS:

नोएडा. नोएडा (Noida) के थाना सेक्टर-39 क्षेत्र में एक भीषण सड़क हादसा (Road Accident) हुआ है. इस हादसे में एक ही परिवार के दो लोगों की मौत हो गई है. वहीं, सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों के कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. जानकारी के मुताबिक, घटना सेक्टर 37 के दादरी रोड (Dadri Road) स्थित फ्लाईओवर के नीचे की है. कहा जा रहा है कि रविवार देर रात ऑटो रिक्शा का इंतजार कर रहे एक परिवार के तीन लोगों को एक वाहन ने टक्कर मार दी. इस घटना में मां-बेटी की मौत हो गई है. यह परिवार मथुरा से गोवर्धन परिक्रमा करके नोएडा स्थित घर पर लौट रहा था.

अपर पुलिस उपायुक्त (जोन प्रथम) रणविजय सिंह ने बताया कि मूल रूप से आगरा के रहने वाले रामकरण शर्मा (46 वर्ष) नोएडा के सलारपुर की एक सोसाइटी में परिवार के साथ रहते हैं. रविवार देर रात मथुरा के गोवर्धन से परिक्रमा कर वह घर लौटे रहे थे और देर रात करीब दो बजे सलारपुर स्थित घर जाने के लिए सेक्टर 37 फ्लाईओवर के नीचे खड़े होकर ऑटो रिक्शा का इंतजार कर रहे थे. इस दौरान तेज रफ्तार से आ रही स्कॉर्पियो कार के चालक ने सड़क किनारे खड़े रामकरण शर्मा, उनकी पत्नी नीरज शर्मा और बेटी अंजली शर्मा को कुचल दिया.

शवों का पंचायतनामा भर कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है
घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने तीनों घायलों को नोएडा के सेक्टर-27 स्थित कैलाश अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया जहां डॉक्टरों ने नीरज शर्मा (40 वर्ष) और उनकी बेटी अंजली शर्मा (19 वर्ष) को मृत घोषित कर दिया जबकि रामकरण शर्मा के हाथ में गंभीर चोट आई है. उन्होंने बताया कि स्कॉर्पियो कार का नंबर मौके पर मौजूद लोगों ने नोट कर लिया है, जिसके आधार पर कार चालक की तलाश की जा रही है. जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा. शवों का पंचायतनामा भर कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.

Noida News: नोएडा में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़, गाजियाबाद का शातिर मोबाइल स्नेचर अरेस्‍ट

बदमाश सुभाष नेगी पर गैंगस्टर एक्ट के तहत भी कार्रवाई हुई है.

Noida police Encounter: नोएडा पुलिस ने मुठभेड़ के बाद एक बदमाश को गिरफ्तार कर लिया है, जो कि पैर में गोली लगने से घायल हो गया था. जबकि दूसरा फरार हो गया है. पुलिस के हत्‍थे चढ़े बदमाश पर लूट के करीब 16 मामले दर्ज हैं और उस पर गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई हुई है.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 20, 2021, 15:09 IST
SHARE THIS:

नोएडा. राजधानी दिल्‍ली से सटे उत्‍तर प्रदेश के नोएडा के थाना सेक्टर-24 में पुलिस (Noida Police) और बदमाशों के बीच सोमवार सुबह सेक्टर 33 के एआरटीओ ऑफिस के पास मुठभेड़ (Encounter) हो गई. इस दौरान पुलिस द्वारा चलाई गई गोली एक बदमाश के पैर में लगी है और वह जमीन पर गिर पड़ा. पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है. हालांकि घायल बदमाश को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जबकि उसका दूसरा साथी मौके से फरार हो गया है.

नोएडा के अपर पुलिस उपायुक्त (जोन प्रथम) रणविजय सिंह ने बताया कि एआरटीओ ऑफिस के पास स्थित इस्कॉन मंदिर के पीछे सोमवार सुबह गश्त के दौरान पुलिस ने स्कूटी सवार दो युवकों को रोकने की कोशिश की, लेकिन वे रूकने के बजाए पुलिस पर गोली चला कर भागने लगे. उन्होंने बताया कि जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने भी गोली चलाई और एक बदमाश के पैर में गोली लग गई. जबकि दूसरा फरार हो गया.

बदमाश पर हुई गैंगस्टर एक्ट के तहत भी कार्रवाई
एडीसीपी ने बताया कि घायल बदमाश की पहचान सुभाष नेगी निवासी गाजियाबाद के रूप में हुई है. जबकि फरार बदमाश की पहचान अरविंद निवासी कोंडली, दिल्ली के रूप में हुई है. उन्‍होंने बताया कि नेगी पर लूट के करीब 16 मामले दर्ज हैं और उस पर गैंगस्टर एक्ट के तहत भी कार्रवाई हुई है. एडीसीपी  रणविजय सिंह के मुताबिक, बदमाश के पास से लूटे हुए तीन मोबाइल फोन, देसी तमंचा, कारतूस व घटना में प्रयुक्त स्कूटी बरामद हुई है.

Explainer : DDA की लैंड-पूलिंग पॉलिसी से बदलेगी दिल्ली की किस्‍मत, रोहिणी समेत इन इलाकों को होगा बड़ा फायदा

नोएडा पुलिस के मुताबिक, बदमाश सुभाष नेगी और अरविंद की उसे काफी समय से तलाश थी. हालांकि मुठभेड़ में उसे सिर्फ नेगी हाथ लगा है. वहीं, पुलिस ने दावा किया है कि जल्‍दी दूसरे बदमाश को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

नोएडा पुलिस ने गांजा तस्करों को किया गिरफ्तार, 37 KG से अधिक नशीला पदार्थ बरामद

न्होंने बताया कि तस्करों के पास से पुलिस ने करीब 37 किलो 600 ग्राम गांजा (Hemp) बरामद किया है, जिसकी कीमत लगभग 25 लाख रुपए आंकी गयी है. (सांकेतिक फोटो)

एसटीएफ के अधीक्षक (पश्चिमी उप्र) कुलदीप नारायण (Kuldeep Narayan) ने बताया कि एक सूचना के आधार पर एसटीएफ तथा थाना ईकोटेक -3 पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए दो गांजा तस्करों को गिरफ्तार किया है. उन्होंने बताया कि उनकी पहचान शहजाद तथा सोनू के रूप में की गयी है.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 19, 2021, 18:15 IST
SHARE THIS:

नोएडा. उत्तर प्रदेश विशेष कार्य बल (STF) तथा थाना ईकोटेक- 3 पुलिस ने एक संयुक्त कार्यवाई के तहत आंध्र प्रदेश से तस्करी के सहारे गांजा लाकर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में बेचने वाले दो तस्करों (Smugglers) को गिरफ्तार किया. एसटीएफ ने इसकी जानकारी दी . उन्होंने बताया कि तस्करों के पास से पुलिस ने करीब 37 किलो 600 ग्राम गांजा (Hemp) बरामद किया है, जिसकी कीमत लगभग 25 लाख रुपए आंकी गयी है.

एसटीएफ के अधीक्षक (पश्चिमी उप्र) कुलदीप नारायण ने बताया कि एक सूचना के आधार पर एसटीएफ तथा थाना ईकोटेक -3 पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए दो गांजा तस्करों को गिरफ्तार किया है. उन्होंने बताया कि उनकी पहचान शहजाद तथा सोनू के रूप में की गयी है. दोनों क्रमश: गाजियाबाद और बुलंदशहर जनपद के रहने वाले हैं. उन्होंने बताया कि इनका एक साथी इरफान उर्फ नेता मौके से भाग गया. नारायण ने बताया कि इनके पास से 37 किलो 600 ग्राम गांजा बरामद हुआ है, जिसकी कीमत करीब 25 लाख रुपए है.

थाना फेस- 3 पुलिस ने आज गिरफ्तार किया है
अधिकारी ने बताया कि फरार बदमाश इरफान पर मध्यप्रदेश के जनपद आगर में पांच हजार रुपए का इनाम घोषित है. इस बीच, दादरी पुलिस ने दो अन्य लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनकी पहचान बबलू उर्फ उस्मान तथा माजिद के रूप में की गयी है. उनके पास से पुलिस ने 922 नशीले गोलियां बरामद की है. नोएडा के सेक्टर 39 थाना पुलिस ने एक महिला के साथ लूट का प्रयास कर रहे दो शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया है. दूसरी ओर एक युवती के पर चाकू से हमला कर उसे गंभीर रूप से घायल करने वाले युवक को थाना फेस- 3 पुलिस ने आज गिरफ्तार किया है.

स्कूटी को भी जब्त किया गया था
बता दें कि पिछले हफ्ते  दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने अंतरराष्ट्रीय नशा तस्करी रैकेट का पर्दाफाश करते हुए एक नाइजीरियाई समेत दो तस्करों को गिरफ्तार किया था. दोनों आरोपियों से गहन पूछताछ कर तस्करी रैकेट से जुड़े तार खंगाले जा रहे हैं. आरोपियों से 16.6 किलो नशीला पदार्थ बरामद किया गया था, जिसकी अंतराराष्ट्रीय बाजार में कीमत करीब 30 करोड़ रुपये है. आरोपियों के कब्जे से एक कार और स्कूटी को भी जब्त किया गया था.

(इनपुट- भाषा)

नोएडा: अपहरण मामले में आया नया मोड़, खुद की मर्जी से प्रेमी के घर गई थी युवती

सिंह ने बताया कि युवती ने अदालत में बताया है कि उसे और अनिमेष को उसके परिवार वालों से जान को खतरा है. (सांकेतिक फोटो)

पुलिस आयुक्त आलोक सिंह (Police Commissioner Alok Singh) ने बताया कि युवती ने अदालत को बताया कि वह अपनी मर्जी से गोंडा में रहने वाले अपने प्रेमी अनिमेष तिवारी के घर गई थी.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 19, 2021, 16:07 IST
SHARE THIS:

नोएडा. गौतमबुद्ध नगर (Gautam Buddha Nagar) जिले के बादलपुर थाना क्षेत्र स्थित झाल गांव (Jhal Village) से कथित रूप से युवती के अगवा होने के मामले में नया मोड़ आ गया है. युवती ने शनिवार को जिला न्यायालय में महिला न्यायाधीश के समक्ष दर्ज बयान में कहा कि वह स्वेच्छा से अपने प्रेमी के घर गई थी और परिवार ने अपहरण की झूठी शिकायत दर्ज कराई थी. पुलिस आयुक्त आलोक सिंह (Police Commissioner Alok Singh) ने बताया कि युवती ने अदालत को बताया कि वह अपनी मर्जी से गोंडा में रहने वाले अपने प्रेमी अनिमेष तिवारी के घर गई थी. उन्होंने बताया कि युवती ने कहा कि वह अनिमेष से शादी करना चाहती है, जिसका विरोध उसके घर वाले कर रहे हैं.

सिंह ने बताया कि युवती ने अदालत में बताया है कि उसे और अनिमेष को उसके परिवार वालों से जान को खतरा है. उन्होंने बताया कि अदालत ने पुलिस को अपनी सुरक्षा में युवती को गोंडा पहुंचाने का निर्देश दिया है. गौरतलब है कि बादलपुर क्षेत्र के गांव सादोपुर की झाल में रहने वाली एक 20 वर्षीय युवती बुधवार से घर से लापता थी. उसके परिजनों ने बृहस्पतिवार को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई कि उनकी बेटी जब सुबह टहलने गई थी तब कथित तौर पर कार सवार बदमाशों से उसका अपहरण कर लिया. परिजनों ने कथित अपहरण के विरोध में सड़क जाम कर दी थी और थाने का घेराव किया था. पुलिस ने कार्रवाई करते हुए शुक्रवार को युवती को गोंडा से बरामद किया था और गोंडा की अदालत से ट्रांजिट रिमांड लेकर शनिवार को उसे गौतमबुद्ध नगर की अदालत में पेश किया.

क्या थी झूठी कहानी?
ग्रेटर नोएडा के बादलपुर थाना क्षेत्र में गुरुवार को सुबह 5 बजे मॉर्निंग वॉक पर निकली छात्रा के अपहरण की बात सामने आई थी. अपहरणकर्ता छात्रा को कार में बैठा कर फरार हो गए. शुरू में परिवार द्वारा बताया गया कि अपहरणकर्ता छात्रा अपनी एक बहन और दो भाइयों के साथ मॉर्निंग पर निकली थी, लेकिन वापस नहीं पहुंची. शुरुआत से ही पुलिस को भ्रमित किया गया. पुलिस भी प्रेशर में आकर जांच अपहरण की दिशा में जांच करने लगी, लेकिन पूछताछ में मामला स्पष्ट नहीं होने पर पुलिस अन्य एंगल पर भी जांच कर रही थी. जिसके लिए डीसीपी ने 5 टीमें भी गठित की थीं. परिवार ने पुलिस पर जबरन प्रेशर बनाने के लिए जीटी रोड पर जाम लगाने के साथ थाने का घेराव भी किया था. हालांकि अपहरण शुरू से संदेह के घेरे में था, क्योंकि जब युवती स्‍वाति के परिवार से पुलिस ने पूछताछ की तो कोई भी सदस्य स्पष्ट जवाब नहीं दे पाया था. इसके अलावा पुलिस के मुताबिक, सुबह 4.30 बजे कंट्रोल रूम को इस मामले की जानकारी दी गयी थी. जबकि पीड़ित परिजनों ने कहा था कि अपहरण सुबह 6 बजे के आसपास हुआ है.

(इनपुट- भाषा)

पति ने अवैध संबंधों के शक में पत्‍नी को दी दर्दनाक मौत, 5 महीने पहले की थी लव मैरिज

पुलिस ने कुछ दिन में ही हत्‍या की गुत्‍थी सुलझा दी है.

UP Crime News: गाजियाबाद पुलिस (Ghaziabad Police) ने नोएडा फेज-3 थाना क्षेत्र के छजारसी गांव के रहने वाले एक शख्स को पत्‍नी की हत्‍या के मामले में गिरफ्तार किया है. जबकि उसका मददगार साथी अभी फरार है. पुलिस के मुताबिक, आरोपी ने पांच महीने पहले ही शादी की थी, लेकिन अवैध संबंधों के शक में उसने अपनी पत्‍नी की हत्‍या (Murder) कर दी.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 19, 2021, 14:58 IST
SHARE THIS:

गाजियाबाद. उत्तर प्रदेश की गाजियाबाद पुलिस (Ghaziabad Police) ने नोएडा के एक निवासी को कथित रूप से विवाहेतर संबंध (Extramarital Affairs) में अपनी पत्नी की हत्या करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. शख्स ने अपनी पत्नी की गला दबाकर हत्या (Murder) कर दी और शव को गाजियाबाद के इंदिरापुरम थाना क्षेत्र में फेंक दिया था. यही नहीं, वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी और उसका मददगार फरार हो गया था.

पुलिस के मुताबिक, आरोपी लालता प्रसाद ने अपने एक सहयोगी के साथ मिलकर अपनी पत्नी की हत्या की साजिश रची और दुपट्टे से उसकी गला दबाकर हत्या कर दी. आरोपी नोएडा फेज-3 थाना क्षेत्र के छजारसी गांव का रहना वाला है.

पांच महीने पहले शादी और अब हत्‍या
आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसने पांच महीने पहले कन्नौज के एक मंदिर में महिला से शादी की थी. यह दोनों की लव मैरिज थी. पुलिस के मुताबिक, शादी के बाद उसे पता चला कि वह पहले से ही शादीशुदा थी और उसका एक चार साल का बच्चा भी है. यही नहीं, जब उसे अपनी पत्‍नी के अवैध संबंधों को लेकर शक हुआ तो उसने उसे ठिकाने लगाने की प्‍लानिंग कर डाली. जबकि चालक लालता पीड़िता को रोजाना सब्जी खरीदने के लिए गाजीपुर बाजार लाता था.

शराब लाइसेंस की नीलामी में दिल्‍ली सरकार की बल्‍ले-बल्‍ले, एयरपोर्ट जोन में हुई पैसों की तगड़ी बारिश

बुधवार को आरोपी कथित तौर पर उसे अपने रिश्तेदार दीपांशु के साथ नोएडा फेज 2 की ओर ले गया. पुलिस ने कहा कि दोनों ने उसकी गला दबाकर हत्या कर दी और उसके शव को कानवानी इलाके में छोड़ दिया. पुलिस ने बताया कि दीपांशु फरार चल रहा है.आरोपी ने अपनी पत्‍नी की हत्‍या 15 सितंबर को की थी. जबकि 16 सितंबर को महिला के शव की पहचान रंजीता के रूप हो गई थी.आरोपी को पुलिस ने जेल भेज दिया है.

नोएडा : छात्रा के फर्जी अपहरण मामले में नया मोड़, कोर्ट में युवती बोली- परिजनों से मेरी जान को खतरा, प्रेमी के साथ रहूंगी

कोर्ट ने पुलिस को युवती को उसके प्रेमी के साथ गोंड़ा पहुंचाने का आदेश दिया है.

UP Crime News: उत्‍तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में गुरुवार को 20 साल की छात्रा के अपहरण (Kidnapping) से हड़कंप मच गया था, लेकिन पुलिस (Greater Noida Police)ने 24 घंटे के अंदर युवती को गोंडा से बरामद कर लिया. यही नहीं, जब पुलिस को मामले की हकीकत पता चली तो उसे होश उड़ गए, क्‍योंकि इज्जत बचाने के लिए परिवार ने झूठी कहानी रची थी. वहीं, शनिवार को कोर्ट ने छात्रा को उसके प्रेमी के साथ भेजने का ओदश दिया है.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 19, 2021, 10:35 IST
SHARE THIS:

ग्रेटर नोएडा. उत्‍तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा के बादलपुर थाना क्षेत्र में गुरुवार को मॉर्निंग वॉक (Morning Walk) पर निकली 20 साल की छात्रा के अपहरण (Kidnapping) की कहानी फर्जी (Fake) निकली है, तो शनिवार को इस मामले में नया मोड़ आ गया. इस मामले में ग्रेटर नोएडा पुलिस ने फर्जी एफआईआर दर्ज करा पुलिस को गुमराह करने का मामला दर्ज किया है, तो वहीं युवती को कोर्ट में पेश किया गया. सुनवाई के बाद कोर्ट ने बालिग युवती को उसके प्रेमी के संरक्षण में गोंडा भेज दिया है, क्‍योंकि युवती ने अपने परिवार के साथ रहने इनकार कर दिया है.

कोर्ट में 164 सीआरपीसी के बयान के दौरान ज्‍योति ने कहा कि उसे अपने परिजनों से जान का खतरा है और वह अपने प्रेमी के साथ रहना चाहती है. इसके बाद कोर्ट ने कोतवाली बादलपुर पुलिस को आदेश दिया कि वह युवती को उसके प्रेमी अनिमेष तिवारी के साथ सकुशल उसके घर गोंडा पहुंचा कर आए. जानकारी के मुताबिक, छात्रा पर घर वाले प्रेम प्रसंग की वजह से काफी दबाव डालते थे, इसलिए उसने अपने प्रेमी के साथ फरार होने का प्‍लान तैयार किया था.

जानें क्‍या था मामला
ग्रेटर नोएडा के बादलपुर थाना क्षेत्र में गुरुवार को सुबह 5 बजे मॉर्निंग वॉक पर निकली छात्रा के अपहरण की बात सामने आई थी. अपहरणकर्ता छात्रा को कार में बैठा कर फरार हो गए. शुरू में परिवार द्वारा बताया गया कि अपहरणकर्ता छात्रा अपनी एक बहन और दो भाइयों के साथ मॉर्निंग पर निकली थी, लेकिन वापस नहीं पहुंची. शुरुआत से ही पुलिस को भ्रमित किया गया. पुलिस भी प्रेशर में आकर जांच अपहरण की दिशा में जांच करने लगी, लेकिन पूछताछ में मामला स्पष्ट नहीं होने पर पुलिस अन्य एंगल पर भी जांच कर रही थी. जिसके लिए डीसीपी ने 5 टीमें भी गठित की थीं. परिवार ने पुलिस पर जबरन प्रेशर बनाने के लिए जीटी रोड पर जाम लगाने के साथ थाने का घेराव भी किया था. हालांकि अपहरण शुरू से संदेह के घेरे में था, क्योंकि जब युवती स्‍वाति के परिवार से पुलिस ने पूछताछ की तो कोई भी सदस्य स्पष्ट जवाब नहीं दे पाया था. इसके अलावा पुलिस के मुताबिक, सुबह 4.30 बजे कंट्रोल रूम को इस मामले की जानकारी दी गयी थी. जबकि पीड़ित परिजनों ने कहा था कि अपहरण सुबह 6 बजे के आसपास हुआ है.

OMG! फर्जी निकला 20 साल की छात्रा का अपहरण, इज्जत बचाने के लिए परिवार ने रची कहानी, युवती प्रेमी संग हुई थी फरार

24 घंटे में मामला खोलने पर मिला इनाम
पुलिस ने इस मामले को 24 घंटे के भीतर खोल दिया है. हालांकि इस मामले के खुलासे के बाद पुलिस हैरान रह गई, क्‍योंकि परिवार के द्वारा झूठी कहानी बनाई गई ताकि समाज में इज्जत बनी रहे. यही नहीं, इस घटना को सही साबित करने के लिए जीटी रोड पर जाम लगाने के बाद थाने का भी घेराव किया गया था, लेकिन मामले का खुलासा होने से परिवार बेनकाब हो गया है. जबकि इस मामले में लड़की की दिल्‍ली पुलिस में कार्यरत चाचा ने भी झूठी कहानी बनाने में अहम भूमिका निभाई थी. वैसे उत्तर प्रदेश के गृह विभाग ने गौतमबुद्ध नगर पुलिस कमिश्नरेट को घटना का जल्‍दी खुलासा करने के लिए 1 लाख रुपये का इनाम भी दिया है.

ग्रेटर नोएडा में मिहिर भोज की प्रतिमा अनावरण से पहले बवाल, जानें क्यों नाराज है गुर्जर समाज

ग्रेटर नोएडा में गुर्जर समाज के लोगों ने पोस्टर फाड़ डाले.

viral video : गुर्जर समाज के कुछ लोग इस बात से नाराज हैं कि मिहिर भोज के नाम के आगे गुर्जर सम्राट मिहिर भोज क्यों नहीं लिखा गया. स्थिति इतनी बिगड़ गई कि शनिवार को गुर्जर समाज के कुछ लोगों ने इस आयोजन के लिए लगे पोस्टर फाड़े डाले.

SHARE THIS:

नोएडा. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 21 सितंबर और 22 सितंबर को ग्रेटर नोएडा में रहेंगे. 22 सितंबर को वे मिहिर भोज की मूर्ति का अनावरण करेंगे, लेकिन अनावरण से पहले ही ग्रेटर नोएडा में राजनीति तेज हो गई है. जहां एक तरफ गुर्जर समाज मिहिर भोज को अपना बता रहा है, वहीं दूसरी तरफ राजपूत समाज भी मिहिर भोज को अपना वंशज बताने में जुट गया है.

अनावरण समारोह के लिए ग्रेटर नोएडा के दादरी विधानसभा क्षेत्र में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पोस्टर लगाए गए थे. ये पोस्टर दादरी विधायक तेजपाल नागर ने पूरी विधानसभा में लगवाए हैं. लेकिन गुर्जर समाज के कुछ लोग इस बात से नाराज हैं कि मिहिर भोज के नाम के आगे गुर्जर सम्राट मिहिर भोज क्यों नहीं लिखा गया. स्थिति इतनी बिगड़ गई कि शनिवार को गुर्जर समाज के कुछ लोगों ने मुख्यमंत्री के पोस्टर फाड़े डाले. गुर्जर समाज से जुड़े कुछ लोगों ने वीडियो मेसेज जारी करते हुए इस मुद्दे पर नाराजगी भी जताई और कहा कि पोस्टर में कहीं भी मिहिर भोज के नाम के आगे गुर्जर नहीं लिखा गया है. ऐसे में वे इसका विरोध करते हैं और पोस्टर फाड़ने के वीडियो जारी किए गए. जिसके बाद से दादरी विधानसभा में माहौल गर्म हो चला है. हालांकि अभी पुलिस इस पूरे मामले पर कुछ भी बोलने से बच रही है.

22 मिहिर भोज पीजी कॉलेज में सीएम का कार्यक्रम

22 सितंबर को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 10 बजे मिहिर भोज पीजी कॉलेज पहुंचेंगे और वहां पर 12 फीट ऊंची मिहिर भोज की विशालकाय मूर्ति का अनावरण करेंगे. इस मूर्ति को प्रसिद्ध मूर्तिकार राम सुतार ने बनाया है. गुर्जर समाज सम्राट मिहिर भोज को अपना महाराजा बताते हैं और ऐसे में जब गुर्जर समाज के ही कुछ लोगों ने इस चीज का विरोध करना शुरू किया तो सभी ने चुप्पी साध रखी है.

पुलिस को कार्रवाई का आदेश

मामला संज्ञान में आने के बाद उच्च अधिकारियों ने वायरल हुए वीडियो का संज्ञान लेते हुए दादरी एसएचओ प्रदीप त्रिपाठी को मामले में जांच कर कार्रवाई के लिए आदेशित किया है.

Noida News: झुग्गियों में रहने वाले परिवारों ने नोएडा अथॉरिटी की बढ़ाई टेंशन, फ्लैट में जाने को नहीं हैं तैयार

नोएडा अथॉरिटी के अधिकारी जमकर पसीना बहा रहे हैं, लेकिन सफलता नहीं मिल रही है.

Noida Authority News : यूपी की नोएडा अथॉरिटी इन दिनों सेक्टर-4, 5, 8 और 9 में झुग्गियों (Jhuggi) में रहने वाले एक हजार से ज्यादा परिवारों को लेकर परेशान है, क्‍यों‍कि वह फ्लैट्स में शिफ्ट होने को तैयार नहीं हैं. अथॉरिटी ने इन परिवारों के लिए सेक्‍टर 122 में फ्लैट्स बनाए हैं.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 19, 2021, 07:28 IST
SHARE THIS:

नोएडा. राजधानी दिल्‍ली से यूपी के नोएडा के 4 सेक्टरों की झुग्गियों (Jhuggi) में रहने वाले एक हजार से ज्यादा परिवारों को लेकर अथॉरिटी काफी परेशान है, क्‍योंकि यहां रहने वाले लोग फ्लैट में नहीं जाना चाहते हैं. दरअसल, नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority) ने झुग्गियों में रहने वालों के लिए सेक्टर-122 में फ्लैट बनवाए हैं, लेकिन तमाम कवायद के बाद भी झुग्गियों में रहने वाले परिवार फ्लैट में शिफ्ट होने को तैयार नहीं हैं.

यही नहीं, झुग्गियों में रहने वालों के उदासीन रवैये के चलते नोएडा अथॉरिटी की झुग्गी-झोपड़ी हटाने की योजना आगे नहीं बढ़ पा रही है. जबकि सीईओ का आदेश है कि हर हफ्ते 100 झुग्गी वालों को सेक्टर-122 में कब्जा दिया जाए, लेकिन इसके पहले उनकी झुग्गी खाली करवाई जाए. बता दें कि नोएडा अथॉरिटी के कई प्लॉट सेक्टर-4, 5, 8 और 9 में हैं और इन पर अनाधिकृत रूप से झुग्गी बनी हैं. जबकि अथॉरिटी ने 2015 में झुग्गियों को हटाने की योजना शुरू की थी. इसी के तहत नोएडा सेक्टर-122 में 1771 फ्लैट बनाए हैं. यही नहीं, इनका आवंटन झुग्गियों में रहने वाले परिवारों को किया गया है, लेकिन वह झुग्गी खाली करके फ्लैट में जाने से कतरा रहे हैं.

1300 परिवारों ने कराई रजिस्ट्री, लेकिन फ्लैट में गए सिर्फ 250
नोएडा अथॉरिटी के मुताबिक, 1771 फ्लैट्स में 1300 की रजिस्ट्री हो चुकी है, लेकिन अब तक सिर्फ 250 परिवार ही सेक्‍टर 122 में रहने गए हैं. यही वजह है कि नोएडा अथॉरिटी हर महीने करीब 100 परिवारों को फ्लैट में शिफ्ट कराने की कवायद में लगी हुई है. झुग्गियों में रहने वाले परिवारों को इन फ्लैट्स के लिए 4 से 6 लाख रुपये देने पड़े हैं.

झुग्गियों को छोड़ने को तैयार नहीं लोग
नोएडा अथॉरिटी के एक अधिकारी के मुताबिक, सेक्टर-4, 5, 8 और 9 में रहने वाले लोग फ्लैट की रजिस्ट्री के बाद भी झुग्गी छोड़ने को तैयार नहीं हैं. जबकि काफी समय से वर्क सर्कल-1 और टीएसी सहित अन्य अधिकारी इन झुग्गियों में रहने वाले परिवारों को समझाने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन उनको कुछ खास सफलता नहीं मिल रही है.

Noida News: मानसिक तनाव से परेशान 4 लोगों ने की खुदकुशी, जांच में जुटी पुलिस

उन्होंने बताया कि थाना फेस-2 क्षेत्र में रहने वाली 19 वर्षीय युवती ने मानसिक तनाव के चलते पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली.(सांकेतिक तस्वीर: Shutterstock)

प्रवक्ता ने बताया कि थाना बिसरख क्षेत्र (Bisrakh Police Station) की एक सोसायटी में रहने वाले संदीप रावत (30) ने मानसिक तनाव के चलते अपने घर पर पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 18, 2021, 17:02 IST
SHARE THIS:

नोएडा. गौतमबुद्ध नगर (Gautam Buddha Nagar) जिले में कथित तौर पर विभिन्न घटनाओं में दो महिलाओं समेत चार लोगों ने आत्महत्या कर ली. पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि थाना फेस-3 क्षेत्र में रहने वाली प्रभा (28) ने मानसिक तनाव के चलते अपने घर पर पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या (Suicide) कर ली. उन्होंने बताया कि घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस मामले की जांच कर रही है. प्रवक्ता ने बताया कि थाना बिसरख क्षेत्र (Bisrakh Police Station) की एक सोसायटी में रहने वाले संदीप रावत (30) ने मानसिक तनाव के चलते अपने घर पर पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

उन्होंने बताया कि थाना फेस-2 क्षेत्र में रहने वाली 19 वर्षीय युवती ने मानसिक तनाव के चलते पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. प्रवक्ता ने बताया कि दिल्ली के रहने वाले रिंकू (30) ने अज्ञात कारणों के चलते तेजाब पी लिया. अत्यंत गंभीर हालत में उसे नोएडा के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां पर उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई. उन्होंने बताया कि थाना सेक्टर 24 पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

अस्पतालों में टेक्निशियन का काम कर रहा था
बता दें कि बीते मार्च महीने में गौतमबुद्ध नगर जिले के सेक्टर-24 थाना क्षेत्र के एक होटल में करीब एक सप्ताह से रुके केरल निवासी टेक्निशियन ने पंखे से फंदा लगाकर कथित रूप से आत्महत्या कर ली थी. पुलिस आयुक्त आलोक सिंह के मीडिया प्रभारी ने बताया था कि सेक्टर-24 थाना पुलिस को होटल मालिक ने शुक्रवार को सूचना दी कि उनके होटल में रूके केरल निवासी एल्डोस वी वी (40) ने कमरे में पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली है. उन्होंने बताया था कि घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची फील्ड यूनिट ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया था. उन्होंने बताया था कि मृतक मूल रूप से केरल के एर्नाकुलम जिले के बलिया करोथा गांव का रहने वाला था. वह लंबे समय से दिल्ली-एनसीआर में रहकर अस्पतालों में टेक्निशियन का काम कर रहा था.

(इनपुट- भाषा)

Noida: होटल में रुके लड़का-लड़की से मारपीट करने, 70 हजार रिश्वत लेने के आरोप में 3 सिपाही सस्पेंड

नोएडा लड़का-लड़की से मारपीट और रिश्वत लेने के आरोप में तीन पुलिस कर्मियों को सस्पेंड किया है. (File)

Noida News: अपर उपायुक्त विशाल पांडे ने बताया कि चौकी में युवक और युवती के परिजन को भी बुलाया गया. उन्हें छोड़ने के एवज में परिजन तथा होटल संचालक से 70 हजार रुपए रिश्वत के तौर पर ले लिये गये.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 18, 2021, 15:46 IST
SHARE THIS:

नोएडा. नोएडा थाना बीटा-2 क्षेत्र में स्थित एक होटल में ठहरे लड़का-लड़की के साथ मारपीट करने, उनसे और होटल संचालक से रिश्वत लेने के आरोप में पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने तीन पुलिसकर्मियों को शनिवार को निलंबित कर दिया. अपर पुलिस उपायुक्त (जोन तृतीय) विशाल पांडे ने बताया कि थाना बीटा-दो क्षेत्र के एक होटल में बुधवार को एक लड़का-लड़की आकर ठहरे थे.

उन्होंने बताया कि इसी बीच एक पुलिसकर्मी वहां पर पहुंच गया. उसने होटल में लड़का-लड़की के रुके होने की जानकारी ली और चला गया. इसके बाद उसने अपने अन्य पुलिसकर्मी साथियों को फोन करके मौके पर बुला लिया. उन लोगों ने जबरदस्ती करते हुए होटल संचालक और लड़का-लड़की को परी चौक पुलिस चौकी लेकर आ गये.

अपर उपायुक्त विशाल पांडे ने बताया कि चौकी में युवक और युवती के परिजन को भी बुलाया गया. उन्हें छोड़ने के एवज में परिजन तथा होटल संचालक से 70 हजार रुपए रिश्वत के तौर पर ले लिये गये. उन्होंने बताया कि सोशल मीडिया पर घटना का वीडियो वायरल होने के बाद इसकी जांच सहायक पुलिस आयुक्त प्रवीण कुमार को सौंपी गई है. अपर उपायुक्त ने बताया कि जांच अधिकारी प्रवीण कुमार की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस आयुक्त ने इस मामले में सख्त कार्रवाई करते हुए हेड कांस्टेबल राजेंद्र सिंह, कांस्टेबल सचिन बालियान व कांस्टेबल अंकित कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है. इनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई भी की जा रही है.

नोएडा में साइबर ठगी का अजीबोगरीब मामला, ऐप डाउनलोड करते ही खाते से उड़ गए 71 हजार

थाना प्रभारी ने बताया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है. (सांकेतिक फोटो)

थाना सेक्टर 49 के प्रभारी निरीक्षक विनोद कुमार सिंह (Inspector Vinod Kumar Singh) ने बताया कि सेक्टर 74 में रहने वाले हरीश सचान ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि उनकी बेटी के फोन पर एक संदेश आया, जिसमें केवाईसी अद्यतन कराने के लिए कहा गया था.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 18, 2021, 15:34 IST
SHARE THIS:

नोएडा. नोएडा (Noida) थाना सेक्टर 49 में एक व्यक्ति ने साइबर ठगों (Cyber Thugs) के खिलाफ धोड़ाधड़ी करके उसके खाते से 71,000 रुपए निकालने का मामला दर्ज कराया है. थाना सेक्टर 49 के प्रभारी निरीक्षक विनोद कुमार सिंह (Inspector Vinod Kumar Singh) ने बताया कि सेक्टर 74 में रहने वाले हरीश सचान ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि उनकी बेटी के फोन पर एक संदेश आया, जिसमें केवाईसी अद्यतन कराने के लिए कहा गया था. सिंह ने बताया कि शिकायत में कहा गया कि इस दौरान जैसे ही उन्होंने एक ऐप डाउनलोड किया उनके खाते से करीब 71 हजार रुपये निकल गए. थाना प्रभारी ने बताया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है.

इसी प्रकार का एक और मामला सेक्टर 21 में सामने आया है. थाना सेक्टर 20 में एक महिला ने साइबर ठगों के खिलाफ केवाईसी अद्यतन करने के नाम पर उनके खाते से 1,45,000 रुपए निकालने का मामला दर्ज कराया है. थाना सेक्टर 20 के प्रभारी निरीक्षक मनीष प्रताप सिंह चौहान ने बताया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है.

 विक्रांत कुमार चौधरी को गिरफ्तार किया है
वहीं, पिछले 12 सितंबर को खबर सामने आई थी कि  पश्चिमी उत्तर प्रदेश विशेष कार्य बल (STF) की नोएडा इकाई ने भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के पूर्व सहायक प्रबंधक सहित दो लोगों को 40 लाख रुपए से अधिक की ठगी की 12 घटनाओं के मामले में गिरफ्तार किया है. पश्चिमी उप्र एसटीएफ के पुलिस अधीक्षक कुलदीप नारायण (Kuldeep Narayan) ने बताया था कि बल की नोएडा इकाई ने एसबीआई कार्ड से लाखों रुपए की धोखाधड़ी के मामले में एसबीआई कार्ड के पूर्व सहायक प्रबंधक अभिषेक चंद्रा और विक्रांत कुमार चौधरी को गिरफ्तार किया है. दोनों दिल्ली निवासी हैं.

धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया गया था
उन्होंने बताया कि पिछले कुछ समय से ठगी के कई मामले सामने आ रहे थे. एसबीआई कार्ड की तरफ से इस संबंध में लखनऊ स्थित एसटीएफ के मुख्यालय में शिकायत की गई, जिसके बाद नोएडा एसटीएफ के क्षेत्रीय इकाई प्रमुख अक्षय त्यागी ने जांच शुरू की. जांच के दौरान चंद्रा और चौधरी को गिरफ्तार कर लिया गया. जांच में सामने आया है कि एसबीआई कार्ड की तरफ से इस संबंध में गाजियाबाद के थाना कविनगर में भी धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया गया था.

(इनपुट- भाषा)

ग्रेटर नोएडा में मॉल, होटल या ऑफिस कॉम्प्लेक्स के लिए प्लॉट खरीदने का सुनहरा मौका, अथॉरिटी ने लॉन्‍च की 9 स्‍कीम

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने 9 स्‍कीम के तहत प्‍लॉट्स का रिवर्ज प्राइस 139 करोड़ से अधिक रखा है.

Greater Noida News: ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी (Greater Noida Authority) ने मॉल, होटल और ऑफिस कॉम्प्लेक्स (Office Complex) बनाने के लिए 9 कमर्शियल प्लॉट की स्कीम (9 Commercial Plots Scheme) लॉन्‍च की हैं. इसके लिए 25 अक्टूबर को ऑक्शन होगा.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 18, 2021, 11:58 IST
SHARE THIS:

ग्रेटर नोएडा. उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर के ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी (Greater Noida Authority) में मॉल (Mall), होटल और ऑफिस कॉम्प्लेक्स (Office Complex) बनाने का एक और मौका दिया है. दरअसल अथॉरिटी ने गुरुवार को 9 कमर्शियल प्लॉट की स्कीम (9 Commercial Plots Scheme) लॉन्‍च की हैं. इसके लिए इच्छुक लोग 8 अक्टूबर तक अथॉरिटी की वेबसाइट से आवेदन डाउनलोड कर सकते हैं. वहीं, आवेदन भरने के बाद इसे 12 अक्टूबर सबमिट किया जा सकेगा. ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने ऑक्शन की डेट 25 अक्टूबर तय की है. बता दें कि अथॉरिटी 31,328 वर्ग मीटर जमीन का आवंटन करेगी और करीब 139 करोड़ से अधिक का निवेश होगा.

इस बारे में ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के सीईओ नरेंद्र भूषण ने बताया कि शहर में मॉल, होटल और ऑफिस कॉम्प्लेक्स आदि की योजना लॉन्च की गई है. वहीं, इच्छुक लोग 12 अक्‍टूबर तक अपने फार्म जमा कर सकते हैं. उन्‍होंने बताया कि सेक्टर डेल्टा टू, सेक्टर-36, गामा टू, ईटा वन, पी-4 में दो और पाई वन में तीन कमर्शियल प्लॉट हैं. साथ ही बताया कि फ्लोर एरिया रेश्यो वाले इन प्‍लॉट्स के लिए रिजर्व प्राइस 44,250 रुपये प्रति वर्ग मीटर से लेकर 46,190 रुपये प्रति वर्ग मीटर तक है. जबकि प्लॉट साइज 1200 वर्ग मीटर से लेकर 7455 वर्ग मीटर तक हैं.

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी को मिलेंगे 139 करोड़ से अधिक
बता दें कि ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के इन प्‍लॉट्स की कीमत रिवर्ज प्राइस के आधार पर 139 करोड़ रुपये से अधिक है. हालांकि ऑक्शन में रिजर्व प्राइस से अधिक कीमत लगानी होती है. इस वजह से अथॉरिटी को तय कीमत से अधिक की आमदनी होनी तय है. जबकि प्‍लॉट्स की की कीमत 5.54 करोड़ से लेकर 32.99 करोड़ रुपये तक रखी गयी है.

नितिन गडकरी ने जेवर एयरपोर्ट को दी 2100 करोड़ की सौगात, Delhi-NCR को चमकाने के लिए उठाया ये कदम

जानें कहां कितनी है कीमत
>>सी-02, सेक्टर-ईटा वन 7455 44,250 32.99 करोड़
>>सी-2-सेक्टर -पाई वन 4374 44,250 19.35 करोड़
>>सी-3-सेक्टर पाई वन 4376 44,250 19.36 करोड़
>>एलएस-1, सेक्टर-पी-4 3132 44,250 13.85 करोड़
>>एलएस-2, सेक्टर-पी-4 3153 44,250 13.95 करोड़
>>सीएस-16, सेक्टर-गामा टू 2782 46,190 12.85 करोड़
>>सी-1, सेक्टर-पाई वन 2500 44,250 11.06 करोड़
>>एलएस-9, सेक्टर-36 2356 44250 10.42 करोड़
>> सीएस-23, सेक्टर-डेल्टा टू 1200 46,190 5.54 करोड़

Noida कभी कुश्ती का गढ़ हुआ करता था,जानिए क्यों समय के साथ ढहता गया कुश्ती का किला 

नोएडा के अखाड़े के पहलवान बिना सरकार के मदद के तैयारी करते हैं.

देवेंद्र कहते हैं खेल की भावना कई साल पहले ही खत्म हो गई, खेल की बागडोर कुछ गलत हाथों में चली गई थी.

SHARE THIS:

नोएडा: ओलिंपिक 2020 में जापान के टोक्यो में जब रवि दहिया ने कुश्ती में अपना अंतिम दाव खेला और सिल्वर मेडल जीतकर देश का नाम रोशन किया था.उसके बाद देश के कई कुश्ती खिलाड़ी रवि दहिया को अपना रोल मॉडल मान कर पूरे जोश के साथ तैयारी करते थे.इसमें नोएडा स्थित सरफाबाद गांव के छोटे छोटे खिलाड़ी भी शामिल थे जो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने का सपना लिए प्रैक्टिस करने लगे. लेकिन सही गाइडेंस और ट्रेनिंग की कमी के कारण उनका सपना कोसो दूर ही रहा. पश्चिमी उत्तर प्रदेश का जिला गौतमबुद्ध नगर (नोएडा) कभी कुश्ती का गढ़ हुआ करता था और बड़े दंगल आयोजित कराए जाते थे, लेकिन पिछले कुछ सालों में यहां से कुश्ती प्रतियोगिता लगभग बंद हो गई थी.लेकिन जब से देश के पहलवान कुश्ती में जीत दर्ज कर देश का मान बढ़ा रहे हैं तो फिर से अब कुश्ती की तरफ लोग दुबारा मुड़ रहे है. लेकिन प्रश्न उठता है कि ऐसा क्या हुआ कि नोएडा समेत पूरे पश्चिमी उत्तर प्रदेश से कुश्ती, दंगल का आयोजन लगभग बंद हो गए थे?

कुछ हमारी अनदेखी रही कुछ सरकार ने ध्यान नहीं दिया
नोएडा सेक्टर 73 स्थित सरफाबाद गांव में मूलक पहलवान की अकादमी बच्चों को कुश्ती सीखा रही है, इस अखाड़े के संचालक कहते हैं कि जिस समय नोएडा में कुश्ती प्रतियोगिता आयोजित की जाती थी साथ ही बड़े बड़े दंगल आयोजित कराए जाते थे. उस वक्त लोग कुश्ती के महत्व को समझते थे लेकिन समय के साथ सबकुछ बदलता चला गया. लोगों ने खेल पर से ध्यान हटाना शुरू कर दिया, वो बताते हैं मैने 18 साल फौज में सेवा दी है, मैं फौज में कुश्ती के वजह से ही गया था लेकिन लोग इस बात को नहीं समझते हैं कि खेल आपको क्या क्या दे सकता है. इसके बाद सरकार की भी रवैया ठीक नहीं था, खेल की भावना को किसी सरकार ने समझा ही नहीं है.

अखाड़े के नाम पर गुंडे पालने लगे थे कुछ लोग
सराफाबाद गांव के निवासी देवेंद्र कुमार कहते हैं कि खेल की भावना तो कई साल पहले ही खत्म हो गई थी, क्योंकि खेल की बागडोर कुछ गलत हाथों में चली गई थी. अखाड़े में लड़कों को तैयार करके अखाड़ा संचालक पहलवानों का गलत प्रयोग करते थे. पहलवानों के माता पिता उनको सीखने के लिए भेजते थे लेकिन अखाड़ा संचालक उन्हें लड़ाई, प्रदर्शन, धरना, बाहुबल में इस्तेमाल करने लगे.जिस कारण कुश्ती और अखाड़ा बदनाम होता चला गया. देवेंद्र कहते हैं कि आप हरियाणा को देखिए वहां जनता और सरकार दोनों खेल के लिए समर्पित है, वहां किसी की भी सरकार आ जाए खेल के लिए भावना वही रहती है लेकिन उत्तर प्रदेश में इसका ठीक उल्टा है.

ढाई लीटर दूध पीते है, तब करते है तैयारी
अखाड़े में छोटा पहलवान आकाश प्रैक्टिस के बाद शरीर से मिट्टी झाड़ते हुए कहते हैं कि मेरी प्रैक्टिस रोज सुबह चारा बजे से आठ बजे तक होती है, मेरे घर में भैंस है तो मुझे दूध पीने में समस्या नहीं होती मैं डेली ढाई लीटर दूध बादाम के साथ खाता हूं. तब प्रैक्टिस करता हूं. आकाश कहते हैं कि मुझे ओलंपिक गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास बनाना है. सरकार या जिला प्रशासन क्या मदद कर रही है इसके जवाब में वो कहते है कि सरकार के भरोसे रहते तो मेडल आ जाता क्या? हम अपनी ताकत पर भरोसा करते हैं.

(रिपोर्ट- आदित्य कुमार)

Noida news bulletin: देखिए नोएडा की बड़ी खबरें एक साथ.

Noida gate.

नोएडा न्यूज: जल्द ही सेक्टर 71का अंडर पास बनकर तैयार हो जाएगा, इसके बाद लाखों लोगों को हो रही परेशानी दूर होगी.

SHARE THIS:

1. नोएडा में शुक्रवार को ममुरा और बिसरख प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर मेगा वैक्सीनेशन कार्यक्रम चलाया जाएगा. यहां पर corona Vaccine पहली और दूसरी दोनो डोज लगाई जाएगी. मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ सुनील शर्मा ने गुरुवार को बताया कि जिले में वैक्सीनेशन पूरे प्रदेश में सबसे लगाया गया है, लोगों को सहूलियत के लिए नोएडा के अस्पतालो के अलावा बिसरख और ममूरा के पीएचसी में भी वैक्सीन लगाई जाएगी उसके लिए लोगों को आधार कार्ड लाना होगा.

2. नोएडा सेक्टर 33 स्थित आरटीओ कार्यालय में घुस कर कर्मचारियों को धमकाने वाले मामले में सेक्टर 24 पुलिस ने दो नामजद समेत सात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है. एडीसीपी रणविजय सिंह ने गुरुवार को बताया कि मामला संज्ञान में आने के बाद आरटीओ कार्यालय से मिली शिकायत के अनुसार अनूप उपाध्याय,नीरज शुक्ला नामजद समेत पांच अन्य अज्ञात पर मुकदमा दर्ज किया गया है. वहीं अनूप उपाध्याय और नीरज शुक्ला ने गुरुवार को प्रेस कांफ्रेंस कर आरटीओ कार्यालय में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि वहां पर भ्रष्टाचार का विरोध करने पर लड़ाई हुई थी.

3. नोएडा के सेक्टर 71 अंडरपास का काम एक हफ्ते में पूरा कर लिया जाएगा. जिसके बाद लाखों लोगों को नोएडा से ग्रेटर नोएडा और नोएडा के अन्य क्षेत्रों में आने जाने में आसानी होगी. नोएडा प्राधिकरण के वरिष्ठ प्रबंधक राजीव त्यागी ने गुरुवार को बताया कि बारिश के कारण काम धीमा हो गया था एक हफ्ते में काम पूरा कर लिया जाएगा.उसके बाद लोगों को जो तीन चार किलोमीटर ज्यादा चलना पड़ता है उस से छुटकारा मिल जाएगा.

(रिपोर्ट – आदित्य कुमार)

Noida News Bulletin: ई- साईकल के लिए अभी भी नोएडा के लोगों करना होगा इंतजार

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जन्मदिन मनाते लोग.

ई-साईकल के लिए लोगों को और इंतजार करना पड़ेगा. दूसरा निविदा जल्द निकाला जाएगा.

SHARE THIS:

1. गौतमबुद्ध नगर के नोएडा में रहने वाले लोगों को ई – साइकिल की सवारी के लिए अभी कुछ दिन और इंतजार करना होगा, अक्टूबर माह तक ही ईसाइकिल सुचारू रूप से लोगों के लिए उपलब्ध होगी. नोएडा प्राधिकरण के सीईओ ऋतु माहेश्वरी ने शुक्रवार को बताया कि नोएडा में 62 जगहों पर ई – साइकिल स्टैंड बनाया गया है. इस परियोजना को चलाने वाले एजेंसी के रूप में एक कंपनी का चयन कर लिया गया है. इसके बाद अक्टूबर तक ही लोग ई- साइकिल का लाभ ले पाएंगे.

2. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन आज नोएडा में भी धूमधाम से मनाया गया. इस अवसर पर मिशन मोदी अगेन ट्रस्ट के कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री का जन्मदिन बड़े जोश के साथ मनाया, जीएनआईओटी कॉलेज में सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ताओं ने जन्मदिन के कार्यक्रम में हिस्सा लिया. ट्रस्ट के जिला संयोजक धर्मेंद्र कुमार उपाध्याय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के सबसे लोकप्रिय प्रधानमंत्री में से एक है, उनका देश के लिए समर्पण अतुलनीय है.

3. बीते दिनों नोएडा सेक्टर 33 स्थित आरटीओ कार्यालय में कुछ लोग घुसकर आरटीओ कार्यालय के कर्मचारियों को धमकाने वाले सात आरोपितों में से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. एसीपी रजनीश वर्मा ने बताया कि नीरज शुक्ला और एक उसके साथी को गंगा शॉपिंग कॉम्प्लेक्स के बाहर से गिरफ्तार किया गया है.

(रिपोर्ट-आदित्य कुमार)

Load More News

More from Other District

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज