दिल्ली पुलिस के जवान का हत्यारा इनामी बदमाश मुठभेड़ में ढेर, यूपी में हुआ इनकाउंटर

 दिल्ली और एनसीआर के विभिन्न क्षेत्रों में लूट एवं हत्या के करीब 19 आपराधिक मामले दर्ज थे. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

दिल्ली और एनसीआर के विभिन्न क्षेत्रों में लूट एवं हत्या के करीब 19 आपराधिक मामले दर्ज थे. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

बागपत में पुलिस की चेकिंग के दौरान पकड़ा गया बदमाश. फायरिंग के जवाब में पुलिस के जवानों ने भी गोलियां चलाईं तो गंभीर रूप से हुआ घायल. अस्पताल में इलाज के दौरान हुई मौत.

  • Last Updated: February 3, 2021, 11:37 PM IST
  • Share this:

बागपत. यूपी और दिल्ली की पुलिस ने एक सिपाही की हत्या के मामले में फरार चल रहे इनामी बदमाश को मुठभेड़ में मार गिराया है. यूपी के इस इनामी बदमाश का नाम जावेद था. वह पिछले साल एक पुलिसकर्मी की हत्या के मामले में वांछित था. दिल्ली पुलिस के जवान की हत्या के आरोपी बदमाश जावेद के ऊपर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था.

पुलिस अधिकारियों ने बुधवार को मुठभेड़ के दौरान जावेद के मारे जाने की सूचना दी. यूपी के बागपत जिले की बड़ौत कोतवाली के प्रभारी पुलिस निरीक्षक अजय कुमार शर्मा ने बताया कि मंगलवार देर रात पुलिस की टीम बिनौली रोड पर जांच कर रही थी. इसी दौरान वहां से गुजर रही एक सेंट्रो कार को रोकने का प्रयास किया गया, लेकिन कार चालक नहीं रुका. पुलिस ने जब कार रुकवाने का प्रयास किया तो उसमें बैठा शख्स पुलिस पर गोलियां चलाते हुए भागने लगा. जवाबी हमले में कार सवार पुलिस की गोली से घायल हो गया, तब उसकी पहचान फरार अपराधी जावेद के रूप में की गई. कोतवाली प्रभारी ने बताया कि बागपत पुलिस ने दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ के साथ मिलकर यह अभियान चलाया.

Youtube Video

शर्मा ने बताया कि पुलिस की कार्रवाई में जावेद गोली लगने से घायल हो गया. जावेद को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. उसके पास से एक पिस्तौल, नौ एमएम की कारबाइन, तथा गोलियां बरामद हुई. उन्होंने बताया कि जावेद ने ही पिछले साल अक्टूबर में सिंघावली थाना क्षेत्र में दिल्ली पुलिस के सिपाही मनीष यादव की हत्या कर दी थी. यह घटना उस वक्त हुई थी जब मेरठ के जानी थाना क्षेत्र के डालूहेड़ा गांव निवासी मनीष दिल्ली से बाइक पर अपने घर लौट रहे थे. इस घटना में जावेद वांछित था. मेरठ पुलिस ने उस पर एक लाख रुपये का पुरस्कार घोषित किया था. जावेद के विरुद्ध दिल्ली और एनसीआर के विभिन्न क्षेत्रों में लूट एवं हत्या के करीब 19 आपराधिक मामले दर्ज थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज