Baghpat news

बागपत

अपना जिला चुनें

जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव: बागपत में उलटा पड़ा BJP का दांव, RLD में वापस हुई ममता जयकिशोर

बागपत में उलटा पड़ा BJP का दांव

बागपत में उलटा पड़ा BJP का दांव

रालोद (RLD) प्रत्याशी ममता जयकिशोर ने बीजेपी सांसद सत्यपाल सिंह पर अपहरण कराकर बीजेपी जॉइन करवाने का आरोप लगाया है. जबकि आरएलडी में वापसी करते हुए ममता जय किशोर के प्रस्तावकों ने नामांकन किया.

SHARE THIS:
बागपत. पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बागपत (Baghpat) में शनिवार को जिला पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव से पहले नेताओं का पाला बदलने का सिलसिला शुरू हो गया है. इससे पहले रालोद प्रत्याशी ममता जयकिशोर अपने पति जय किशोर के साथ भाजपा में शामिल हो गईं. लेकिन थोड़ी देर बाद फिर ममता जयकिशोर ने राष्ट्रीय लोक दल (RLD) के सिंबल पर अपना नामांकन किया. यह सीट अनुसूचित जाति और महिला के लिए आरक्षित है. इससे पहले भाजपा ने सपा उम्मीदवार बबली को अपने पाले में कर लिया था.

रालोद प्रत्याशी ममता जयकिशोर ने बीजेपी सांसद सत्यपाल सिंह पर अपहरण कराकर बीजेपी जॉइन करवाने का आरोप लगाया है. जबकि आरएलडी में वापसी करते हुए ममता जय किशोर के प्रस्तावकों ने नामांकन किया. उधर, ममता के आरएलडी से नामांकन के बाद बीजेपी का निर्विरोध चुने जाने का गणित बिगड़ा गया है. ऐसे में बागपत में बीजेपी से बबली और आरएलडी से ममता जय किशोर के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिलेगी.

कोरोना ने बदली जिंदगी: हापुड़ में सब्जी बेचने को मजबूर हुआ स्कूल संचालक, बोले- अब टूट गया हूं!

बता दें कि जिला पंचायत सदस्य चुनाव में भाजपा के 20 में से चार प्रत्याशी ही जीते थे. अध्यक्ष पद अनुसूचित जाति की महिला के लिए आरक्षित है. रालोद से ममता जयकिशोर और सपा से बबली देवी ही इस वर्ग से जीती थीं. भाजपा के पास अध्यक्ष पद का प्रत्याशी भी नहीं था. हालांकि, अभी भी रालोद नेताओं ने उम्मीद नहीं छोड़ी है.

निर्दल प्रत्याशी की होगी किंग मेकर की भूमिका
गौरतलब है कि बीजेपी ने जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में 65 सीटें जीतने का लक्ष्य निर्धारित किया था. बीजेपी की ओर से जिला पंचायत सदस्य चुनाव में 65 सीटें जीतने का लक्ष्य निर्धारित किए जाने के बाद से ही नेताओं के दबल-बदल की आशंका जताई जा रही थी. इस चुनाव में निर्दल प्रत्याशी किंग मेकर की भूमिका में नज़र आएंगे. शनिवार को कलेक्ट्रेट में कड़ी सुरक्षा के बीच अध्यक्ष पद के नामांकन पत्र दाखिल होगा. तीन जुलाई को मतदान के साथ मतों की गणना होगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Baghpat को सीएम योगी ने दी बड़ी सौगात, चौधरी चरण सिंह, महेंद्र टिकैत और शूटर दादी के नाम हुई तीन सड़कें

बागपत में तीन सड़कों का नाम किअं नेता चौधरी चरण सिंह, महेंद्र सिंह टिकैत और शूटर दादी चंद्रो के नाम

Baghpat News: छपरौली-टांडा मार्ग को चौधरी चरण सिंह मार्ग, छपरौली-बरनावा मार्ग को महेंद्र सिंह टिकैत मार्ग और जोहड़ी बिजली घर से बिजवाड़ा रास्ते को शूटर दादी चन्द्रों के नाम पर नामकरण की स्वीकृति मुख्यमंत्री की तरफ से दे दी गई है.

SHARE THIS:

बागपत. आगामी विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) से पहले पश्चिम उत्तर प्रदेश में किसान आंदोलन (Kisan Aandolan) के असर को कम करने के लिए योगी सरकार (Yogi Government) तमाम तरह के हथकंडे अपना रही है. अलीगढ़ में जाट राजा महेंद्र प्रताप सिंह स्टेट यूनिवर्सिटी के शिलान्यास के बाद अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने बागपत (Baghpat)  की तीन सड़कों का नाम किसान नेता और पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह, महेंद्र टिकैत और शूटर के दादी चन्द्रों के नाम पर करने की स्वीकृति दे दी है. मुख्यमंत्री ऑफिस ने ट्वीट कर ये जानकारी दी.

छपरौली-टांडा मार्ग को चौधरी चरण सिंह मार्ग, छपरौली-बरनावा मार्ग को महेंद्र सिंह टिकैत मार्ग और जोहड़ी बिजली घर से बिजवाड़ा रास्ते को शूटर दादी चन्द्रों के नाम पर नामकरण की स्वीकृति मुख्यमंत्री की तरफ से दे दी गई है. किसान नेताओं और शूटर दादी के नाम पर सड़कों के नामनकरण की घोषणा से लोगों में खुशी है

इतना ही नहीं मुख्यमंत्री 22 सितंबर को ग्रेटर नोएडा में स्मार्त मिहिर भोज की 12 फ़ीट ऊंची प्रतिमा का भी अनावरण करेंगे। दरअसल जाट वोटरों के साथ ही बीजेपी गुर्जर समाज को भी  साधने में जुटी है. हालांकि राजा मिहिर भोज की प्रतिमा को लेकर विवाद भी शुरू हो गया है. करनी सेना मिहिर भोज को गुर्जर सम्राट बताने पर आहत है. उसका आरोप है कि सरकार इतिहास के साथ छेड़छाड़ कर रही है. उधर वरिष्ठ पत्रकार अनिल भारद्वाज कहते हैं कि ये बीजेपी का नया दांव है. सीएम योगी आदित्यनाथ जब खुद मूर्ति का अनावरण करेंगे तो गुर्जर समाज में एक संदेश जाएगा जो कि बड़ा वोट बैंक है. और बीजेपी संदेशों की राजनीति में माहिर हैं.

अजीत सिंह की राजनीतिक विरासत सौंपी जयंत चौधरी को, खाप चौधरियों ने बांधी पगड़ी

बागपत में रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी ने कहा कि समाज की पगड़ी झुकने नहीं दूंगा.

Tribute To Ajit Singh : किसानों के हितचिंतक पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह और पूर्व कैबिनेट मंत्री अजीत सिंह की राजनैतिक विरासत आज यानी रविवार को जयंत चौधरी के हाथो में सौंप दी गई. छपरौली में आयोजित श्रद्धांजलि सभा और रस्म पगड़ी कार्यक्रम में खाप चौधरियों ने जयंत चौधरी को पगड़ी पहनाई.

SHARE THIS:

बागपत. किसानों के हितचिंतक पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह और पूर्व कैबिनेट मंत्री अजीत सिंह की राजनैतिक विरासत आज यानी रविवार को जयंत चौधरी के हाथो में सौंप दी गई. छपरौली में आयोजित अजीत सिंह की श्रद्धांजलि सभा में खाप चौधरियों ने जयंत चौधरी को पगड़ी पहनाई. इस दौरान बालियान खाप के मुखिया नरेश टिकैत, चौबीसी खाप के मुखिया सुभाष चौधरी सहित कई खापों के चौधरियों ने जयंत चौधरी को पगड़ी बांधी.

बताया जा रहा है कि यूपी और हरियाणा के कई जिलों से जयंत के लिए पगड़ी भेजी गई है. पगड़ी पहनाए जाने के बाद जयंत चौधरी ने सभा मे पहुंचे लोगों को संबोधित किया. जयंत चौधरी ने कहा कि आपने जो सम्मान दिया है, मैं उस पर हमेशा खरा उतरूंगा और लोगों के मान-सम्मान की लड़ाई लड़ने का काम करूंगा. उन्होंने कहा कि में आप लोगों के सामने झुकूंगा, लेकिन जब बात समाज के मान-सम्मान की आएगी तो आपके सम्मान की लड़ाई लड़ूंगा, पगड़ी झुकने नहीं दूंगा. जयंत चौधरी के रस्म पगड़ी कार्यक्रम में हजारों की भीड़ पहुंची और जयंत को आशीर्वाद दिया.

इन्हें भी पढ़ें :
CM योगी ने रखा सरकार के कामकाज का रिपोर्ट कार्ड, कहा- 2017 से पहले ट्रांसफर और पोस्टिंग में लगती थी बोली
योगी सरकार के साढ़े 4 साल पूरे होने पर मायावती और प्रियंका गांधी बोलीं- विज्ञापन और दावे अधिकांश हवा-हवाई

उल्लेखनीय है कि रस्म पगड़ी और श्रद्धांजलि सभा में खाप चौधरियों को निमंत्रण दिया गया था. निमंत्रण पर हरियाणा, राजस्थान और यूपी से दो दर्जन से ज्यादा खाप चौधरी जयंत के रस्म पगड़ी कार्यक्रम में पहुंचे और उन्हें पगड़ी पहनाकर आशीर्वाद दिया. अब चौधरी अजीत सिंह की विरासत जयंत चौधरी के हाथों में आ गई है. बागपत के गांव-गांव से जयंत चौधरी के लिए पैसे और पगड़ी भेजे गए. खाप और समाज के लोगों से सम्मान मिलने के बाद जंयत नपा-तुला बोले और सभा में मौजूद लोगों की लड़ाई लड़ने की घोषणा की.

बागपत : वीडियो बनाकर बताया कि पड़ोसी कर रहे उत्पीड़न, फिर दंपति ने की खुदकुशी की कोशिश

बागपत में खुदकुशी की कोशिश के बाद अस्पताल में भर्ती महिला.

crime in UP : दंपत्ति ने पड़ोसी राकेश, विनोद, गोपी और सुभाष पर मामूली कहासुनी के बाद झूठे मुकदमे में फंसाने का आरोप लगाया है. पीड़ित पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज है. उसी को लेकर यह दंपत्ति काफी दिनों से परेशान चल रहा था.

SHARE THIS:

बागपत. बागपत शहर कोतवाली क्षेत्र में पड़ोसियों के उत्पीड़न से परेशान दंपति ने जहर खाकर जान देने की कोशिश की. खुदकुशी की कोशिश से पहले पति पत्नी ने वीडियो शूट कर अपनी परेशानी बताई और कहा कि उनके मरने के बाद पड़ोसियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए. वीडियो शूट के बाद दोनों ने जहर खा लिया. इस दंपति को बाद में राहगीरों ने सड़क के किनारे बेहोशी की हालत में पड़े देखा. तब उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहर खाने वाले शख्स की पहचान राजीव के रूप में हुई है. फिलहाल राजीव और उनकी पत्नी की हालत गंभीर बनी हुई है.

पीड़ित दंपति के परिजनों का कहना है कि मामूली विवाद में उनके पड़ोसियों ने उन पर मुकदमा दर्ज करा दिया है. जिसको लेकर पिछले काफी समय से वे लोग परेशान चल रहे थे. पुलिस के आलाधिकारी से मिलकर भी कई बार उन्होंने मुकदमा वापस लिए जाने की मांग की. लेकिन जब पड़ोसी लगातार उन्हें तंग करते रहे तो आज उन्होंने सुसाइड करने का निर्णय किया और दोनों ने जहर खा लिया.

इसे भी पढ़ें : भारी बारिश की वजह से जगह-जगह हादसे, अब तक पांच बच्चों समेत 16 की मौत

फिलहाल एक निजी अस्पताल में पति-पत्नी का इलाज चल रहा है और उनकी हालत नाजुक बनी हुई है. घटना के बाद पीड़ित दंपति के परिजन एसपी ऑफिस पहुंचे. उन्होंने एसपी को पूरी घटना से अवगत कराते हुए निष्पक्ष जांच कराने की मांग की.

इसे भी पढ़ें : भारी बारिश को देखते हुए जिला प्रशासन ने जारी की एडवाइजरी, हेल्पलाइन नंबर

जहर खाने वाले शख्स का नाम राजीव है. इस दंपति ने पड़ोसी राकेश, विनोद, गोपी और सुभाष पर मामूली कहासुनी के बाद झूठे मुकदमे में फंसाने का आरोप लगाया है. पीड़ित पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज है. उसी को लेकर पीड़ित पिछले काफी दिनों से परेशान चल रहा था. परेशान होकर इस दंपति ने ये आत्मघाती कदम उठाया. फिलहाल परिजनों ने बताया है कि पुलिस पूरे मामले में पड़ताल कर रही है और उन्हें न्याय का आश्वासन मिला है.

Baghpat पहुंचे राकेश टिकैत का असदुद्दीन ओवैसी पर तीखा हमला, बताया बीजेपी वालों का 'चचा जान'

Baghpat में राकेश टिकैत ने असदुद्दीन ओवैसी पर साधा निशाना

Rakesh Tikait Attacks BJP: राकेश टिकैत ने कहा कि अब यूपी में ओवैसी आ गया है, जो बीजेपी वालों का 'चचा जान' है. वो यूपी में बीजेपी को जिताकर ले जायेगा. अब इन्हें कोई दिक्कत नहीं है.

SHARE THIS:

बागपत. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) के सियासी रण में अब ‘अब्बा जान’ के बाद ‘चचा जान’ की भी एंट्री हो गई है. बागपत (Baghpat) पहुंचे भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने एआईएमआईएम (AIMIM) के राष्ट्रीय राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) पर जमकर निशाना साधा. राकेश टिकैत ने ओवैसी को बीजेपी वालों का ‘चचा जान’ बताया. टिकैत ने कहा कि अब यूपी में ओवैसी आ गया है, जो बीजेपी वालों का ‘चचा जान’ है. वो यूपी में बीजेपी को जिताकर ले जायेगा। अब इन्हें कोई दिक्कत नहीं है.

बता दें कि मंगलवार को बागपत के टटीरी गांव में किसानों से मिलने पहुंचे थे. इस मौके पर उन्होंने बिजली दरों और MSP को लेकर भी बयान दिया. उन्होंने कहा कि देश की सबसे महंगी बिजली यूपी में मिल रही है. टिकैत ने कहा कि किसानों को फसलों का उचित समर्थन मूल्य नहीं मिल रहा. उन्होंने कहा कि गन्ने का न्यूनतम समर्थन मूल्य 650 रुपए प्रति कुंतल होना चाहिए.

MSP में सामने आ रहा बड़ा घोटाला 
राकेश टिकैत ने कहा कि हम तीनों कृषि कानून वापस लेने और एमएसपी की गारंटी देने की मांग को लेकर दिल्ली में धरने पर बैठे हैं. अब यह भी बात सामने आने लगी है कि एमएसपी में बहुत बड़ा घोटाला हो रहा है. सरकार, अधिकारियों और व्यापारियों की मदद से धान व गेंहू की सरकारी खरीद में 400-500 रुपए प्रति कुंतल का अंतर है. रामपुर में तो 11 हजार फर्जी किसान बताकर खरीद की गई और कुछ खास व्यापारियों को बेच दिया गया.

राजा महेंद्र सिंह यूनिवर्सिटी पर कही ये बात
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अलीगढ़ में जाट राजा महेंद्र सिंह स्टेट यूनिवर्सिटी के शिलान्यास पर कहा कि चुनाव आते ही बीजेपी जातिवाद करने लगती है. राजा महेंद्र प्रताप एक बड़े किसान नेता था. उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि अब यूपी में बीजेपी वालों का ‘चचा जान’ ओवैसी आ गया है. वह उन्हें चुनाव जीताकर ले जाएगा.

UP: बागपत में BJP नेता और पूर्व मंत्री आत्माराम तोमर की हत्या का खुलासा, दो आरोपी गिरफ्तार

UP: बागपत में BJP नेता और पूर्व मंत्री आत्माराम तोमर की हत्या का खुलासा

Murder Case: बता दें कि डॉ आत्माराम तोमर छपरौली से बीजेपी की टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं. तोमर जनता वैदिक इंटर कालिज बड़ौत के प्रधानाचार्य भी रह चुके थे.

SHARE THIS:

बागपत. उत्तर प्रदेश के बागपत (Baghpat) जिले में पूर्व दर्जा प्राप्त मंत्री और बीजेपी नेता (BJP Leader) डॉ आत्माराम तोमर (Atmaram Tomar) की हत्या का खुलासा करते हुए पुलिस ने रविवार को दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. साथ ही चोरी की गई स्कॉर्पियो कार भी पुलिस ने बरामद कर ली है. गिरफ्तार किये गये दोनों आरोपियों पर बीजेपी नेता के हत्यारों को शरण देने का आरोप है. दोनों को गिरफ्तार करते हुए पुलिस ने जेल भेज दिया है जबकि हत्या के मुख्य आरोपी की तलाश में पुलिस की टीम छापेमारी कर रही है.

बताया जा रहा है कि हत्यारों ने नाक और मुंह पर कपड़ा दबाकर हत्या की वारदात को अंजाम दिया था. जिसमे परिजनों ने गैस एजेंसी के विवाद में दो रिश्तेदारों पर हत्या करने का आरोप लगाया था. उल्लेखनीय है कि 2 दिन पहले बीजेपी नेता आत्माराम की मुंह पर कपड़ा से दबाकर हत्या कर दी गई थी. जिसके बाद परिजनों ने रिश्तेदारों पर हत्या का आरोप लगाकर तहरीर दी थी. परिजनों के आरोप पर पुलिस पड़ताल कर रही थी इस दौरान पुलिस ने स्कोर्पियो कार जो हत्यारे घटनास्थल से चोरी कर ले गए थे. पुलिस ने हत्यारोपी मनमोहन व सुभाष को गिरफ्तार किया है.

यह भी पढ़ें- UP: माफियाओं पर कहर बनकर टूटी योगी सरकार! पुलिस मुठभेड़ में 150 अपराधी ढेर, 550 पर NSA, 3700 गिरफ्तार

साथ ही हत्यारोपियों पर पुलिस ने 25 25 हजार के इनाम भी घोषित कर दिया है. अब पुलिस फरार हत्यारोपियों की तालाश में जुट गई है. घटना के बाद परिजनों में भी कोहराम मच गया था. बता दें कि डॉ आत्माराम तोमर छपरौली से बीजेपी की टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं. तोमर जनता वैदिक इंटर कालिज बड़ौत के प्रधानाचार्य भी रह चुके थे. 1997 में डॉ आत्माराम तोमर गन्ना संस्थान के उपाध्यक्ष (राज्य मंत्री स्तर) पर रहे थे.

UP News: बागपत में BJP नेता और पूर्व मंत्री आत्माराम तोमर की संदिग्‍ध मौत, हत्या की आशंका

UP News: बागपत में BJP नेता और पूर्व मंत्री आत्माराम तोमर की संदिग्‍ध मौत (File photo)

Baghpat News: एसपी (SP) बागपत नीरज कुमार जादौन ने बताया कि परिजनों में पूर्व मंत्री की पुत्रवधू के चाचा पर लगाया है. और दोनों लोगो पर मुदकमा (FIR) दर्ज कराया गया है.

SHARE THIS:

बागपत. उत्तर प्रदेश के बागपत (Baghpat) जिले में शुक्रवार को पूर्व दर्जा प्राप्त मंत्री और बीजेपी नेता (BJP Leader) डॉ आत्माराम तोमर (Atmaram Tomar) की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. जानकारी के अनुसार वो अपने घर में अकेले रहते थे. डॉ आत्माराम तोमर की गला घोंट कर हत्या (Murder) किए जाने की आशंका जताई जा रही है. घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर घटना की छानबीन शुरू कर दी है. वारदात के बाद बदमाश तोमर की स्कोर्पियो गाड़ी भी ले गए. डॉ आत्माराम तोमर के बिजरोल रोड स्थित आवास पर बीजेपी नेताओं का जमावड़ा हुआ है.

परिजनों ने तौलिये से गला दबाकर हत्या किये जाने की आशंका जताई है. पुलिस को घटनास्थल से कुछ दूरी पर लगे सीसीटीवी फुटेज से कई अहम सुराग हाथ लगे हैं. जिसमें दो संदिग्ध पूर्व मंत्री के आवास के बाहर दिखाई दिए हैं. एसपी बागपत नीरज कुमार जादौन के मुताबिक परिजनों ने पुत्रवधू के चाचा पर हत्या का शक जताते हुए मुकदमा दर्ज कराया है. बताया जा रहा है कि पैसों के लेनदेन में हत्या की आशंका जताई जा रही है. फिलहाल पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपियों और गाड़ी की तलाश शुरू कर दी है.

गला दबाकर हत्या की आशंका
दरअसल पूरा मामला कोतवाली बड़ौत इलाके के बिजरौल रोड का है. जहां पूर्व मंत्री बीजेपी के कद्दावर नेता आत्माराम तोमर का शव बंद कमरे में मिला है. शव के पास ही एक तौलिया पुलिस को बरामद हुआ है, जिससे गला दबाकर हत्या की आशंका है. उधर सूचना पर मृतक डॉ. आत्मराम तोमर के बेटा डॉ. प्रताप भी मौके पर पहुंचे. फिलहाल मौत या फिर हत्या का कारण पता नहीं चल सका है. घटना के बाद परिजनों में भी कोहराम मच हुआ है. बता दें कि डॉ आत्माराम तोमर छपरौली से बीजेपी की टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं. तोमर जनता वैदिक इंटर कालिज बड़ौत के प्रधानाचार्य भी रह चुके थे. 1997 में डॉ आत्माराम तोमर गन्ना संस्थान के उपाध्यक्ष (राज्य मंत्री स्तर) पर रहे थे.

सीसीटीवी फुटेज में नजर आए दो संदिग्ध
एसपी बागपत नीरज कुमार जादौन ने बताया कि परिजनों में पूर्व मंत्री की पुत्रवधू के चाचा पर लगाया है. और दोनों लोगो पर मुदकमा दर्ज कराया गया है. उन्होंने बताया कि पैसों के लेनदेन में हत्या की आशंका जताई जा रही है. फिलहाल पुलिस पूरे प्रकरण की कई एंगल से जांच कर रही है. साथ ही चोरी हुई गाड़ी की भी तलाश की जा रही है. हालांकि पुलिस को मौके से एक सीसीटीवी फुटेज बरामद हुआ है. जिसमे कुछ संदिग्ध देख गए है. उसकी भी पुलिस जांच कर रही है.

Baghpat News: ड्यूटी पर जा रहे सिपाही के सीने में मारी गोली, गंभीर हालत में गाजियाबाद रेफर

बागपत में अज्ञात बदमाशों ने सिपाही को मारी गोली

Baghpat Crime News: गम्भीर रूप से घायल सिपाही को गाजियाबाद के यशोदा हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. वहीं पुलिसकर्मी पर हुए जानलेवा हमले की घटना से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया और एसपी सहित कई थानों की फ़ोर्स मौके पर पहुंची

SHARE THIS:

बागपत. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बागपत (Baghpat) में बेखौफ बदमाशों ने डायल 112 पर तैनात पुलिसकर्मी को गोली मार दी और मौके से फरार हो गये. घटना के समय सिपाही बाईक से ड्यूटी पर जा रहा था, तभी अज्ञात बदमाशों ने उस पर हमला किया और चेस्ट में गोली मार दी. गोली लगने से  गम्भीर रूप से घायल सिपाही को गाजियाबाद के यशोदा हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. वहीं पुलिसकर्मी पर हुए जानलेवा हमले की घटना से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया और एसपी सहित कई थानों की फ़ोर्स मौके पर पहुंची.

दरअसल, घटना खेकड़ा-बंदपुर मार्ग की है, जहां डायल 112 पर तैनात अरुण नाम के एक सिपाही को बदमाशों ने उस वक्त गोली मार दी गई, जब वह ड्यूटी पर जा रहा था. जिसकी जानकारी लगते ही बागपत एसपी नीरज जादौन सहित एएसपी व कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई और सिपाही अरुण को घायल हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया. लेकिन सिपाही की गंभीर हालत को देखते हुए गाज़ियाबाद के यशोदा हॉस्पिटल के लिए रेफर कर दिया. सिपाही की हालत बेहद नाजुक बनी हुई है.

खुलासे के लिए कई टीमें लगीं
उधर इस वारदात के बाद से पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है. खुद मेरठ जोन के आईजी प्रवीण कुमार ने बुधवार देर रात घटनास्थल का निरीक्षण किया. एसपी नीरज जादौन के मुताबिक सिपाही के होश में आने के बाद ही घटना औए बदमाशों की संख्या के बारे में स्पष्ट हो पायेगा. फिलहाल आस-पास के सीसीटीवी को खंगाला जा रहा है और मामले की तफ्तीश भी की जा रही है. कई टीमों को इस केस में लगा दिया गया है.

Weather Update: UP के 15 जिलों में तेज बारिश की संभावना, बागपत-गाजियाबाद के लिए Orange Alert

UP News: पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई जिलों में आज दोपहर के बाद बारिश की संभावना है.

UP Weather News: मौसम विभाग ने बागपत और गाजियाबाद के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. यहां 87 किलोमीटर प्रति घण्टे की रफ्तार से हवा चल सकती है. कई इलाकों में तेज बारिश भी हो सकती है.

SHARE THIS:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में आज मौसम विभाग (Meteorological Department) ने मौसम को लेकर ताजा अनुमान (Weather Forecast) जारी किया है. इसके मुताबिक, आज पश्चिमी यूपी के कई जिलों में बारिश और तेज हवा के चलने की संभावना है. अनुमान के मुताबिक, दोपहर दो बजे तक पश्चिमी यूपी और ब्रज क्षेत्र के कई जिलों में बारिश हो सकती है. जिन जिलों में बारिश की संभावना जताई गयी है वे जिले शामली, गाजियाबाद, नोएडा, बुलंदशहर, मेरठ, हापुड़, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, सहारनपुर, मथुरा, हाथरस, आगरा, कन्नौज, मैनपुरी और फर्रूखाबाद हैं.

इन जिलों में कई जगहों पर 60 किलोमीटर प्रति घण्टे की रफ्तार से हवा के तेज झोंकों के चलने की संभावना जताई गयी है. इसके अलावा बागपत और गाजियाबाद में मौसम ज्यादा खराब होने की आशंका जताई गयी है. मौसम विभाग ने इन दोनों जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. बागपत और गाजियाबाद में दोपहर तक 87 किलोमीटर प्रति घण्टे की रफ्तार से हवा चल सकती है. साथ ही जिलों में कई इलाकों में तेज बारिश भी हो सकती है.

बारिश के दौरान लोगों को घरों से बाहर न निकलने की सलाह दी गयी है. अभी तक के अनुमान के मुताबिक पूर्वी यूपी के जिलों में फिलहाल बारिश की संभावना ना के बराबर है. पिछले 24 घण्टे के दौरान प्रदेश के एक दो जिलों में ही बारिश रिकार्ड की गयी है. अलीगढ़, आगरा, मेरठ, झांसी और बांदा में बारिश दर्ज की गयी है.

प्रदेश के लगभग सभी शहरों में दिन का अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस के नीचे ही दर्ज किया गया है. रात का न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस के नीचे दर्ज किया जा रहा है. अगले पांच दिनों के मौसम का अनुमान जारी करते हुए विभाग ने बताया है कि पूरे प्रदेश में अलग अलग स्थानों पर बारिश होती रहेगी. बादलों की आवाजाही लगी रहेगी.

बागपत: युवक-युवती ने फिल्मी अंदाज में एक-दूसरे पर ताना तमंचा, फोटो वायरल होने पर केस दर्ज

सोशल मीडिया में तस्वीरें वायरल होने के बाद युवती की भाभी की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है

Uttar Pradesh News: वायरल तस्वीरों में युवक और युवती ने फिल्मी स्टाइल में एक-दूसरे पर तमंचा ताने हुए फोटो शूट करवाया जिसके बाद उन्होंने इसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया. तस्वीरों में लड़की ने लड़के पर अलग-अलग अंदाज में तमंचा तान रखा है जबकि किसी में युवक ने युवती पर पर तमंचा लगा रखा है

SHARE THIS:

बागपत. उत्तर प्रदेश के बागपत (Baghpat) में एक युवक और युवती की तमंचे के साथ फोटो वायरल (Photo Viral) हो रही है. वायरल तस्वीरों में युवक और युवती ने फिल्मी स्टाइल (Film Style) एक-दूसरे की कनपटी पर तमंचा तान रखा है. फोटो में दिख रहे युवक और युवती प्रेमी-प्रेमिका बताये जा रहे हैं. घटना जिले के बड़ौत कोतवाला क्षेत्र के बिजरौल गांव की है. मामला सामने आने के बाद पुलिस इसकी पड़ताल में जुट गई है.

वायरल तस्वीरों में युवक और युवती ने फिल्मी स्टाइल में एक-दूसरे पर तमंचा ताने हुए फोटो शूट करवाया जिसके बाद उन्होंने इसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया. तस्वीरों में लड़की ने लड़के पर अलग-अलग अंदाज में तमंचा तान रखा है जबकि किसी में युवक ने युवती पर पर तमंचा लगा रखा है.

वायरल हो रही इन तस्वीरों को देखते से पता चलता है कि यह सर्दियों के दौरान ली गई हैं. युवती व उसका प्रेमी असलहे के साथ मौज-मस्ती करते हुए एक-दूसरे की कनपटी पर तमंचा तान रहे हैं. इतना ही नहीं दोनों पिस्टल थामे हुए हाथ ऊपर कर खड़े हुए हैं जैसे कोई अपराधी पुलिस के सामने सरेंडर कर रहा हो.

इन वायरल तस्वीरों को देखकर युवती की भाभी ने बड़ौत कोतवाली में शिकायत की है जिसके आधार पर पुलिस मामला दर्ज कर युवती और उसके प्रेमी की तलाश में जुट गई है. कोतवाली बड़ौत के इंस्पेक्टर शिव प्रकाश चौहान ने कहा कि दोनों को गिरफ्तार करने के लिए टीमें लगाई गई है. जल्द ही युवक और युवती को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

बागपत: रेप पीड़िता की मां ने एसपी ऑफिस के बाहर की खुद को जलाने की कोशिश, पुलिस ने बचाया

महिला को वहां मौजूद लोगों और पुलिस वालों ने बचाया. सांकेतिक फोटो.

UP Crime News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बागपत एसपी ऑफिस पहुंची महिला ने अपने ऊपर पेट्रोल (Petrol) उड़ेलकर आत्मदाह करने का प्रयाश किया.

SHARE THIS:

बागपत. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बागपत एसपी ऑफिस पहुंची महिला ने अपने ऊपर पेट्रोल (Petrol) उड़ेलकर आत्मदाह करने का प्रयाश किया. महिला जब पेट्रोल डाल रही थी तो मौके पर मौजूद अन्य लोगों और पुलिस ने उसके हाथ से बोतल छीन ली, जिससे महिला की जान बच गई, जिसके बाद स्थानीय पुलिस ने महिला की समस्या सुनी और उसको समझा बुझाकर शांत किया. महिला का आरोप है कि उसकी बेटी के साथ दुष्कर्म (Rape) हुआ था, जिसमें पुलिस ने एक आरोपी को जेल भेज दिया है. जबकि अन्य आरोपी फरार हैं.

महिला का आरोप है कि फरार आरोपी और उनके परिजन पीड़ित पक्ष पर फैसले का दबाव बना रहे हैं और फैसला न करने की स्तिथि में झूठे मुकदमे में फसाने की धमकी दे रहे हैं. जिसकी शिकायत पीड़ित महिला और परिजनों ने पुलिस से की तो बिनोली पुलिस ने मामले को टाल दिया. उसी से परेशान महिला शनिवार को परिजनों के साथ एसपी ऑफिस पहुचीं और आत्महत्या करने का प्रयाश किया.

19 दिन पहले हुई थी रेप की घटना
महिला बिनौली थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली है, जिसकी बेटी के साथ बीती 9 तारीख को पड़ोसी युवकों द्वारा दुष्कर्म का आरोप लगा था, जिसमें पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. जबकि मामले में अन्य आरोपी फरार चल रहे हैं. पीड़ित महिला का आरोप है कि गिरफ्तार हुए आरोपी के परिजन और फरार आरोपी उन पर फैसले का दबाव बना रहे हैं. फैसला न करने पर जान से मारने की धमकी और फर्जी मुकदमे में फंसाने की बात कही जा रही है. जिसकी शिकायत उन्होंने बिनौली थाना पुलिस से की लेकिन पुलिस ने मामले में सुनवाई नहीं की. कार्रवाई न होने से परेशान और आरोपियों के डर से सहमी महिला एसपी ऑफिस पहुंची और उसने आत्मघाती कदम उठाया.

बागपत: रेलवे अंडरपास में डूब गई SUV, छत पर चढ़कर मालिक ने बचाई जान, Video Viral

UP: बागपत में एक अंडर पास में डूबी एसयूवी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

Baghpat News: बारिश के बाद बागपत के तमाम रेलवे अंडर पास तालाब में तब्दील हो गए हैं. अंडर पास में 7 से 10 फीट तक खड़ा पानी भरा हुआ है, जिससे कई गांवों का लिंक हाईवे से टूट गया है.

SHARE THIS:

बागपत. उत्तर प्रदेश बागपत (Baghpat) में रेलवे अंडरपास में एक एसयूवी कार डूबने का वीडियो सोशल मीडिया (Viral Video) पर वायरल हो रहा है. वायरल वीडियो में एसयूवी अंडरपास में भरे पानी में डूब गई, जिसके बाद मालिक अपनी जान बचाने के लिए एसयूवी से निकलकर उसकी छत के ऊपर बैठ गया. अब अंडरपास में डूबी एसयूवी का ये वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है.

एसयूवी डूबने का मामला रमाला थाना के जीवाना रेलवे अंडर पास में समाने आया है. यहां एक एसयूवी सवार अपनी कार को रेलवे अंडरपास से निकाल रहा था. लेकिन अंडर पास में पानी ज्यादा होने के कारण एसयूवी बीचों-बीच पानी में फंस गई और बंद हो गई. जिसके बाद किसी तरह से चालक ने एसयूवी से बाहर निकल कर जान बचाई.

एसयूवी पानी मे फंसने के बाद वह कार के ऊपर बैठ गया और गांव में फोन कर हादसे के बारे में जानकारी दी. इसके बाद ग्रामीण मौके पर पहुंचे और कार को ट्रैक्टर की मदद से पानी से बाहर निकाला गया.

बता दें बारिश के बाद बागपत के तमाम रेलवे अंडर पास तालाब में तब्दील हो गए हैं. अंडर पास में 7 से 10 फीट तक खड़ा पानी भरा हुआ है, जिससे कई गांवों का लिंक हाईवे से टूट गया है. अंडर पास में पानी भरा होने के कारण वाहनों का आवागमन पूरी तरह से रुक गया है. कल भी यही हुआ एक फॉर्च्यूनर कार सवार अपनी कार में सवार होकर जीवाना गांव जा रहा था. तभी अंडरपास में पानी ज्यादा भरा होने के कारण कार अचानक से अंडर पास में बीच-बीच फंस गई और बंद हो गई.

जिसके बाद किसी तरह से कार से बाहर निकलकर ड्राइवर ने जान बचाई और ग्रामीणों को घटना की जानकारी दी. आरोप है कि बारिश होने के बाद हर बार रेलवे अंडर पास तालाब में तब्दील हो जाते हैं. लेकिन शिकायत के बावजूद भी रेल विभाग ग्रामीणों की समस्या सुनने को तैयार नहीं है.

बागपत: मंदिर के बाहर चिकन-बिरयानी बेचने पर जमकर हंगामा, श्रद्धालुओं की बस पर पथराव के बाद तनाव

बागपत: मंदिर के बाहर चिकन-बिरयानी बेचने पर जमकर हंगामा

एसपी (SP) नीरज कुमार का कहना है की जैन शिकंजी और चिकन बिरयानी लिखा होने के कारण दो पक्षों में विवाद हो गया है. फिलहाल पुलिस मामले में तहरीर के आधार पर कार्रवाई करेगी.

SHARE THIS:

बागपत. उत्तर प्रदेश के बागपत (Baghpat) में खेकड़ा थानाक्षेत्र के बड़ागांव में रविवार देर शाम मंदिर के बाहर बिरयानी बेचने को लेकर जमकर हंगामा हो गया. बात गाली-गलौज से मारपीट तक जा पहुंची. बताया जा रहा कि रेहड़ी संचालक ने अपने गांव से दर्जनों साथियों को बुला लिया और श्रद्धालुओं की बस पर पथराव कर दिया. कई यात्रियों को मामूली चोट आई. सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन इससे पहले ही आरोपी वहां से फरार हो गए. पुलिस ने गांव के तकरीबन एक दर्जन युवकों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है.

मामला खेकड़ा थाना क्षेत्र के बड़ागांव का है. जानकारी के अनुसार, बड़ागांव स्थित श्री पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर में रविवार को भगवान पार्श्वनाथ के निर्वाण महोत्सव कार्यक्रम का आयोजन हुआ. इसमे दूर-दराज से आए महिला-पुरुष श्रद्धालुओं ने बढ़-चढ़कर भाग लिया. भगवान पार्श्वनाथ की पालकी यात्रा निकालकर निर्वाण लाडू चढ़ाया गया. मंदिर के बाहर बड़ागांव का एक विशेष समुदाय का युवक ठेले पर जैन शिकंजी का बैनर लगाकर चिकन-बिरयानी बेच रहा था. इसका पता लगने पर बड़ौत से आए कुछ श्रद्धालुओं ने इसका विरोध किया, तो आरोपी ने उनके साथ मारपीट कर दी.

वाराणसी के कमिश्नर की अनोखी पहल, ‘चपरासी’ को बगल में बैठाकर करवाया झंडारोहण

इसके कुछ देर बाद आरोपी ने गांव से अपने दर्जनों साथियों को बुलाकर लाया और उनके साथ मिलकर श्रद्धालुओं की बस पर पथराव करने के साथ ही आग लगाने का प्रयास किया. पथराव में श्रद्धालुओं की बस छतिग्रस्त हो गई. सूचना मिलने पर एसपी बागपत नीरज कुमार मौके पर पहुंचे और भारी पुलिस बल के साथ घटनास्थल का जायजा लिया. एसपी नीरज कुमार का कहना है की जैन शिकंजी और चिकन बिरयानी लिखा होने के कारण दो पक्षों में विवाद हो गया है. फिलहाल पुलिस मामले में तहरीर के आधार पर कार्रवाई करेगी. एसपी के मुताबिक जांच पड़ताल के बाद आरोपियो की गिरफ्तारी की जाएगी. मौके पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है.

Baghpat News: ग्रामीणों ने दी सामूहिक पलायन की चेतावनी, लगाया मकान बिकाऊ है का बोर्ड

बागपत में ग्रामीणों ने लगाया घर बिकाऊ है का बोर्ड

UP News: ग्रामीणों ने बताया कि वह डीएम से लेकर तमाम अधिकारियों से शिकायत कर चुके हैं, लेकिन मामले में अभी तक सुनवाई नहीं हुई है. जलभराव और गंदगी के कारण कॉलोनी में महामारी फैल रही है. बच्चे और जवान तमाम लोग बीमार हो रहे हैं.

SHARE THIS:

बागपत. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बागपत (Baghpat) जनपद के तूगाना गांव में जल निकासी न होने से परेशान ग्रामीणों ने सामूहिक पलायन (Mass Exodus) करने की चेतावनी दी है. साथ ही ग्रामीणों ने मकानों के गेट पर घर बिकाऊ है का बोर्ड लगा दिया है. आरोप है कि पिछले कुछ  महीनों से कॉलोनी में जलभराव हो रहा है और कीचड़ जमा हो गया है. जिससे कॉलोनी में रहना भर हो गया है. तमाम दुश्वारियों के चलते ग्रामीणों ने गांव से पलायन करने की चेतावनी दी है और मकान बिकाऊ है का पोस्टर चस्पा कर दिया है.

ग्रामीणों ने बताया कि वह डीएम से लेकर तमाम अधिकारियों से शिकायत कर चुके हैं, लेकिन मामले में अभी तक सुनवाई नहीं हुई है. जलभराव और गंदगी के कारण कॉलोनी में महामारी फैल रही है. बच्चे और जवान तमाम लोग बीमार हो रहे हैं. जलभराव और गंदगी के कारण स्किन डिजीज फैल रही है. बच्चे और बुजुर्ग बीमारियों से बेहाल है.आरोप यहां तक है कि पानी में सांप और बिच्छू जैसे जानवर बहकर आ रहे हैं जिनके काटने से दो लोगों की मौत हो चुकी है.

नहीं हो रही कोई सुनवाई
मामला छपरौली थाना के तुंगाना गांव का है, जहां कश्यप समाज के एक दर्जन से ज्यादा लोगों ने अपने मकानों पर मकान बिकाऊ है का बोर्ड लगा दिया है. मकान बिकाऊ है का बोर्ड लगाने वाले लोगों में संजीव, नरेश, प्रदीप आदि दर्जनों लोग शामिल है. उनका कहना है कि गांव में पानी की निकासी नहीं हो पा रही है, जिससे कि कॉलोनी में कीचड़ और जलभराव की स्थिति बनी हुई है. कॉलोनी में आने जाने के लिए कोई दूसरा रास्ता नहीं है, जिस कारण जलभराव से होकर गुजरना पड़ता है. ग्रामीण परेशान है, लेकिन शिकायत के बावजूद भी उनकी सुध लेने वाला कोई नहीं है. जिस से आहत होकर ग्रामीणों ने गांव से पलायन की चेतावनी देते हुए मकान बिकाऊ है का बोर्ड लगा दिया है.

बागपत: पृथ्वीराज चौहान को लेकर राजपूत और गुर्जर समाज में छिड़ा विवाद, जानिए पूरा मामला

बागपत में इस बोर्ड को लेकर गुर्जर समाज और राजपूत समाज में विवाद छिड़ गया है.

Baghpat News: यूपी के बागपत में सम्राट पृथ्वीराज चौहान को लेकर राजपूत और गुर्जर समाज के लोगों में विवाद छिड़ गया है. मामले में जिला प्रशासन मध्यस्थता कराने में जुटा है.

SHARE THIS:

बागपत. उत्तर प्रदेश के बागपत में सम्राट पृथ्वीराज चौहान (Prithvi Raj Chauhan) को गुर्जर (Gurjar) लिखने पर राजपूत समाज (Rajput Community) और गुर्जर समाज में विवाद छिड़ गया है. पहले गुर्जर समाज ने गांव के बाहर बोर्ड लगाते हुए पृथ्वीराज चौहान को गुर्जर सम्राट लिखा. जिसके बाद राजपूत समाज के लोग बागपत (Baghpat) पहुंचे और एडीएम से मामले की शिकायत की. एडीएम ने आज गुर्जर समाज के लोगों को बुलाकर समझाया बुझाया, जिसके बाद गुज्जर समाज के लोगों ने गांव के बाहर से बोर्ड हटाने की बात कही है.

एडीएम ने बताया के एक पक्ष को समझाकर गांव के बाहर से बोर्ड हटाने के लिए कहा गया है. वहीं गुर्जर समाज के अध्यक्ष हरीश गुर्जर ने कहा कि आपत्ति है तो वो होर्डिंग हटा लेंगे लेकिन सम्राट पृथ्वीराज चौहान गुर्जर राजा थे. जिसका उल्लेख इतिहास में भी है और उनके पास इसका पुख्ता प्रमाण है.

यह पूरा मामला शहर कोतवाली क्षेत्र के पावला गांव से जुड़ा हुआ है. जहां गांव के बाहर सम्राट पृथ्वीराज चौहान को गुर्जर सम्राट बता कर एक बोर्ड लगाया गया. जिसके फोटो वायरल होने के बाद बागपत राजपूत समाज के लोग एडीएम से मिले और पृथ्वीराज चौहान को गुज्जर लिखने पर आपत्ति जताई. मामला उलझता देख जिला प्रशासन ने दोनों पक्षों के लोगों को बुलाकर बात की और गुर्जर समाज के लोगों से बोर्ड हटाने की अपील की.

एडीएम अमित कुमार ने बताया कि आज गुर्जर समाज के लोग उनसे मिलने आए थे, जिस पर उन्होंने उन्हें समझा-बुझाकर गांव के बाहर से बोर्ड हटवाने के लिए निर्देश दिए हैं. हालांकि गुज्जर समाज अभी भी अपनी बात पर अड़ा हुआ है और वह सम्राट पृथ्वीराज को गुर्जर सम्राट बता रहे हैं. जबकि राजपूत समाज के लोग पृथ्वी राज चौहान को राजपूतों का राजा बता रहे हैं. फिलहाल मामले पर विवाद जारी है और एडीएम ने बोर्ड हटवाने के निर्देश जारी कर दिए हैं.

UP News: बागपत में इंस्पेक्टर समेत 11 पुलिसकर्मी के खिलाफ FIR, 10 लाइन हाजिर

बागपत में इंस्पेक्टर समेत 11 पुलिसकर्मी के खिलाफ FIR

इसके बाद पुलिस (Police) ने युवक अक्षय के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया और दबिश देने गयी पुलिस ने युवक के परिजनों के साथ गाली गलौज की.

SHARE THIS:
बागपत. यूपी के बागपत (Baghpat) के रंछाड़ गांव में युवक की मौत के मामले में मंगलवार को एसपी अभिषेक सिंह ने बड़ा एक्शन लिया है. एसपी ने युवक के घर दबिश देने गए 11 पुलिसकर्मियों (Policeman) पर मुकदमा दर्ज करते हुए लाइन हाजिर कर दिया है. मृतक के परिजनों का आरोप है कि इन तमाम पुलिसकर्मियों ने घर जाकर दबिश दी थी और महिलाओं के साथ गाली गलौज बदतमीजी की थी, जिससे डर कर बीए के छात्र युवक ने खेतों में जाकर फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया. एसपी की कार्रवाई के बाद ही मृतक के परिजनों ने शव को मौके से उठने दिया. जिसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है और मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है. वहीं बिनौली थाना इंस्पेक्टर सहित तमाम 11 पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया है जिसकी जांच जारी है.

बता दें कि बिनौली थाना क्षेत्र के रंछाड़ गांव में सोमवार को एक युवक और पुलिसकर्मियों में वैक्सीन सेंटर पर मारपीट हुई थी. उसका वीडियो भी वायरल हो रहा था. इसके बाद पुलिस ने युवक अक्षय के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया और दबिश देने गयी पुलिस ने युवक के परिजनों के साथ गाली गलौज की. इस दौरान युवक अक्षय मौके से फरार हो गया और गिरफ्तारी के डर से जंगल मे खेत में जाकर फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया.

BSP ने अखिलेश यादव को क्‍यों बताया पिछलग्‍गू?

जिसके बाद परिजनों ने मृतक युवक का शव उठने नहीं दिया और आरोपी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग की. इसके बाद आज सुबह अक्षय के पिता श्रीनिवास की तहरीर पर इंस्पेक्टर चंद्रकांत पांडेय, एसएसआई उधम सिंह तालान, कांस्टेबल सलीम, अश्वनी, रंगरूट मुरली के खिलाफ कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया. पांचों पुलिसकर्मियों समेत 10 को लाइन हाजिर भी किया गया. इस कार्रवाई के बाद ग्रामीण शांत हुए. उधर, पुलिस ने अक्षय के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

कारगिल विजय दिवस: शहीद कैप्टन विजयंत थापर की पहली और अंतिम चिट्ठी आप की आंखों को कर देगी नम

कारगिल विजय दिवस:शहीद कैप्टन विजयंत थापर की पहली और अंतिम चिट्ठी आप के आंखों को कर देगी नम

तृप्ता थापर बताती हैं कि बचपन में रोबिन को उसके पापा ने 100 रुपये पॉकेट खर्च दिए थे, जिसे उसने बगीचे में रहने वाली एक औरत को दे दिया था, उसके पापा को यह बात पता चली तो पूछने पर उसने बताया था कि उसके पैसे किसी के भलाई के लिए जा रहे हैं.

SHARE THIS:
नोएडा: रोबिन एयरफोर्स में जाना चाहता था लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था, इसलिए वो भारतीय सेना में भर्ती हो गया. जन्म के बाद से ही वह टैंक, आर्मी ऑफिसर से घिरा रहता था. रोबिन हमारे परिवार की चौथी पीढ़ी थी जो भारतीय सेना में सेवा दे रहा था. यह कहना है कारगिल शहीद कैप्टन विजयंत थापर की माता तृप्ता थापर का.

सेवा के छः महीने में ही देश के लिए न्यौछावर हो गए कैप्टन विजयंत
कैप्टन विजयंत थापर के भारतीय सेना में भर्ती हुए छः महीने ही हुई थे, जब साल 1999 में पाकिस्तान के नापाक मनसूबों के कारण कारगिल युद्ध छिड़ गया. विजयंत थापर भारतीय सेना के 2 राजपूताना राइफल में तैनात थे. थापर आईएमए ( इंडियन मिलिट्री एसोसिएशन) से तुरंत पास हुए थे और कारगिल में उन्हें जाना पड़ा था. सेवा निवृत शिक्षिका तृप्ता थापर बताती है कि कारगिल युद्ध जब छिड़ा था उस दौरान मोबाइल फोन का जमाना नहीं था, टीवी भी लोगों के घरों में कम ही होते थे. आईएमए से जब विजयंत निकला तो हमें ( विजयंत के पिता, माता और छोटा भाई) को पता ही नहीं था मेरा बेटा कारगिल में दुश्मनों से लोहा ले रहा है. तृप्ता थापर बेटे को याद करते हुए बताती हैं कि जब सुबह हुई तो हमें अखबार के माध्यम से पता चला कि कारगिल युद्ध में पहली फतह पाने वाला किसी नौजवान कैप्टन की टीम है, पूरी खबर पढ़ने के बाद पता चला कि वह नौजवान कैप्टन मेरा बेटा विजयंत था.

काफी अच्छे तैराक थे कैप्टन विजयंत
विजयंत को चुनौती स्वीकार करना और उसको पूरा करना काफी पसंद था, एक बार विजयंत के पिता ने मजाक में बोला कि स्विमिंग पूल में क्या तुम 50 राउंड तैर सकते हो? विजयंत ने उस चुनौती को स्वीकार किया और ओलंपिक के आकार के स्विमिंग पूल को 50 राउंड तैर कर पार किया. उसकी आंखे लाल हो गई थी लेकिन उसने अपने टास्क को पूरा किया.

आत्मबल के पक्के मगर दयालु थे कैप्टन
कारगिल शहीद विजयंत आत्मबल से काफी मजबूत थे इसका उदाहरण देश ने कारगिल युद्ध में उनके रण कौशल के रूप में देखा था. लेकिन आग उगलती मशीनगन के सामने निडरता से चलने वाला कैप्टन दयालु भी था. तृप्ता थापर बताती हैं कि बचपन में रोबिन को उसके पापा ने 100 रुपये पॉकेट खर्च दिए थे, जिसे उसने बगीचे में रहने वाली एक औरत को दे दिया था, उसके पापा को यह बात पता चली तो पूछने पर उसने बताया था कि उसके पैसे किसी के भलाई के लिए जा रहे हैं.

चिट्ठी जिसमे लिखा था क‍ि‍ जब तक आपको यह चिट्ठी मिलेगी मैं कही दूर से आपको देख रहा होऊंगा.

अपने बेटे की पहली और अंतिम चिट्ठी को हाथ में लेकर तृप्ता कहती है कि हमने विजयंत का नाम भारतीय सेना के टैंक के नाम पर रखा था, विजयंत का मतलब होता है अंतिम तक विजयी रहना, नाम के अनुरूप ही विजयंत ने शुरुआत जीत से की और अंत तक विजयी रहा. वह कहती है कि शायद मेरे बेटे को अंदाजा लग गया था कि वह शहीद हो जाएगा, इसलिए उसने एक चिट्ठी अपने दोस्त को दी थी, जिसमें उसने लिखा था. प्यारे मम्मी-पापा, बर्डी और ग्रैनी जब तक आप लोगों को यह पत्र मिलेगा, मैं ऊपर आसमान से आप को देख रहा होऊंगा और अप्सराओं के सेवा-सत्कार का आनंद उठा रहा होऊंगा. मुझे कोई पछतावा नहीं है कि जिन्दगी अब खत्म हो रही है, बल्कि अगर फिर से मेरा जन्म हुआ तो मैं एक बार फिर सैनिक बनना चाहूंगा और अपनी मातृभूमि के लिए मैदान-ए-जंग में लडूंगा.

अगर हो सके तो आप लोग उस जगह पर जरूर आकर देखिए, जहां आपके बेहतर कल के लिए हमारी सेना के जांबाजों ने दुश्मनों से लोहा लिया था. जहां तक इस यूनिट का सवाल है, तो नए आने वालों को हमारे इस बलिदान की कहानियां सुनाई जाएंगी. मेरे आने वाले पैसों में से कुछ हिस्सा अनाथालय को भी दान कीजिएगा और रुखसाना को भी हर महीने 50 रु. देते रहिएगा (रुखसाना एक पांच-छह साल की बच्ची ​थी, जिसके माता-पिता एक आतंकी हमले में मारे गए थे, इसके बाद उसकी आवाज चली गई थी, लेकिन विजयंत थापर से मिलने के बाद उसकी आवाज पांच महीनों में वापस आ गई थी. विजयंत उस बच्ची को बेटी की तरह प्यार करते थे) और योगी बाबा से भी मिलिएगा.बेस्ट ऑफ लक टू बर्डी.बेस्ट ऑफ लक टू यू ऑल.लिव लाइफ किंग साइज.

नरेश टिकैत ने कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर को बताया 'पिंजरे का तोता', कहा- राजनाथ सिंह करें मध्‍यस्‍थता

भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत

Baghpat News: बागपत पहुंचे BKU नेता नरेश टिकैत ने कहा कि राजनाथ सिंह की बात पर किसान विश्वास करते हैं और उनके द्वारा मध्यस्थता करने पर इस आंदोलन का हल निकल सकता है.

SHARE THIS:
बागपत. भारतीय किसान यूनियन (BKU) नेता नरेश टिकैत (Naresh Tikait) ने केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर (Narendra Tomar) को 'पिंजरे का तोता' बताया है. उन्होंने कहा कि अगर सरकार चाहे तो इस आंदोलन को खत्म करवा सकती है, जिसके लिए उन्होंने राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) से मध्यस्थता कराने की बात कही है. बागपत पहुंचे टिकैत ने कहा कि राजनाथ सिंह की बात पर किसान विश्वास करते हैं और उनके द्वारा मध्यस्थता करने पर इस आंदोलन का हल निकल सकता है. इसके साथ ही उन्होंने साफ कहा कि जब तक कोई समाधान नहीं होता किसान दिल्ली से वापस नहीं लौटेंगे. किसान अपनी पीड़ा लेकर केंद्र सरकार की चौखट पर बैठे हैं, लेकिन सरकार किसानों के साथ बदले की भावना के तहत व्यवहार कर रही है. सरकार लगातार हठधर्मिता दिखा रही है.

नरेश टिकैत ने साफ किया कि भारतीय किसान यूनियन चुनाव नहीं लड़ेगा. उन्होंने कहा कि न तो भारतीय किसान यूनियन और न ही टिकैत परिवार का कोई सदस्‍य चुनाव लड़ेगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि 5 सितंबर को मुजफ्फरनगर में होने वाली महापंचायत में संयुक्त मोर्चा फैसला लेगा कि भारतीय किसान यूनियन किस राजनीतिक दल का समर्थन करेगा और उनके साथ चुनाव में खड़ा होगा.

इसके साथ ही नरेश टिकैत ने दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे कृषि बिल के विरोध में किसान आंदोलन को लेकर भी बड़ा बयान दिया है. दरअसल, यह बयान भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत ने दोघट इलाके में उस वक्त दिया जब ग्रामीणों द्वारा पुलिस के विरोध में एक पंचायत बुलाई गई थी.

Baghpat News: जमीन विवाद में ससुर और बहू के बीच हुआ दंगल, देखिए मारपीट का लाइव Video

जमीन को लेकर ससुर और बहू के बीच काफी दिनों से विवाद चल रहा है.

Baghpat Viral News: यूपी के बागपत जिले में जमीन के विवाद को लेकर ससुर और बहू के बीच लाठी-डंडे के साथ मारपीट का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. कहासुनी से शुरू हुआ यह विवाद कब दंगल में बदल गया, लोगों को पता ही नहीं चला. आप भी देखें Video.

SHARE THIS:
बागपत. पुश्तैनी जमीन का विवाद अक्सर कोर्ट-कचहरी तक पहुंचने के बाद ही खत्म होता है, लेकिन इससे पहले कई बार दो पक्षों के बीच मारपीट और बवाल की खबरें आती हैं. पश्चिमी यूपी के बागपत जिले (Baghpat District) से आई एक ताजा खबर कुछ ऐसी ही है. यहां जमीन पर कब्जा छुड़ाने को लेकर एक बहू और उसके ससुर के बीच मारपीट हो गई. कहासुनी और वाद-विवाद से शुरू हुआ झगड़ा कब दोनों के बीच दंगल में बदल गया, लोगों को पता नहीं चला. देखते ही देखते ससुर अपनी बहू के ऊपर लाठी-डंडा लेकर टूट पड़ा. ससुर और बहू के बीच लाठी-डंडे से हुई इस मारपीट का वीडियो अब वायरल ( Video Viral) हो रहा है.

यह पूरा मामला बागपत जिले के दोघट थाना क्षेत्र का बताया जा रहा है. ससुर और बहू के बीच हुई मारपीट के इस वीडियो में आप देख सकते हैं कि दोनों के बीच कुछ देर तक तो रस्साकशी होती रही, लेकिन बाद में ससुर ने मोटा डंडा लेकर बहू को पीटना शुरू कर दिया. अपने बचाव में बहू ने ससुर के हाथ से लाठी छीनने की कोशिश की, लेकिन नाकाम रही. वीडियो में आप देख सकते हैं कि लड़ाई-झगड़े के दौरान बूढ़ा ससुर लगातार उस महिला के शरीर पर डंडे बरसा रहा है. खेत में हो रही इसी लड़ाई का वीडियो वायरल हो रहा है.


इस मारपीट के बारे में स्थानीय लोगों को कहना है कि यह परिवार की जमीन हड़पने से जुड़ा मामला है. पीड़ित महिला का आरोप है कि उसके पति की मौत के बाद ससुर ने जमीन हड़प ली है. इसी जमीन को वापस करने को लेकर दोनों के बीच लंबे अर्से से विवाद चल रहा है. आज सुबह भी जमीन को लेकर ही दोनों के बीच कहासुनी होने लगी. इसी दौरान ससुर पास में रखा डंडा उठाकर अपनी बहू के ऊपर टूट पड़ा. महिला ने बचने की तमाम कोशिशें की, लेकिन बुजुर्ग ससुर उस पर डंडे बरसाता रहा.

UP: गैंगरेप के बाद दलित युवती का कराया धर्मांतरण, गोमांस भी खिलाने का आरोप, 3 गिरफ्तार

उसने यह भी आरोप लगाया कि शादी करने के बहाने एक साल पहले उसका धर्मांतरण भी कराया गया. (सांकेतिक फोटो)

शादीशुदा शहजाद (Shahzad) नामक 26 वर्षीय युवक ने उसे अपने प्रेमजाल में फंसा लिया और उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया, जिससे वह गर्भवती हो गई. शहजाद के परिजन ने उसका गर्भपात कराने की कोशिश की. गर्भपात कराने का विरोध करने पर जान से मारने की धमकी भी दी गई.

SHARE THIS:
बागपत. उत्तर प्रदेश के बागपत जिले (Baghpat District) में अल्पसंख्यक समुदाय के युवकों पर अनुसूचित जाति की एक लड़की को प्रेम जाल में फंसा कर उससे दुष्कर्म (Rape) करने और उसका जबरन धर्म परिवर्तन (Forced Conversion) कराने का आरोप लगाया गया है. इस मामले में मुख्य आरोपी और उसके माता-पिता को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस सूत्रों ने दर्ज रिपोर्ट के आधार पर सोमवार को बताया कि बागपत कोतवाली क्षेत्र निवासी 15 वर्षीय एक किशोरी ने आरोप लगाया है कि पहले से ही शादीशुदा शहजाद (Shahzad) नामक 26 वर्षीय युवक ने उसे अपने प्रेमजाल में फंसा लिया और उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया, जिससे वह गर्भवती हो गई. शहजाद के परिजन ने उसका गर्भपात कराने की कोशिश की. गर्भपात कराने का विरोध करने पर जान से मारने की धमकी भी दी गई.

लड़की के परिजन का आरोप है कि दबाव बनाने पर शहजाद ने पिछली छह जुलाई को शादी करने के बहाने उनकी बेटी को अपने घर बुलाया और बंधक बना लिया. उनका यह भी आरोप है कि आठ जुलाई को शहजाद के भाई बिलाल और फरमान ने भी उसके साथ दुष्कर्म किया. परिजन का दावा है कि लड़की पिछली 10 जुलाई को अपने घर पहुंची. उस समय वह बहुत डरी हुई थी. तबीयत खराब होने पर दवा लाकर दी गई. गत 17 जुलाई को हालत बिगड़ने पर डाक्टर के पास ले जाने की जिद की तो बेटी ने घटना की जानकारी दी. उसने यह भी आरोप लगाया कि शादी करने के बहाने एक साल पहले उसका धर्मांतरण भी कराया गया और उसे जबरदस्ती गाय का मांस खिलाया गया.

बाकी आरोपियों की तलाश की जा रही है
कोतवाली प्रभारी एन. एस. सिरोही का कहना है कि इस मामले में नामजद सात आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. मुख्य आरोपित शहजाद के अलावा उसकी मां गुलफ्शां और पिता हारुन को रविवार सुबह गिरफ्तार कर लिया गया. बाकी आरोपियों की तलाश की जा रही है.

गाजियाबाद में इस साल भी नहीं बढ़ेंगे सर्कल रेट, जानें नोएडा सहित मेरठ मंडल के इन 5 जिलों का हाल

इस साल भी गाजियाबाद में सर्कल रेट नहीं बढ़ाए जाएंगे. (फाइल फोटो)

Circle rate News: लॉकडाउन (Lockdown) के कारण जिन लोगों का घर खरीदने (Buying Property) का सपना (Dream) अधूरा रह गया था वह अब अपना सपना पूरा कर सकेंगे. अगर आप दिल्ली-एनसीआर के गाजियाबाद (Ghaziabad) में मकान या कोई प्रॉपर्टी खरीदने जा रहे हैं तो आपके लिए खुशखबरी है. इस साल भी गाजियाबाद में सर्कल रेट (Circle Rate) नहीं बढ़ाए जाएंगे.

SHARE THIS:
गाजियाबाद. लॉकडाउन (Lockdown) के कारण जिन लोगों का घर खरीदने (Buying Property) का सपना (Dream) अधूरा रह गया था वह अब अपना सपना पूरा कर सकेंगे. अगर आप दिल्ली-एनसीआर के गाजियाबाद (Ghaziabad) में मकान या कोई प्रॉपर्टी (Property) खरीदने जा रहे हैं तो आपके लिए खुशखबरी है. इस साल भी गाजियाबाद में सर्कल रेट (Circle Rate) नहीं बढ़ाए जाएंगे. गाजियाबाद में हर साल 8 अगस्त को सर्कल रेट घोषित करने की परंपरा है, लेकिन बीते चार सालों से गाजियाबाद में जमीन का सर्कल रेट नहीं बढ़ाए जा रहे हैं. साल 2017, 2018, 2019, 2020 में भी सर्कल रेट नहीं बढ़े थे. 2020 पहले आर्थिक मंदी तो 2020 के बाद कोराना महामारी को देखते हुए यह फैसला लिया गया है. पिछले साल से ही कोरोना के कारण प्रोपर्टी बाजार भी मंदी के कगार पर है. इस साल भी कोरोना के कारण हालात पहले से ज्यादा खराब हो गए हैं.

सर्कल रेट नहीं बढ़ाने के ये हैं कारण
गाजियाबाद प्रशासन का कहना है कि प्रोपर्टी मार्केट पर कोरोना की दूसरी लहर का सीधा असर देखा जा रहा है. हाल ही में गाजियाबाद जिला प्रशासन ने प्रॉपर्टी मार्केट का सर्वे कराया था, जिसमें देखा गया है कि प्रॉपर्टी की डिमांड काफी घट गई है. सर्वे रिपोर्ट जब डीएम के पास भेजी गई तो डीएम ने संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक कर यह फैसला किया कि इस साल भी सर्कल रेट नहीं बढ़ाए जाएंगे.

Ghaziabad circle rates, Circle rates, circle rates intact, Ghaziabad news, Ghaziabad property news, property in ghaziabad, Coronavirus, Covid-19, Lockdown, सर्किल रेट, सर्किल रेट बरकरार, गाजियाबाद सर्किल रेट, गाजियाबाद न्यूज, हापुड़, गौतमबुद्धनगर, बुलंदशहर, मेरठ, बागपत, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, Circle rate will not increase in Ghaziabad this year know these 5 districts of up noida Meerut baghpat hapur nodrss
हाल ही में गाजियाबाद जिला प्रशासन ने प्रॉपर्टी मार्केट का सर्वे कराया था


इन जिलों के भी सर्कल रेट नहीं बढ़ेंगे?
बता दें कि मेरठ मंडल के 6 जिलों में पहले से ही आशियाना मिलना आम इंसान से दूर होता जा रहा है. मेरठ मंडल में गाजियाबाद, हापुड़, गौतमबुद्धनगर, बुलंदशहर, मेरठ और बागपत जिले आते हैं. एक तरफ मेरठ के छह जिलों में जमीन की कीमतें आसमान छू रही हैं तो दूसरी तरफ अगर सर्कल रेट बढ़ जाता है तो लोगों की पहुंच से प्रॉपर्टी खरीदना एक महंगा सौदा होता.

पहले 10 गुना तक सर्कल रेट बढ़ाने की बात हो रही थी
गाजियाबाद में सर्कल रेट नहीं बढ़ने से लोगों के लिए घर बनाना और आसान होगा. कोरोना महामारी के बाद मेरठ मंडल के 6 जिलों में आठ से दस गुना तक सर्किल रेट बढ़ाने की बात की जा रही थी, लेकिन आखिर गाजियाबाद प्रशासन ने सर्कल रेट नहीं बढ़ा कर लाखों घर खरीदने वाले को राहत दी है. इस फैसले से कोरोना महामारी में जनता पर दोहरी मार से कुछ हद तक निजात मिलेगी.

Ghaziabad circle rates, Circle rates, circle rates intact, Ghaziabad news, Ghaziabad property news, property in ghaziabad, Coronavirus, Covid-19, Lockdown, सर्किल रेट, सर्किल रेट बरकरार, गाजियाबाद सर्किल रेट, गाजियाबाद न्यूज, हापुड़, गौतमबुद्धनगर, बुलंदशहर, मेरठ, बागपत, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, Circle rate will not increase in Ghaziabad this year know these 5 districts of up noida Meerut baghpat hapur nodrss
रियल एस्टेट (प्रतीकात्मक तस्वीर)


ये भी पढ़ें: दिल्ली में अब आप भी Google Maps से जान सकेंगे DTC और कलस्टर बसों की रीयल टाइम लोकेशन, जानें कैसे

पहले यह कहा जा रहा था कि हर जिले में आवासीय जमीनों और कमर्शियल लैंड के सर्किल रेट बढाए जाएंगे, लेकिन गाजियाबाद प्रशासन के फैसले से और जिलों में भी प्रॉपर्टी खरीदने वालों को नई उम्मीद जगी है. गाजियाबाद की तरह मेरठ मंडल के अन्य पांच जिलों में भी सर्कल रेट नहीं बढ़ाए जाने की संभावना बढ़ गई है. अब खरीददार सरकारी आवासीय योजनाओं के अलावा निजी बिल्डरों के बनाए मकान को पुराने सर्कल रेट पर ही खरीद सकेंगे.
Load More News

More from Other District