बागपत जेल में सो रहे कैदी की नुकीले हथियारों से गोदकर हत्या, दूसरा गंभीर रूप से घायल
Baghpat News in Hindi

बागपत जेल में सो रहे कैदी की नुकीले हथियारों से गोदकर हत्या, दूसरा गंभीर रूप से घायल
बागपत जेल में एक कैदी की नुकीले हथियार से गोदकर हत्या (फाइल फोटो)

मृतक कैदी का नाम ऋषि पाल बताया जा रहा है जो खेकड़ा थाना क्षेत्र के बसी गांव का रहने वाला था. बताया जा रहा है कि ऋषि मात्र आठ से 10 दिन पहले जिला जेल में आया था. उस पर ग्राम प्रधान पर फायरिंग करने का आरोप था

  • Share this:
बागपत. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बागपत जिला कारागार (जेल) में शनिवार को दिनदहाड़े खूनी संघर्ष हुआ जिसमें कैदियों के एक पक्ष ने दूसरे गुट के कैदी की नुकीले हथियारों से गोदकर निर्मम हत्या (Murder) कर दी. इस हमले में मृतक कैदी का एक साथी गंभीर रूप से घायल हुआ है. घायल कैदी का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है. पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस मामला दर्ज कर पड़ताल में जुट गई है.

बागपत जिला कारागार में हत्या की ये दूसरी वारदात सामने आई है. इससे पहले वर्ष 2018 में पूर्वांचल के डॉन मुन्ना बजरंगी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. और अब बागपत के ही रहने वाले एक कैदी की नुकीले हथियारों से गोदकर हत्या कर दी गई है. जेल में हुई इस हत्या ने एक बार फिर बागपत जिला कारागार की सुरक्षा पर गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं. साथ ही जेल प्रशासन पर भी प्रश्नचिन्ह लगा दिया है कि यहां किस तरह की लचर कानून व्यवस्था है.

8-10 दिन पहले ही आया था जेल
जानकारी के अनुसार, मृतक कैदी का नाम ऋषि पाल बताया जा रहा है जो खेकड़ा थाना क्षेत्र के बसी गांव का रहने वाला था. बताया जा रहा है कि ऋषि मात्र आठ से 10 दिन पहले जिला जेल में आया था. उस पर ग्राम प्रधान पर फायरिंग करने का आरोप था. शनिवार को जब ऋषिपाल अपने साथी के साथ बैरंग में सो रहा था तभी दूसरे पक्ष के कैदियों ने उस पर हमला बोल दिया. हमला करने वालों में आठ से 10 बंदी बताये जा रहे हैं जिन्होंने दोनों को नुकीले हथियारों से घायल कर दिया. इस हमले में ऋषिपाल की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई. वारदात की सूचना मिलते ही बागपत जिले के डीएम और एसपी जिला कारागार पहुंचे और घटनास्थल का मुआयना किया.
बबलू काठा गिरोह पर हमले का आरोप


आरोप है ऋषिपाल की हत्या बबलू काठा गिरोह ने की है. गैंग के लीडर बबलू काठा दर्जन भर से ज्यादा मुकदमों में जेल में बंद है और आजीवन कारावास की सजा काट रहा है. प्रथम दृष्टया युवक की हत्या को उसके गांव की रंजिश से जोड़कर देखा जा रहा है. लेकिन हत्या का कारण क्या है इसका खुलासा पुलिस की पड़ताल के बाद ही हो सकेगा.

ये भी पढ़ें: COVID-19: बाहर से आने वाले 21 दिन होम क्‍वारंटाइन में रहेंगे, घर के आगे लगाया जाएगा 'फ्लायर'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज