अपना शहर चुनें

States

पाकिस्तान की जनंसख्या से ज्यादा हुई हिंदुस्तान में मुस्लिमों की आबादी: साक्षी महाराज

पाकिस्तान की जनंसख्या से ज्यादा हुई हिंदुस्तान में मुस्लिमों की आबादी
पाकिस्तान की जनंसख्या से ज्यादा हुई हिंदुस्तान में मुस्लिमों की आबादी

बीजेपी सांसद साक्षी महाराज (BJP MP Sakshi Maharaj) आगे कहते हैं कि लव जिहाद हिंदू की लड़कियों को गलत नामों से अपने चक्कर में फंसा कर उनसे आतंकी पैदा किए जाते हैं और उन्हें छोड़ दिया जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 18, 2020, 1:54 PM IST
  • Share this:
बागपत. उत्तर प्रदेश के उन्नाव (Unnao) से भाजपा सांसद साक्षी महाराज (BJP MP Sakshi Maharaj) का एक विवादित बयान सामने आया है. शुक्रवार को बागपत (Bagpat) पहुंचे साक्षी महाराज ने कहा कि मुसलमानों का अल्पसंख्यक दर्जा खत्म कर देना चाहिए. उन्होंने दावा करते हुए कहा कि पाकिस्तान की जनंसख्या हिंदुस्तान में मुस्लिमों की आबादी ज्यादा हो गई है. वहीं किसान आंदोलन पर बोलते हुए बीजेपी सांसद ने कहा कि आंदोलन की जगह कृषि बिल के विरोध में कांग्रेस व अन्य दल को कोर्ट जाना चाहिए था. क्योंकि कुछ राजनीतिक दल किसानों के कंधे पर रख कर बंदूक चला रहे.

इससे पहले लव जिहाद पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि लव बहुत अच्छा शब्द है. प्रेम विवाह की परंपरा सृष्टि हुई तब से चली आ रही है. उसमें किसी को कोई आपत्ति नहीं है. लेकिन जिहाद जुड़ने पर वह जहर हो जाता है. फिरोजाबाद पहुंचे बीजेपी सांसद साक्षी महाराज आगे कहते हैं कि लव जिहाद हिंदू की लड़कियों को गलत नामों से अपने चक्कर में फंसा कर उनसे आतंकी पैदा किए जाते हैं और उन्हें छोड़ दिया जाता है. जबकि प्रेम विवाह 99 प्रतिशत सफल होते हैं लेकिन लव जिहाद 99 प्रतिशत असफल होते हैं.

हाथरस कांड: CBI आज कोर्ट में दाखिल करेगी फाइनल रिपोर्ट, पीड़िता के भाई को लेकर जाएगी गुजरात



जबकि लव जिहाद का पैसा विदेशों से आता है. जहां कट्टर हिंदू की लड़की का रेट 11 लाख रुपए है. ब्राह्मण ठाकुर और ओबीसी के अलग-अलग रेट फिक्स है. साक्षी महाराज ने दावा करते हुए कहा कि इसका संचालन मदरसों और मस्जिदों से होता है. साथ ही उन्होंने योगी सरकार द्वारा लाया गए लव जिहाद कानून की सराहना की. उधर, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने लव जिहाद अध्यादेश पर अंतरिम रोक लगाने से इनकार कर दिया है. कोर्ट ने योगी सरकार से 4 जनवरी तक विस्तृत जवाब मांगा है. मामले में अंतिम सुनवाई 7 जनवरी को होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज