Bahraich news

बहराइच

अपना जिला चुनें

बहराइच के कतर्नियाघाट रेंज में तेंदुए ने तीन साल के बच्चे को बनाया निवाला....

तेंदुए ने अचानक हमला किया (फाइल तस्वीर)

तेंदुए ने अचानक हमला किया (फाइल तस्वीर)

खेत से निकले तेंदुए (Leopard) ने मचान के नीचे वाले तीन साल के मासूम को जबड़े में दबा लिया. उसे निवाला बनाने के बाद तेंदुए ने उसके क्षत-विक्षत शव को कुछ दूरी पर छोड़ दिया

SHARE THIS:
बहराइच. जनपद के कतर्नियाघाट नानपारा रेंज में तेंदुए (Leopard) ने एक तीन साल के बच्चे को निवाला बना लिया. ये हादसा उस वक्त हुआ जब कुछ बच्चे मक्के के खेत के पास मचान पर खेल रहे थे जबकि एक बच्चा मचान के नीचे बैठा था उसी समय खेत से निकल कर आए एक तेंदुए ने अचानक हमला कर दिया और मचान के नीचे बैठे तीन साल के बच्चे को दबोच लिया. तेंदुए के हमले में मासूम की मौत की सूचना पर पहुंची वन विभाग (Forest Department) की टीम ने मौके का मुआयना किया.

लोगों ने शोर मचाते हुए तेंदुए को खदेड़ा
रिपोर्ट के मुताबिक तकरीबन 5-6 बच्चे जब नानपारा रेंज के डल्लापुरवा गांव में एक मचान पर खेल रहे थे उसी दौरान तेंदुए ने हमला किया हमले के वक्त पांच बच्चे लकड़ी के मचान पर बैठे हुए थे. जबकि एक बच्चा मचान के नीचे था. खेत से निकले तेंदुए ने मचान के नीचे वाले तीन साल के मासूम को जबड़े में दबा लिया. उसे निवाला बनाने के बाद तेंदुए ने उसके क्षत-विक्षत शव को कुछ दूरी पर छोड़ दिया और जंगल में चला गया. मासूम की मौत से परिवार में कोहराम मच गया. बुधवार शाम को तेंदुए के हमले की सूचना के बाद डीएफओ के साथ वनकर्मियों ने मौके का मुआयना किया. पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता भी प्रदान की गई है.

तेंदुए के हमले में बच्चे की मौत के बाद पहुंची वन विभाग की टीम ने किया मुआयना


प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक विकल्प (3) पुत्र मोतीलाल मचान के नीचे बैठा था. इसी दौरान मक्के के खेत से तेंदुआ निकल आया. तेंदुए ने तीन वर्षीय मासूम को जबड़े में दबोच लिया और जंगल में ले जाने लगा. इसी दौरान वहां मौजूद विकल्प की बहन ने शोर मचाया. जिसके बाद अन्य लोगों ने शोर मचाते हुए तेंदुए को खदेड़ा इस पर तेंदुआ 40 मीटर की दूरी पर विकल्प को छोड़कर चला गया. लेकिन तब तक मासूम की मौत हो चुकी थी. हमले की सूचना पाकर वन क्षेत्राधिकारी राशिद जमील मौके पर पहुंचे. उन्होंने तेंदुए के हमले की पुष्टि की, स्थानीय पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा. गुरुवार को डीएफओ मनीष सिंह ने वनकर्मियों के साथ मौके का मुआयना किया. डीएफओ ने बताया कि तेंदुए के हमले में मासूम की मौत की पुष्टि हुई है. डब्ल्यूडब्ल्यूएफ की ओर से 10 हजार रुपये परिवारीजनों को आर्थिक सहायता के रूप में दिए गए हैं जबकि स्थानीय प्रशासन ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आपदा राहत कोष से पांच लाख रुपये का मुआवजा दिए जाने का आश्वासन दिया है. कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग से सटे गांवों में तेंदुए के हमले से ग्रामीण अभी उबरे भी नहीं थे. उधर बहराइच वन प्रभाग के गांवों में भी तेंदुए का हमला शुरू हो गया है जिसे लेकर ग्रामीणों में चिंता है.

ये भी पढ़ें- COVID-19: अयोध्या में बच्चों ने तख्तियां लेकर 'CM योगी-PM मोदी' से लगाई ये गुहार

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा बोले- 'हाथ का पंजा नहीं, बजरंग बली का घूंसा दिखाकर लगाएं भारत माता की जय के नारे'

बहराइच में उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने बताया कैसे लगाएं भारत माता की जय के नारे

UP Political News: डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने बहराइच के पयागपुर में एक कॉलेज में हीरक जयंती समारोह को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि भारत माता की जय बोलते समय हाथ खुला रख कर पंजा दिखाकर नहीं बजरंग बली का घूंसा बनाकर जय बोलना है.

SHARE THIS:

बहराइच. उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा ने सोमवार को बहराइच पहुंचकर लोगों से भारत माता की जय के नारे लगवाए. साथ ही उन्होंने कहा कि भारत माता की जय का नारा तभी सही माना जायेगा, जब आप हाथ खोल कर पंजा दिखाते हुए नहीं बजरंग बली वाला घूंसा बनाकर बोलेंगे. उन्होंने कहा कि हाथ के पंजे ने देश पर बहुत दिनों तक शासन किया है. इसने बहुत दिनों तक भ्रष्टाचार को बढ़ावा दिया है. उनका इशारा कांग्रेस की तरफ था.

डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने बहराइच के पयागपुर में एक कॉलेज में हीरक जयंती समारोह को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा “ भारत माता की जय बोलते समय हाथ खुला रख कर पंजा दिखाकर नहीं बजरंग बली का घूंसा बनाकर जय बोलना है. उन्होंने कहा कि घूसा बनाकर भारत माता की जय बोलने का फायदा होता है. डिप्टी सीएम ने दिल्ली की एक घटना का जिक्र करते हुए कहा कि पुलिस ने इसके जरिये भारतीय व पाकिस्तानी की पहचान की.”

ब्राह्मणों के लिए कही ये बात
इस दौरान उप मुख्यमंत्री ने योगी सरकार की उपलब्धियों का जमकर बखान किया। उन्होंने विपक्ष के ब्राह्मण सम्मेलन को भी पूरी तरह खोखला करार दिया. उन्होंने कहा कि “ब्राह्मण एक जाति, नहीं संस्कार है. जीवन जीने की पद्धति है, जो ये देखता आ रहा है कि कौन सी सरकार उसके लिए उपयुक्त है.” बीजेपी में नेतृत्व को लेकर किसी भी प्रकार की असमंजस से इनकार करते हुए कहा कि योगी नेतृत्व को केंद्रीय नेतृत्व ने सही ठहराया है.

एक भी दंगा नहीं हुआ
उप मुख्यमंत्री ने कहा कि इस प्रदेश में भाई भतीजावाद, हिन्दू मुस्लिम दंगे, आपस में बांटने की राजनीति देखी है, लेकिन अब एक भी दंगा नहीं हुआ न? क्योंकि अब अनुसूचित जाति, जनजाति, गरीब और सभी वर्ग मिलकर बजरंग बली का घूंसा बन गया है. अब कोई हाथ का पंजा नहीं दिखाएगा.

UP Weather Update: जानिए क्यों हो रही है ऐसी तूफानी बारिश? लखनऊ सहित कई जिलाें में टूटे रिकॉर्ड

UP: भारी बारिश के चलते लखनऊ के गोमतीनगर में बीच सड़क पर गिरा पेड़.

Lucknow News: लखनऊ स्थित मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि बारिश की ये रफ्तार आज गुरुवार को पूरे दिन जारी रहेगी. कई जिलों में तो इस मॉनसूनी सीजन की सबसे ज्यादा बारिश रिकार्ड की गयी है.

SHARE THIS:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में पश्चिमी यूपी (Western UP) के कुछ जिलों को छोड़ दें तो पूरे सूबे में बारिश (Rainfall) का सिलसिला कमोबेश कल बुधवार से ही चल रहा है. बारिश का ज्यादा जोर लखनऊ (Lucknow) और इसके आसपास के जिलों में देखने को मिल रहा है. लखनऊ में तो बीती रात 12 बजे से ही बरसात थमी नहीं है. और तो और इसमें लगातार बढ़ोतरी ही देखने को मिल रही है. तेज हवाओं के साथ हो रही बारिश के कारण शहर में जगह जगह पेड़ भी गिर गये हैं.

प्रदेश के चार ऐसे जिले हैं जहां पिछले 24 घण्टों में 100 मिलीमीटर से ज्यादा बारिश हो चुकी है. लखनऊ में बुधवार से अभी तक 107 मिलीमीटर, रायबरेली में 186 मिमी, सुल्तानपुर में 118 मिमी और अयोध्या में 104 मिमी बारिश हो चुकी है. रायबरेली में तो स्कूलों में छुट्टी कर दी गयी है. इसके अलावा पिछले 24 घण्टों में गोरखपुर में 96.6 मिमी, वाराणसी में 88 मिमी, बाराबंकी में 94 मिमी और बहराइच में 30 मिमी बारिश दर्ज की गयी है.

लखनऊ स्थित मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि बारिश की ये रफ्तार आज गुरुवार को पूरे दिन जारी रहेगी. रात से या शुक्रवार की सुबह से इसकी तीव्रता थोड़ी कम हो सकती है. हालांकि इस पूरे हफ्ते छिटपुट बारिश जारी रहेगी. कई जिलों में तो इस मॉनसूनी सीजन की सबसे ज्यादा बारिश रिकार्ड की गयी है.

क्यों हो रही है ऐसी तूफानी बारिश?

निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है. इसकी वजह से बंगाल की खाड़ी से आने वाली हवायें उस ओर बढ़ रही हैं. मॉनसूनी सीजन में हवा में नमी भरपूर हो रही है. बंगाल की खाड़ी से चलकर मध्यप्रदेश की ओर बढ़ने वाली नम हवाओं के कारण मध्य यूपी में जोरदार बारिश हो रही है. संभावना ये है कि कल शुक्रवार तक इसमें काफी कमी आ जायेगी. तेज हवायें भी थम जायेंगी.

लखनऊ में भारी बारिश से कई मुख्य रास्ते बंद, गोमतीनगर सहित तमाम इलाकों में भरा पानी

वैसे तो पश्चिमी यूपी के जिलों में भी हल्की बदली छायी हुई है लेकिन, ज्यादा बारिश की फिलहाल संभावना नहीं जताी गयी है. राजस्थान, हरियाणा और उत्तराखण्ड की सीमा से लगने वाले यूपी के जिलों में फिलहाल बारिश का ज्यादा जोर देखने को नहीं मिल रहा है.

बीती रात से अभी तक 7 की मौत

तेज हवाओं के साथ हो रही बारिश से जान- माल को भी काफी नुकसान पहुंचा है. न्यूज़ 18 को मिली जानकारी के मुताबिक बीती रात से अभी तक कुल 7 लोगों की मौत हो चुकी है. सभी लोगों की मौत कच्ची दीवार गिरने की चपेट में आने से हुई है.

हथिया नक्षत्र से पहले ही लखनऊ समेत कई इलाकों में जोरदार बारिश, ऑरेंज अलर्ट भी जारी

मिली जानकारी के अनुसार जौनपुर में 4, सीतापुर में 1, अयोध्या  में 1 और रायबरेली  में भी 1 की मौत हुई है. बारिश का सिलसिला ऐसे ही चलता रहा तो कई हादसों की आशंका बनी हुई है.

UP Crime News: बहराइच में 48 घंटे के अंदर मिले तीन बच्चों समेत 4 अज्ञात शव, हत्या की वारदात से इलाके में दहशत

UP Crime News: बहराइच में 48 घंटे के अंदर मिले तीन बच्चों समेत 4 अज्ञात शव

Double Murder in Bahraich: एसपी सुजाता सिंह ने कहा कि पुलिस ने साइबर प्रकोष्ठ, सर्विलांस टीम, फील्ड यूनिट के अतिरिक्त चार टीम गठित कर घटना की जांच शुरू कर दी है.

SHARE THIS:

बहराइच. यूपी के बहराइच (Bahraich) जिले के फखरपुर इलाके के माधौपुर गांव में रविवार को एक अज्ञात महिला और करीब छह साल की एक बच्ची के शव मिलने से सनसनी फैल गई. दोनों की बेरहमी से गला रेतकर हत्या कर दी गई. इससे पहले शनिवार को बसंतापुर गांव में दो बच्चों के शव बरामद हुए थे जिनका गला रेता गया था. दो दिन में एक ही थाना क्षेत्र में चार शव मिलने से दहशत का माहौल है.अब तक दोनों ही घटनाओं का खुलासा पुलिस नहीं पाई है.

जानकारी के मुताबिक फखरपुर थाना के अंतर्गत मधवापुर गांव में एक अज्ञात महिला और करीब छह साल की एक बच्ची का शव मिला. वहीं शनिवार को भी दो बच्चों के शव मिले थे. अभी तक चारों शवों की न तो शिनाख्त हो सकी है और न ही घटनाओं का खुलासा हुआ है. पुलिस अधीक्षक सुजाता सिंह ने बताया कि फखरपुर थाना अंतर्गत मधवापुर गांव में गन्ने के खेतों में आज करीब 35 वर्ष की एक अज्ञात महिला और लगभग छह साल की एक बच्ची के शव बरामद हुए.

यह भी पढ़ें- सरकारी मदद ज्यादातर कागजी और हवा-हवाई, बाढ़ में बेघर हुए लोगों का जीवन अति कष्टदायी- मायावती

एसपी सुजाता सिंह ने कहा कि पुलिस ने साइबर प्रकोष्ठ, सर्विलांस टीम, फील्ड यूनिट के अतिरिक्त चार टीम गठित कर घटना की जांच शुरू कर दी है. उन्होंने बताया कि कल बरामद हुए दो बच्चों के शवों से इन शवों से कोई संबंध है या नहीं, इसकी जानकारी तफ्तीश के बाद ही हो सकेगी. उन्होंने कहा कि घटना के संबंध में कुछ सुराग मिले हैं, जिनके आधार पर जल्द ही मामले का खुलासा हो सकता है. फिलहाल पुलिस जांच पड़ताल में जुटी है.

UP News: बहराइच में डबल मर्डर से मचा हड़कंप, दो बच्चों की गला रेतकर हत्या, शिनाख्त में जुटी पुलिस

UP News: बहराइच में डबल मर्डर से मचा हड़कंप (File photo)

Double Murder in Bahraich: थानाध्यक्ष ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है. शव की शिनाख्त कराने की कार्रवाई की जा रही है. एसओ के मुताबिक जल्द ही आरोपियों की पहचान कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

SHARE THIS:

बहराइच. यूपी के बहराइच (Bahraich) जिले में शनिवार को डबल मर्डर (Double Murder) का सनसनीखेज मामला सामने आया है. जहां एक बालक व एक बालिका की गला रेतकर हत्या करने के बाद उनके शव को गन्ने के खेत में फेंक कर हत्यारे फरार हो गए. घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया. शव की शिनाख्त कराने में पुलिस जुटी हुई है. काफी प्रयास के बावजूद भी शव की पहचान नहीं हो सकी है. दो बच्चों का शव मिलने से क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है.

मामला फखरपुर थाना क्षेत्र के गजाधरपुर की है. जानकारी के मुताबिक ग्राम पंचायत में गजाधरपुर-बसंता संपर्क मार्ग पर सड़क किनारे आज सुबह धान के खेत से एक लड़के व एक लड़की का शव बरामद हुआ. लड़के की उम्र करीब 8 वर्ष एवं लड़की की उम्र 10 वर्ष है. दोनों सिर्फ लोवर पहने हुए थे. दोनों बच्चों की हत्यारों ने गला रेतकर निर्मम हत्या की है.

इसके बाद शव को गन्ने के खेत में फेंक दिया. पशुओं के लिए घास काटने गए किसानों ने धान के खेत में दोनों बच्चों का शव देखा. शव मिलने से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई. मौके पर सैकड़ों लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई. ग्रामीणों ने मामले की सूचना एसओ फखरपुर राजेश कुमार को दी. दोनों बच्चों की पहचान नहीं हो सकी है. मौके से मास्क भी मिले हैं. थानाध्यक्ष ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है. शव की शिनाख्त कराने की कार्रवाई की जा रही है. एसओ के मुताबिक जल्द ही आरोपियों की पहचान कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

बहराइच में जहरीली चाय पीने से 5 लोगों की बिगड़ी तबीयत, एक की मौत, हिरासत में बहू

बहराइच में जहरीली चाय पीने से 5 लोगों की बिगड़ी तबीयत

पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर (CO City) विनय द्विवेदी भी मौके पर पहुंचे हैं. पुलिस परिवारजन से पूछताछ कर रही है.

SHARE THIS:

बहराइच. यूपी के बहराइच (Bahraich) जिले में सोमवार को चाय में जहरीला पदार्थ पीने से एक ही परिवार के पांच सदस्यों की हालत बिगड़ गई, जिसमें एक बच्चे की मौत हो गई. चार अन्य की हालत नाजुक है. सभी लोगों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इस मामले में चाय बनाने वाली बड़ी बहू की भूमिका पर परिवारजन को संदेह है. पुलिस ने बहू को हिरासत में लेकर पूछताछ में जुटी है. घटना के बाद मृतक के घर में कोहराम मचा हुआ है.

मामला कोतवाली देहात के मछियाही गांव का है. जहां मछियाही गांव निवासी पंचमलाल जायसवाल के परिवारजन घर में ही चाय में जहरीला पदार्थ पीने से हादसे के शिकार हुए हैं. सभी ने सुबह करीब आठ बजे चाय पी थी. यह चाय उनकी बड़ी बहू विक्की ने बनाई थी. वह रक्षाबंधन पर माइके गई थी और सुबह ही लौटी थी. यह जहरीली चाय पीने से पंचमलाल की बेटी शांति का ढाई वर्षीय बेटा रुद्रांश हमेशा के लिए मौत की नींद सो गया.

UP Election 2022: अखिलेश यादव का BJP पर तंज, कहा- अपनी जगह बनाने के लिए मजबूर यूपी के बेबस लोग!

इसके अलावा चाय पीने से 60 वर्षीय पंचमलाल, उनका बेटा 28 वर्षीय जितेंद्र जायसवाल, धर्मेंद्र की चार वर्षीय बेटी सृष्टि एवं उसकी मौसी की आठ वर्षीय लड़की शिवानी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बताया जा रहा है कि पति से नाराज विवाहिता ने चाय में आज सुबह जहर मिलाकर सबको पिला दिया. परिजनों के मुताबिक बड़ा भाई पूरन मंद बुद्धि का है और उसकी पत्नी विक्की उसके साथ रहने को लेकर तैयार नहीं है. घरवालों के दबाव में ही आती जाती है. पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर विनय द्विवेदी भी मौके पर पहुंचे हैं. पुलिस परिवारजन से पूछताछ कर रही है.

बिहार के तिहरे हत्याकांड का आरोपी मुबारक अली यूपी के बहराइच से गिरफ़्तार

घटना में मुबारक की नौ साल की बच्ची भी घायल हुई है.(सांकेतिक तस्वीर)

Crime News: बहराइच की पुलिस अधीक्षक सुजाता सिंह ने शनिवार को बताया कि तिहरे हत्याकांड का आरोपी मुबारक अली (Mubarak Ali) हरदी थाने के बंजरिया गांव का निवासी है.

SHARE THIS:

बहराइच. बिहार के सीवान (Siwan) में 15 और 16 अगस्त की रात को अपनी पत्नी, सास और ससुर की कथित तौर पर हत्या करने के आरोपी को पुलिस ने उत्तर प्रदेश के बहराइच (Bahraich) से शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया. तिहरे हत्याकांड के बाद वह फरार हो गया था. बहराइच की पुलिस अधीक्षक सुजाता सिंह ने शनिवार को बताया कि तिहरे हत्याकांड का आरोपी मुबारक अली (Mubarak Ali) बहराइच के हरदी थाने के तहत आने वाले बंजरिया गांव का निवासी है. मुबारक अपनी पत्नी, एक बेटी और सास- ससुर के साथ सीवान के दरौंदा थाने के तहत आने वाले भीखाबांध गांव में अपने ससुराल में रह रहा था.

एसपी ने बताया कि बिहार पुलिस की सूचना के अनुसार 15 और 16 अगस्त की दरमियानी रात को मुबारक ने अपनी पत्नी नसीमा खातून (30), ससुर अली हुसेन सांई (75) और सास नजमा खातून (70) की धारदार हथियार से काटकर हत्या कर दी. घटना में मुबारक की नौ साल की बच्ची भी घायल हुई है. मुबारक अली के खिलाफ सीवान के दरौंदा थाने में संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज है.

बिहार पुलिस ने बहराइच पुलिस से सम्पर्क किया था
एसओजी प्रभारी निरीक्षक मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि घटना को अंजाम देकर फरार हुए आरोपी को पकड़ने के लिए बिहार पुलिस प्रयासरत थी. बिहार पुलिस ने बहराइच पुलिस से सम्पर्क किया था. पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर एसओजी और कोतवाली देहात पुलिस की टीम ने बिहार पुलिस का सहयोग किया और आरोपी को शुक्रवार को बहराइच से गिरफ्तार कर लिया गया. सिंह ने बताया कि अपनी टीम के साथ बहराइच आए बिहार पुलिस के निरीक्षक अजीत कुमार सिंह अदालत से ट्रांजिट रिमांड लेकर मुबारक को बिहार ले गये हैं. बता दें कि बिहार ने इन दिनों अपराध और लूट- हत्या की मामले बढ़ गए हैं. प्रदेश से आए दिन इस तरह की घटनाएं सामने आ रही है. इससे लोगों के बीच दशहत फैल रहा है.

UP Monsoon Update: बंगाल की खाड़ी में बन रहा चक्रवाती तूफान, 15 अगस्त को पूर्वी यूपी में भारी बारिश की संभावना

UP: मौसम विभाग ने बारिश को लेकर ताजा अनुमान जारी किया है. (सांकेतिक तस्वीर)

UP Weather: अगले 5 दिनों के मौसम का अनुमान जारी करते हुए मौसम विभाग ने बताया है कि पूर्वी यूपी के ज्यादातर जिलों में हल्की से मध्यम बारिश जारी रहेगी. बारिश का ज्यादा जोर नेपाल से सटे जिलों में यानी तराई के इलाके में देखने को मिल सकता है.

SHARE THIS:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में बारिश का दौर फिलहाल थमने वाला नहीं है. मौसम विभाग (Meteorological Department) के ताजा अनुमान के मुताबिक पूर्वांचल और तराई के 20 से ज्यादा जिलों में अगले कुछ घंटों में बारिश (Rainfall) की संभावना है. चिंताजनक बात यह है कि इनमें से ज्यादातर जिले पहले ही बाढ़ से प्रभावित हैं. ऐसे में लगातार बनी बारिश की संभावना से हालात और बदतर होने की आशंका है.

मौसम विभाग के ताजा अनुमान के मुताबिक पीलीभीत, लखीमपुर खीरी, बहराइच, श्रावस्ती, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, गोंडा, अयोध्या, बस्ती, सुल्तानपुर, आजमगढ़, अंबेडकर नगर, जौनपुर, प्रतापगढ़, गाजीपुर, मऊ, बलिया, देवरिया, गोरखपुर, संत कबीर नगर और महाराजगंज में बारिश की संभावना बनी हुई है. इन जिलों में मध्यम से हल्की बारिश का अनुमान है. तेज बारिश की संभावना फिलहाल नहीं दिखाई दे रही है.

अगले 5 दिनों के मौसम का अनुमान जारी करते हुए मौसम विभाग ने बताया है कि पूर्वी यूपी के ज्यादातर जिलों में हल्की से मध्यम बारिश जारी रहेगी. बारिश का ज्यादा जोर नेपाल से सटे यानी तराई के जिलों में देखने को मिल सकता है. पश्चिमी यूपी में बारिश की संभावना कम दिखाई दे रही है. बुंदेलखंड में भी व्यापक बारिश की संभावना फिलहाल नहीं दिखाई दे रही है. हालांकि, पूर्वी यूपी के लगभग सभी जिलों में बादल छाए रहेंगे और मौसम खुशनुमा बना रहेगा.

मौसम विभाग के आकलन के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में एक चक्रवाती तूफान बन रहा है. अगले 48 घंटे में इसका असर देखने को मिल सकता है. अभी तक के मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक 15 अगस्त को पूर्वी यूपी में भारी बारिश की संभावना जताई गई है. यदि ऐसा होता है तो पूर्वी यूपी में बाढ़ के हालात और बिगड़ सकते हैं. इसके बाद बारिश की तीव्रता में थोड़ी कमी देखने को मिल सकती है.

चौबीस घंटे में गोरखपुर में सबसे ज्यादा बारिश
बारिश की बात करें तो पिछले 24 घंटे में प्रदेश के 9 जिलों में बारिश दर्ज की गई है. सबसे ज्यादा बारिश गोरखपुर में 36.1 मिलीमीटर दर्ज की गई है. बलिया और बहराइच में 9 मिलीमीटर, चुर्क में 3, अयोध्या में 4 जबकि सुल्तानपुर में 2.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई.  इसके अलावा लखीमपुर खीरी, बनारस और रायबरेली में बहुत मामूली बारिश हुई है.

ज्यादातर शहरों का अधिकतम तापमान 35 डिग्री
उत्‍तर प्रदेश के ज्यादातर शहरों में दिन का अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस या इससे नीचे ही दर्ज किया गया. रात का तापमान 24 से 28 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया है. वैसे तो पश्चिमी यूपी में ज्यादा बारिश नहीं हो रही है, लेकिन फिर भी तापमान में बढ़ोतरी देखने को नहीं मिल रही है. जिन जिलों में बादल छाए हैं, लेकिन बारिश नहीं हो रही है वहां उमस की समस्या झेलनी पड़ रही है.

Indian Bank Recruitment 2021: बैंक में 7वीं से लेकर स्नातक पास तक के लिए नौकरियां, जानें डिटेल

पर्सनल असिस्टेंट पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया 17 अगस्त 2021 से शुरू होगी.

Indian Bank Recruitment 2021: इंडियन बैंक ने विभिन्न पदों पर भर्तियों के लिए नोटिफिकेशन जारी किया है. इन पदों के लिए अभ्यर्थी निर्धारित अंतिम तिथि तक आवेदन कर सकते हैं.

SHARE THIS:

Indian Bank Recruitment 2021.  इंडियन बैंक  ने 7वीं से लेकर ग्रेजुएशन पास तक के अभ्यर्थियों के लिए विभिन्न पदों पर भर्तियों के नोटिफिकेशन जारी किया है. इन पदों के लिए अभ्यर्थी बैंक की आधिकारिक वेबसाइट www.indianbank.in के जरिए आवेदन कर सकते हैं.

इन रिक्त पदों पर होगी भर्तियां
वॉचमैन कम गार्डेनर – 1 पद
फैकल्टी – 2 पद
अटेंडेंट – 2 पद

शैक्षणिक योग्यता
फैकल्टी पद के लिए अभ्यर्थी के पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए. साथ ही अभ्यर्थी को कंप्यूटर की भी जानकारी होनी चाहिए. वहीं अटेंडेंट पद के अभ्यर्थी का 10वीं पास होना अनिवार्य है. वॉचमैन कम गार्डेनर पद के लिए अधिकतम शैक्षणिक योग्यता 7वीं पास निर्धारित की गई है.

 आयु सीमा
इन विभिन्न पदों के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों की उम्र 22 वर्ष से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए.

 चयन प्रक्रिया
फैकल्टी पद पर अभ्यर्थियों का चयन लिखित परीक्षा और इंटरव्यू के जरिए किया जाएगा. वहीं अन्य पदों पर अभ्यर्थियों का चयन केवल इंटरव्यू के ही जरिए किया जाएगा. चयनित अभ्यर्थियों की नियुक्ति यूपी के सीतापुर, बहराइच और श्रावस्ती जिले में की जाएगी.  अभ्यर्थियों की नियुक्ति तीन साल के संविदा पर की जाएगी.

इस पते पर भेजना होगा आवेदन
अभ्यर्थियों को उप महाप्रबंधक, इंडियन बैंक, अंचल कार्यालय, सिविल लाइंस, सीतापुर, पिन कोड – 261001 के पते पर आवेदन पत्र भेजना होगा. अभ्यर्थी आधिकारिक वेबसाइट के जरिए आवेदन पत्र डाउनलोड कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें –
UKPSC Recruitment 2021: नायब तहसीलदार से लेकर डिप्टी जेलर बनने का मौका, जानें योग्यता
Sarkari Naukri 2021: मनरेगा में 1278 पदों पर भर्ती, मैनेजर से लेकर हैं कंप्यूटर ऑपरेटर तक की पोस्ट

Indian Bank Recruitment 2021: इन तिथियों का रखें ध्यान
आवेदन की अंतिम तिथि- 30 अगस्त 2021
आधिकारिक वेबसाइट – www.indianbank.in

यहां देखें नोटिफिकेशन

बहराइच: प्रेमी के खिलाफ FIR कराने आयी युवती का पुलिस ने थाने में कराया निकाह

प्रेमी के खिलाफ FIR कराने आयी युवती का पुलिस ने थाने में कराया निकाह

थानाध्यक्ष (SHO) मनोज कुमार राय ने बताया कि शाहिद अली नामक युवक का गांव की ही एक युवती रेशमा से बीते एक साल से प्रेम-प्रसंग (Love Affair) चल रहा था.

SHARE THIS:
बहराइच. उत्तर प्रदेश के बहराइच (Bahraich) जिले में पुलिस के पास शिकायत लेकर थाने पहुंचे एक प्रेमी युगल का थाना परिसर में ही रीति रिवाजों के साथ निकाह (Marriage) करा दिया. मामला बहराइच जिले में बौंडी थाने के तहत आने वाले रानीपुरवा गांव का है. ग्रामीणों के अनुसार, शाहिद अली नामक युवक का गांव की ही एक युवती रेशमा से बीते एक साल से प्रेम-प्रसंग चल रहा था. दोनों एक ही समुदाय के थे फिर भी इनके परिवार वाले खास तौर पर लड़के के घर वाले शादी के लिए राजी नहीं थे. दोनों पक्ष आए दिन झगड़ते थे और कभी-कभी एक दूसरे की शिकायत लेकर थाने पहुंच जाते थे.

शुक्रवार को युवती अपने प्रेमी के खिलाफ ही मुकदमा दर्ज कराने के लिए थाने पहुंच गयी और वहीं दूसरा पक्ष भी लड़की के घर वालों की शिकायत लेकर थाने पहुंचा. थानाध्यक्ष मनोज कुमार राय ने दोनों परिवारों के बड़े-बुजुर्गों और गांव के संभ्रांत जनों को थाने बुलाया. पुलिस अधिकारियों ने दोनों परिवारों में सुलह कराई और आनन-फानन में काजी अब्दुल कादिर को बुलाकर थाने में ही प्रेमी युगल का निकाह करा दिया गया. थाने में विवाह हुआ और पुलिसकर्मी उसके गवाह बने.

UP: आगरा पुलिस की बड़ी लापरवाही, 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे लगाने वाले आरोपियों को मिली जमानत

थानाध्यक्ष मनोज कुमार राय ने बताया कि शाहिद अली नामक युवक का गांव की ही एक युवती रेशमा से बीते एक साल से प्रेम-प्रसंग चल रहा था. दोनों पक्ष आए दिन झगड़ते थे और कभी-कभी एक दूसरे की शिकायत लेकर थाने पहुंच जाते थे. प्रेमी लड़के व परिजन को थाने बुलाया गया. इस दौरान थाने में पंचायत शुरू हुई. घंटों गहमागमी के बीच लड़के व उसके परिजन ने विवाह करने की बात पर राजी हो गए. सभी पुलिसकर्मियों व सभ्रांत लोगों ने आशीर्वाद दिया.दोनों परिवार के परिजन हंसी खुशी अपने घर गए.

बहराइच: BJP विधायक सुरेश्वर सिंह को इंटरनेट से फोन कर दी जान से मारने की धमकी, केस दर्ज

महसी क्षेत्र से बीजेपी के विधायक सुरेश्वर सिंह ने कहा कि उन्हें रविवार की रात इंटरनेट से धमकी भरा फोन किया गया था (फाइल फोटो)

Uttar Pradesh News: बीजेपी के विधायक सुरेश्वर सिंह ने बताया कि रविवार रात 10.21 बजे से 10.45 बजे तक किसी व्यक्ति ने मेरे मोबाइल नंबर पर कई बार एक इंटरनेट नंबर से फोन किया. दो बार फोन रिसीव हुआ तो कॉल करने वाले ने कहा कि आपको जान से मारने की सुपारी मुझे मिली है. आपको आपके ही पेट्रोल पंप पर निशाना बनाया जाएगा और आपको मारकर हमें महसी में उपचुनाव कराना है

SHARE THIS:
बहराइच. उत्तर प्रदेश के बहराइच (Bahraich) जिले के महसी विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी के विधायक सुरेश्वर सिंह (BJP MLA Sureshwar Singh) को कथिर तौर पर जान से मारने की धमकी मिली है. उन्हें यह धमकी रविवार रात फोन पर इंटरनेट कॉल (Internet Call) के माध्यम से दी गई. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. अपर पुलिस अधीक्षक (नगर) कुंवर ज्ञानंजय सिंह ने सोमवार को बताया कि मामला दर्ज कर जांच की जा रही है. विधायक की सुरक्षा के लिए पुलिस को सतर्क कर दिया गया है.

बीजेपी विधायक सुरेश्वर सिंह ने स्थानीय प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों को सूचित करने के साथ ही प्रदेश के अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी को पत्र लिखकर इस मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है. उन्होंने बताया कि बीती रात 10.21 बजे से 10.45 बजे तक किसी व्यक्ति ने मेरे मोबाइल नंबर पर कई बार एक इंटरनेट नंबर से फोन किया. दो बार फोन रिसीव हुआ तो कॉल करने वाले ने कहा कि आपको जान से मारने की सुपारी मुझे मिली है. आपको आपके ही पेट्रोल पंप पर निशाना बनाया जाएगा और आपको मारकर हमें महसी में उपचुनाव कराना है.

विधायक ने बताया कि धमकी मिलने के बाद रात में ही बहराइच के पुलिस अधीक्षक (एसपी) और जिलाधिकारी (डीएम) को मैंने फोन कर इसकी सूचना दी. साथ ही अपर मुख्य सचिव गृह को भी मैने ईमेल द्वारा पत्र भेजकर उच्चस्तरीय जांच की मांग की है. उन्होंने कहा कि लखनऊ से एसीएस (गृह) के यहां से तो मुझे दो बार कॉल आ चुकी है.

इस सिलसिले में अपर पुलिस अधीक्षक नगर कुंवर ज्ञानंजय सिंह ने बताया कि प्रकरण को लेकर कोतवाली नगर में विधायक को जान से मारने की धमकी और आईटी एक्ट की सुसंगत धाराओं में मामला दर्ज कर निगरानी के माध्यम से जांच शुरू कर दी गयी है. साथ ही विधायक की सुरक्षा के लिए संबंधित थानों को सतर्क किया गया है. जांच के काम में यूपी एसटीएफ की मदद ली जा रही है.

बता दें कि पिछले सप्ताह संपन्न हुए प्रखंड प्रमुख चुनाव में विधायक के सगे भाई महसी विकास खंड से ब्लॉक प्रमुख निर्वाचित हुए हैं. (भाषा से इनपुट)

UP Block Pramukh Chunav : पति मजदूर, पत्नी बनी बहराइच में ब्लॉक प्रमुख, बोलीं- ये सपने जैसा

पति मजदूर, पत्नी संभालेंगी बहराइच में ब्लॉक प्रमुख की कुर्सी (File photo)

दरअसल त्रिस्तरीय आरक्षण व्यवस्था के चलते बेलवा पदुम कमाल सतरही सीट अनुसूचित महिला (SC Women) के लिए आरक्षित (Reserved) हो गई. इंटर तक शिक्षित गीता देवी ने चुनाव लड़ने का फैसला किया.

SHARE THIS:
बहराइच. यूपी ब्लॉक प्रमुख चुनावों (UP Block Pramukh Chunav) में सूबे की सत्‍ता पर काबिज भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने रिकॉर्ड जीत हासिल की है. वहीं बहराइच (Bahraich) जिले में लोकतंत्र की कुछ अलग तस्वीर सामने आई है. पयागपुर ब्लाक के क्षेत्र पंचायत सदस्यों ने जिस गीता देवी पहली बार बीडीसी सदस्य निर्वाचित हुई हैं. बेलवा पदुम गांव निवासी गीता देवी के पति पवन कुमार मनरेगा में मजदूरी करते हैं. अनुसूचित जाति के पवन कुमार मजदूरी व थोड़ी सी खेती पर गुजर-बसर करते हैं.

उसका घर कुछ पक्का तो कुछ टिन शेड का है. ऐसे में उनके लिए ब्लॉक प्रमुख की कुर्सी का सपना देखना भी मुश्किल था. दरअसल त्रिस्तरीय आरक्षण व्यवस्था के चलते बेलवा पदुम कमाल सतरही सीट अनुसूचित महिला के लिए आरक्षित हो गई. इंटर तक शिक्षित गीता देवी ने चुनाव लड़ने का फैसला किया. उनकी शिक्षा और विनम्रता लोगों को भी रास आई और वह निर्विरोध बीडीसी सदस्य चुन ली गईं.

ऐसे मिली ब्लॉक प्रमुख की कुर्सी
संयोग से ब्लाक प्रमुख की कुर्सी भी अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हो गई. ऐसे में भाजपा ने अनूसूचित वर्ग की शिक्षित एवं पार्टी के प्रति निष्ठावान महिला कार्यकर्ता की तलाश शुरू की तो जिला पंचायत सदस्य सम्मय प्रसाद मिश्र ने (40) वर्षीय गीता देवी का नाम आगे बढ़ाया. भाजपा जिलाध्यक्ष सहित प्रदेश नेतृत्व को भी उनका नाम पसंद आ गया और पार्टी ने उन्हें उम्मीदवार घोषित कर दिया. यहां एक और उम्मीदवार कुसुमादेवी मैदान में थीं, लेकिन उनके मैदान से हटने से गीता देवी निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख बनीं.

BJP ने 626 सीटों पर जमाया कब्जा
बता दें कि यूपी ब्लॉक प्रमुख चुनाव में सूबे की सत्‍ता पर काबिज भारतीय जनता पार्टी ने रिकॉर्ड जीत हासिल की है. यूपी की 825 ब्लॉकों में से भाजपा को 626 सीट मिली हैं. जबकि समाजवादी पार्टी ने 98 सीटों पर जीत दर्ज की है.

सीएम योगी ने कही ये बात
ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में बीजेपी की बड़ी जीत के बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, 'पीएम नरेंद्र मोदी ने आज से 7 साल पहले इस देश को 'सबका साथ सबका विकास' का नारा दिया था. जो योजनाएं बनाईं, वो जनता तक पहुंचीं भी. प्रदेश सरकार और संगठन ने योजनाओं को लोगों तक पहुंचाया. पंचायत चुनाव के परिणाम इसी का जीवंत उदाहरण हैं.

UP की सियासत अब सिर्फ मुस्लिम-यादव फैक्टर के इर्द-गिर्द नहीं घूमेगी: ओवैसी

एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने लखनऊ में यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर रणनीति साफ की है.

Lucknow News: लखनऊ में असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि यूपी में सपा और बसपा के अलावा संकल्प भागीदारी मोर्चा एक विकल्प बनकर उभरेगा. मुख्यमंत्री कौन होगा? इस पर चुनाव बाद तय करेंगे.

SHARE THIS:
लखनऊ. एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी (AIMIM Chief Asaduddin Owaisi) सुभासपा के ओमप्रकाश राजभर (SBSP Chief Om Prakash Rajbhar) के साथ मिलकर उत्तर प्रदेश में संकल्प भागीदारी मोर्चा (Sankalp Bhagidari Morcha) के तहत चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुके हैं. आज लखनऊ पहुंचे ओवैसी ने एक होटल में संकल्प भागीदारी मोर्चा की बैठक की.बैठक में मोर्चा के संयोजक ओमप्रकाश राजभर भी मौजूद थे.

बैठक के बाद ओवैसी ने कहा कि उत्तर प्रदेश की सियासत सिर्फ मुस्लिम-यादव फैक्टर के इर्द-गिर्द नहीं घूमेगी. सबकी भागीदारी जरूरी होगी. ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि भागीदारी संकल्प मोर्चा के पास अभी 10 दल के लोग हैं. हमारी सोच साफ है कि जनता को उनके अधिकार दिलाना है. सीटों के बंटवारे पर चल रही खबरों का खंडन करते हुए ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि मोर्चा में अभी सीटों के बंटवारे पर कुछ भी तय नहीं हुआ है. अभी 100 या 50 सीट जैसा कुछ नहीं है. हम सीटों के बंटवारे पर फाइनलाइजेशन कर रहे हैं.



राजभर ने कहा कि हम घरेलू बिजली बिल माफ करेंगे. इसके अलावा सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट को लागू करवाएंगे.गरीबों को मुफ्त इलाज दिए जाने पर भी हमारा मोर्चा काम करेगा. ओवैसी ने कहा, “यूपी में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के अलावा संकल्प भागीदारी मोर्चा एक विकल्प बनकर उभरेगा. मुख्यमंत्री कौन होगा? इस पर चुनावों के बाद तय करेंगे.

वो महबूबा के साथ बनाएं सरकार तो रासलीला, हम ओवैसी के साथ करें गठबंधन तो कैरेक्टर ढीला: ओम प्रकाश राजभर

संघ प्रमुख मोहन भागवत के डीएनए वाले बयान पर ओवैसी ने कहा कि कब तक हम अपने आप को इंडियन और मुसलमान बताते फिरेंगे. कांग्रेस पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस का एक मजबूत विकल्प भागीदारी मोर्चा यूपी में बनेगा . उन्होंने पूछा कि आज अगर मुस्लिम माइनॉरिटी का एजुकेशन कम है तो इसका जिम्मेदार कौन है? रोजगार कम क्यों है? इसका जिम्मेदार ओवैसी ही है क्या? खुद को बीजेपी की बी टीम कहे जाने पर ओवैसी ने कहा कि यह बीजेपी की भूल है कि लोगों की मौतें जनता भूल जाएगी.
ओबैसी ने कहा कि हमारा ग्राफ पिछले विधानसभा चुनावों में बढ़ा है. हम बिहार में 20 सीटों पर चुनाव लड़े और 5 सीटें जीते, यह हमारी उपलब्धि है. उन्होंने कहा कि केवल मुसलमान-यादव गठबंधन से यूपी की सियासत नहीं चलेगी.

ओवैसी का मिशन यूपी, सपा का बिना नाम लिए AIMIM चीफ बोले- हम जोकर नहीं, रिंग मास्टर हैं

असदुद्दीन ओवैसी ने सीएम योगी पर साधा निशाना.(फाइल फोटो)

UP Assembly Election: एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी (AIMIM Chief Asaduddin Owaisi) ने सीएम योगी और अखिलेश यादव पर जमकर निशाना साधा. ओवैसी ने कहा के प्रदेश में हम अपनी हिस्सेदारी मांगते हैं.

SHARE THIS:
ताहिर हुसैन. 

बहराइच. उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर  राजनीतिक हलचल तेज हो गई है. एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी (AIMIM Chief Asaduddin Owaisi) के यूपी में चुनाव लड़ने के फैसले के बाद सियासी हलचल तेज है. अपनी पार्टी के पकड़ मजबूत करने के साथ अब ओवैसी विपक्ष पर लगातार हमला कर रहे हैं. यूपी के बहराइच में गुरुवार को असदुद्दीन ओवैसी ने AIMIM  के कार्यालय का उद्घाटन किया. इस दौरान AIMIM चीफ ने योगी सरकार और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखलेश यादव पर जमकर निशाना साधा. ओवैसी  ने कहा के इस प्रदेश में हम अपनी हिस्सेदारी मांगते हैं. हम अपने वोट से आगे बढ़ेंगे और विधानसभा में अपनी आवाज बुलंद करेंगे.

समाजवादी पार्टी का बिना नाम लिए ओवैसी ने कहा हम सर्कस के जोकर नही, रिंग मास्टर हैं. ओवैसी ने आरोप लगाया कि कोरोना काल में लोगों को अस्पताल नहीं मिल रहा था. दवाइयां नहीं मिल रही थी. गंगा किनारे लाशें थीं. अब तमाम सियासतदानों को समझना चाहिए कि ये खजूर खिलाने से या इफ्तार की दावत देने काम नहीं चलेगा. अब सर्कस के जोकरों का नाटक खत्म होगा.



ओवैसी ने योगी सरकार पर साधा निशाना

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि योगी सरकार का मुकाबला उन यतीमों से होगा जिन्हें योगी सरकार ने यतीम बना दिया. सीएम योगी का मुकाबला उन बेरोजगारों से होगा जिन्हें साढ़े चार सालों में रोजगार नहीं मिला. मीडिया चाहती है कि ओवैसी की सख्शियत को सामने रखकर योगी का मुकाबला किया जाए. ओवैसी उन बेवाओं, उन यतीम बच्चों की आवाज़ बनकर उठेगा. ओवैसी एक शख्स का नाम नहीं है बल्कि उन नौवजनों के सपनो उम्मीदों का नाम है.

ओवैसी ने सीएम योगी पर निशाना साधा और कहा कि यूपी में सिर्फ 3 फीसदी लोगों को वैक्सीन लगाई गई है. उन्होंने कहा, "हम सीएम योगी से कहना चाहते हैं कि पहले लोगों की जान बचाएं. हम आप सभी से कह रहे हैं आप लोग दोनों वैक्सीन लगवाएं." ओवैसी ने कहा मजलुमों को उनका हक दिलाने के लिए हम आज यहां मिलकर एक साथ आए है, मजलुमों को उनका हक मिलना चाहिए. कोरोना काल में आज बहराइच में औवैसी की इस जनसभा में हजारों की भीड़ मौजूद रही. इस दौरान कोरोना के नियमों का खुलेआम धज्जियां उड़ाई गईं.

वो महबूबा के साथ बनाएं सरकार तो रासलीला, हम ओवैसी के साथ करें गठबंधन तो कैरेक्टर ढीला: ओम प्रकाश राजभर

ओमप्रकाश राजभर की पार्टी ने AIMIM के साथ मिलकर आगामी यूपी विधानसभा लड़ने की घोषणा की है (फाइल फोटो)

Lucxknow News: सुभासपा प्रमुख ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि आज संकल्प भागीदारी मोर्चा की मीटिंग है. बहराइच में आज कार्यालय का उद्घाटन किया जा रहा है. आज असदुद्दीन ओवैसी से मुलाकात करके हम सीट शेयरिंग पर बात करेंगे.

SHARE THIS:
लखनऊ. सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (SBSP) के प्रमुख ओम प्रकाश राजभर (Om Prakash Rajbhar) ने गुरुवार को कहा कि उत्तर प्रदेश में हम और AIMIM के असदुद्दीन ओवैसी मिलकर सरकार बना रहे हैं. ओम प्रकाश राजभर ने इस दौरान बीजेपी का नाम लिए बगैर कहा कि यूपी में हमारे गठबंधन पर जो इल्ज़ाम लगा रहे हैं, वो कश्मीर में महबूबा मुफ्ती के साथ सरकार बनाते हैं. उन्होंने कहा कि वो महबूबा के साथ सरकार बनाएं तो रासलीला, हम उत्तर प्रदेश में ओवैसी के साथ गठबधन करें तो कैरेक्टर ढीला.

सुभासपा प्रमुख ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि आज संकल्प भागीदारी मोर्चा की मीटिंग है और बहराइच में आज कार्यालय का उद्घाटन किया जा रहा है. आज असदुद्दीन ओवैसी से मुलाकात करके हम सीट शेयरिंग पर बात करेंगे.

ये है आज का कार्यक्रम

बता दें आज एक दिन के दौरे पर एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी लखनऊ पहुंचे हैं. उनकी ओम प्रकाश राजभर से मुलाकात होनी है. यूपी विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर संकल्प भागीदारी मोर्चा की ये मीटिंग अहम मानी जा रही है. माना जा रहा है कि इस मीटिंग में दोनों नेता विधानसभा चुनावों को लेकर आपसी रणनीति साझा करेंगे. दोपहर बाद ओवैसी का बहराइच जाने का कार्यक्रम है. यहां वह बहराइच में पार्टी कार्यालय का उद्घाटन करेंगे. इसके साथ ही वह सैयद गाज़ी की दरगाह पर ज़ियारत भी करेंगे. इसके बाद देर शाम वह लखनऊ लौटेंगे और रात 8 बजे लखनऊ से दिल्ली वापस लौट जाएंगे.

इनपुट: मोहम्मद शबाब

UP News Live Updates:असदुद्दीन ओवैसी का बहराइच दौरा आज, AIMIM कार्यालय का करेंगे उद्घाटन

बहराइच में AIMIM के कैंप ऑफिस का उद्घाटन करेंगे असदुद्दीन ओवैसी

Uttar Pradesh News Live, July 8, 2021: एआईएमआईएम ने पूर्व और पश्चिम के दो अलग-अलग जिलों में कैम्प कार्यालय बनाकर यूपी का विधानसभा रण को भेदने के लिए प्लान तैयार किया है. पहला कैम्प कार्यालय बहराइच में स्थापित होगा.

SHARE THIS:
बहराइच. एआईएमआईएम (AIMIM) के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) गुरुवार को उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बहराइच (Bahraich) दौरे पर पहुंचेंगे. 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले ओवैसी बहराइच जिले में कैंप कार्यालय का उद्घाटन करेंगे. इस कार्यालय से वे पूर्वी यूपी की मुस्लिम बाहुल्य सीटों के लिए रणनीति बनाएंगे. दरअसल, AIMIM ने यूपी को दो हिस्सों में बांटा है. पूर्वी और पश्चिम. पूर्व और पश्चिम के दो अलग-अलग जिलों में कैम्प कार्यालय बनाकर यूपी का विधानसभा रण को भेदने के लिए  प्लान तैयार  किया है. पहला कैम्प कार्यालय बहराइच में स्थापित होगा, जिसकी कमान एआईएमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली के हाथ में होगी. इस कार्यालय से पूर्व यूपी के 27 जिलों को हैंडल किया जाएगा. वहीं पश्चिम यूपी को हैंडल करने के लिए मुरादाबाद में कैम्प कार्यालय स्थापित किया जाएगा. आज ओवैसी 2 बजे बहराइच पहुंचकर  पूर्व यूपी के कैम्प कार्यालय का फीता काटकर शुभारम्भ करेंगे. ओवैसी की पार्टी की नजर मुस्लिम बाहुल्य वाले जिलों पर है, जहां पर मुस्लिम बाहुल्य आबादी है, वहां ओवैसी की पार्टी अपनी पूरी ताकत से विधानसभा चुनाव लड़ने जा रही है.

UP Weather News: अगले 24 घंटे में भीषण उमस से मिलेगी राहत, 3 जुलाई तक भारी बारिश की संभावना

मौसम विभाग ने उत्तर प्रदेश के कई जिलों में अगले चौबीस घंटे में बारिश का अनुमान लगाया है.

UP Weather Latest Update: मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक 1 जुलाई से बिहार से सटे जिलों, तराई, मध्य यूपी और रूहेलखण्ड तक के जिलों में झमाझम बरसात होगी. लखनऊ, वाराणसी, गोरखपुर और बहराइच जैसे जिलों में अच्छी बारिश की उम्मीद है.

SHARE THIS:
लखनऊ. भीषण उमस (Humidity) की मार झेल रहे उत्तर प्रदेश वासी आसमान की ओर टकटकी लगाये बैठे हैं कि चार बूंदें बरस जायें तो राहत मिले. आसमान में बादलों की आवाजाही तो हो रही है, लेकिन बारिश का नामोनिशान नहीं है. अब मौसम विभाग (Meteorological Department) ने राहत भरी खबर दी है. विभाग के अभी तक के अनुमान के मुताबिक, अगले घंटे में राहत मिलनी शुरू हो जायेगी.

मौसम विभाग ने संभावना जताई है कि 1 जुलाई से मौसम का मिजाज बदल जायेगा. बढ़ती गर्मी और उमस से राहत मिल जायेगी. 1 से 3 जुलाई तक प्रदेश के बड़े हिस्से में पानी बरसने लगेगा. बारिश का असर पूर्वी यूपी के जिलों में ज्यादा देखने को मिलेगा. हालांकि पश्चिमी यूपी के जिलों को बारिश के लिए कुछ और दिनों तक इंतजार करना पड़ेगा. जुलाई के पहले हफ्ते में होने वाली बारिश का असर पश्चिमी यूपी में ज्यादा नहीं रहेगा.

ये भी पढ़ें- बाराबंकी: पति-पत्नी और वो के चलते फिल्मी स्टाइल में हुआ था महिला का मर्डर, पढ़िए पूरा खुलासा

लखनऊ, वाराणसी आदि जगह अच्छी बारिश की उम्मीद

अभी तक के अनुमान के मुताबिक 1 जुलाई से बिहार से सटे जिलों, तराई, मध्य यूपी और रूहेलखण्ड तक के जिलों में झमाझम बरसात होगी. कई जिलों में भारी बारिश की भी संभावना जताई गयी है. ये सिलसिला 3 जुलाई तक जारी रह सकता है. लखनऊ, वाराणसी, गोरखपुर और बहराइच जैसे जिलों में अच्छी बारिश की उम्मीद है.

ये भी पढ़ें- Etawah News: आखिर कई महीनों की कवायद के बाद भी 'समाजवादी किला' भेदने में नाकाम क्‍यों रही BJP?

झांसी में तापमान सबसे ज्यादा 43.3 डिग्री सेल्सियस

दूसरी तरफ पिछले दो-तीन दिनों से भीषण उमस का सामना लोगों को करना पड़ रहा है. इन दिनों में चार से पांच डिग्री सेल्सियस दिन का तापमान भी चढ़ गया है. पहले जहां ज्यादातर शहरों में दिन का अदिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस के आसपास दर्ज किया जा रहा था, वहीं अब ये 40 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच गया है. मंगलवार को सूबे का सबसे गर्म शहर झांसी रहा जहां दिन का अधिकतम तापमान 43.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. आगरा में 42.9, बांदा में 41.2, कानपुर में 40.5 जबकि लखनऊ में 38.5 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया.

UP जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव: सपा को तगड़ा झटका, 3 प्रत्याशियों ने लिया पर्चा वापस, BJP को मिली जीत

उत्तर प्रदेश में जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में समाजवादी पार्टी काे वोटिंग से पहले बड़ा झटका लगा है. (File Photo: Akhilesh Yadav)

UP Panchayat Elections: पीलीभीत, शाहजहांपुर और बहराइच में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी ने पर्चा वापस ले लिया. वहीं सहारनपुर में बसपा प्रत्याशी ने नामांकन वापस लिया. इन सभी जगह बीजेपी प्रत्याशी की निर्विरोध जीत हो गई है.

SHARE THIS:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव (Jila Panchayat Adhyaksh Chunav) से बड़ी खबर है. 4 और सीटों पर भाजपा (BJP) को खुली जीत मिल गयी है. यानी इन चार जिलों में भाजपा के प्रतिद्वन्द्वी प्रत्याशियों ने नाम ही वापस ले लिया है. इस वजह से भाजपा का जिला पंचायत अध्यक्ष निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिये गये हैं. ये जिले हैं बहराइच (Behraich), पीलीभीत (Pilibhit), शाहजहांपुर (Shahjahanpur) और सहारनपुर (Saharanpur).

बड़ी खबर बहराइच, शाहजहांपुर और पीलीभीत से आयी है. इन जिलों में समाजवादी पार्टी  के प्रत्याशी ने अपना नाम वापस ले लिया है. वहीं सहारनपुर में बसपा प्रत्याशी ने पर्चा वापस ले लिया है. बहराइच में सपा प्रत्याशी नेहा अजीज ने नामांकन के आखिरी दिन अपना पर्चा वापस ले लिया. अपना नाम वापस लेने के बाद भाजपा की कैण्डिडेट मंजू सिंह को निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिया गया है. जिला प्रशासन की ओर से उन्हें सर्टीफिकेट भी दे दिया गया है.

ऐसा ही हाल पीलीभीत में भी हुआ है. यहां से सपा समर्थित प्रत्याशी स्वामी प्रवक्तानन्द ने अपना नाम वापस ले लिया है. इन के नाम वापस ले लेना के बाद भाजपा प्रत्याशी डॉ. दलजीत कौर को निर्विरोध जिला पंचायत अध्यक्ष घोषित कर दिया गया है.

UP जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव: 21 जिलों में BJP और इटावा में SP की निर्विरोध जीत, 53 पर कड़ा मुकाबला

वहीं शाम होते-होते शाहजहांपुर से भी खबर आ गई कि सपा प्रत्याशी ने पर्चा वापस ले लिया है. यहां बीजेपी जिला पंचायत प्रत्याशी ममता यादव जिला पंचायत अध्यक्ष घोषित कर दी गई हैं. डीएम इंद्र विक्रम सिंह ने सर्टिफिकेट देकर यह घोषणा की. दरअसल सपा प्रत्याशी बीनू सिंह न पर्चा वापस ले लिया है.

सहारनपुर में बसपा प्रत्याशी ने लिया पर्चा वापस

वहीं चौथा जिला सहारनपुर रहा, जहां नाम वापस लेने के बाद भाजपा प्रत्याशी को निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया है. सहारनपुर से बसपा के प्रत्याशी जयवीर उर्फ धोनी ने अपना पर्चा वापस ले लिया है. इसके बाद भाजपा के कैण्डिडेट चौधरी मांगेराम को निर्विरोध जिला पंचायत अध्यक्ष घोषित कर दिया गया है. सपा और रालोद ने अपना कैण्डिडेट सहारनपुर से नहीं उतारा था.

आजमगढ़ में सपा-भाजपा में मुकाबला

वैसे आजमगढ़ में भी निर्दलीय प्रत्याशी जय प्रकाश यादव ने अपना नामांकन पत्र वापस ले लिया है. हालांकि मैदान में दो कैण्डिडेट के बचे रहने से चुनाव होगा. अब लड़ाई सपा के विजय यादव और भाजपा के संजय निषाद के बीच होगी.

इस तरह अब भाजपा के 21 कैंडीडेट निर्विरोध निर्वाचित हो गये हैं. जिस दिन पर्चा दाखिल किया जा रहा था, उस दिन 17 जिलों में सिर्फ भाजपा के ही प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल किया था. उन 17 सीटों पर भाजपा को विजयी बढ़त तो मिल ही गयी थी लेकिन, अब चार जिलों से नाम वापस ले लेने के कारण भाजपा की जीत का ग्राफ 21 हो गया है जो निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं. कुल 18 सीटों पर सिर्फ 1 पर्चा दाखिल किया गया था. इटावा में भी सपा के अलावा किसी ने नामांकन नहीं किया था. इस तरह 22 सीटों पर चुनाव नहीं होंगे. अब सिर्फ 53 सीटों पर 3 जुलाई को चुनाव होगा.

UP जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव: 21 जिलों में BJP और इटावा में SP की निर्विरोध जीत, 53 पर कड़ा मुकाबला

यूपी जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में अब तक 22 सीटों पर परिणाम वोटिंग से पहले ही आ चुका है.

UP Jila Panchayat Adhyaksh Chunav: उत्तर प्रदेश में जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में आज नामांकन के आखिरी दिन कई के नाम वापस लेने से बीजेपी अब तक 21 सीटों पर निर्विरोध काबिज हो चुकी है. वहीं सपा सिर्फ इटावा ही जीत सकी है.

SHARE THIS:
लखनऊ. इन दिनों उत्तर प्रदेश में चल रहे जिला पंचायत अध्यक्ष (Jila Panchayat Adhyaksh Chunav) के चुनाव के दौरान सूबे की सत्ताधारी पार्टी भाजपा (BJP) और मुख्य विपक्षी समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के बीच जमकर सियासी घमासान हो रहा है. बीजेपी ने आज मंगलवार को नामांकन वापसी के अंतिम दिन तक पहले ही प्रदेश के 20 जिलों में अपने प्रत्याशियो के निर्विरोध निर्वाचन से इस चुनाव में एक बड़ी बढ़त बना ली है. वहीं चुनाव में भाजपा पर सत्ता का दुरूपयोग का आरोप लगाने वाली समाजवादी पार्टी लाख कोशिशों के बावजूद महज इटावा में ही अपने उम्मीदवार को निर्विरोध निर्वाचित करा सकी है. बाकी अन्य 54 जिलों में भाजपा को अब अधिकतर सीटों पर समाजवादी पार्टी के साथ रायबरेली में कांग्रेस और मथुरा-बागपत में रालोद से टक्कर मिलती नजर आ रही है.

दरअसल, उत्तर प्रदेश की 75 जिलों में जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिये आज मंगलवार को नामांकन पत्र वापसी की अंतिम तिथि तक 22 जिलों में निर्विरोध निर्वाचन हुआ है. जिसमें नामांकन के आज अंतिम दिन सहारनपुर, पीलीभीत, शाहजहांपुर और बहराइच के भी विपक्षी उम्मीदवारो के पर्चा वापस ले लेने से 21 जिलों में भाजपा और 1 इटावा में सपा के उम्मीदवार निर्विरोध जीत गये हैं. लेकिन अन्य 53 जिलों में से 37 जिलों में सिर्फ 2, 11 जिलों में 3, 4 जिलों में 4 और 1 जिले में 5 उम्मीदवारों ने नामांकन किया है. ऐसे में UP के जिन 38 जिलों में दो-दो उम्मादवारों नें नामांकन किया है. उसमें मथुरा से रालोद, रायबरेली से कांग्रेस और अन्य सभी सीटों पर भाजपा की सपा से ही टक्कर होगी.

प्रदेश के 35 जिलों में भाजपा की सीधे टक्कर सपा से ही है. जिसे देखते हुए सपा और भाजपा अपने प्रत्याशियों को जिताने के लिये अपने स्तर से हर संभव प्रयास करते नजर आ रहे हैं.

भाजपा का दावा, 90 फीसदी सीटों पर होगी हमारी जीत

सूबे की 21 जिलों में अपने जिला पंचायत अध्यक्षों के निर्विरोध निर्वाचन से भाजपा न सिर्फ खासा खुश नजर आ रही है. बल्कि 3 जुलाई को होने वाले जिला पंचायत चुनाव के पहले ही प्रदेश की 90 फीसदी से अधिक सीटों पर भाजपा के ही जीत का दावा कर रही है. भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी कहते हैं, “प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जो गरीबो और किसानों के लिए जो योजनाएं हैं, उन योजनाओं के कारण बीजेपी ने ग्रामीण क्षेत्रो में भी अपना पर्याप्त विस्तार किया है. और पंचायत चुनाव में अपेक्षाकृत एक बड़ी सफलता हासिल की है. लेकिन आज विपक्ष हताश, निराश और परेशान है. जब 3 जुलाई को परिणाम आयेगा तो भाजपा 90 फीसदी सीट जीतती नजर आयेगी.”

कांग्रेस का आरोप- भाजपा नहीं डीएम-एसपी लड़ रहे चुनाव

दूसरी ओर कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुरेन्द्र राजपूत कहते हैं, “बीते दिनों उत्तर प्रदेश में हुए पंचायत चुनाव में भाजपा को करारी शिकस्त हुई है. लेकिन भाजपा अपने प्रत्याशियों को जिताने के लिय़े सत्ता, धन और बाहुबल का दुरूपयोग कर रही है. खुद को मिली करारी शिकस्त के चलते अब भाजपा ने अपने प्रत्याशियो को जिताने की जिम्मेदारी जिले के डीएम-एसपी को सौप दी है. जिसके बाद अब भाजपा उम्मीदवारों को जिताने के लिये पुलिस-प्रशासन द्वारा या तो विपक्षी जिला पंचायत सदस्यों पर दबाव बनाया जा रहा है. या फिर उन्हे स्थानीय पुलिस द्वारा जबरन उठवा लिया जा रहा है. जो पूरी तरह से गलत और अलोकतांत्रिक है.”

‘सपा के सदस्यों के घर पर चलवाये जा रहे बुलडोजर’

जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में सत्ताधारी भाजपा सरकार से मिल रही कड़ी चुनौती से जुडे सवाल पर समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता आनुराग भदौरिया कहते हैं, ”उत्तर प्रदेश में भाजपा अपने जिला पंचायत अध्यक्षो के जिताने के लिये साम, दाम, दंड-भेद के साथ सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग कर रही है. सरकार तांडव करवा रही है. हद तो ये कर दी है कि भाजपा के प्रत्याशियो को जिताने के लिये सपा के जिला पंचायत सदस्यों के घरों पर बुलडोजर चलवाकर उनके रास्ते तक को तुड़वा दिया जा रहा है. ये तानाशाही है, ऐसा करके भाजपा लोकतंत्र का गला घोट रही है. आने वाले 2022 के चुनाव में जनता इसका मुंहतोड़ जवाब देगी.”

UP की इन 35 सीटों पर सिर्फ भाजपा-सपा में होगी सीधी टक्कर

लखनऊ, हरदोई, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, हापुड, बिजनौर, बरेली, पीलीभीत, अलीगढ़, हाथरस, कासगंज, फिरोजाबाद, मैनपुरी, कन्नौज, औरैया, कानपुर देहात, कानपुर नगर, जालौन, महोबा, हमीरपुर, फतेहपुर, कौशाम्बी, प्रयागराज, अमेठी, बाराबंकी,अम्बेडकरनगर, अयोध्या, बहराईच, बस्ती, सिद्धार्थनगर, महराजगंज, कुशीनगर, देवरिया, बलिया, चंदौली, मिर्जापुर, सोनभद्र.

UP Weather News: लखनऊ, आगरा सहित इन 20 जिलों में जोरदार बारिश की संभावना

मौसम विभाग ने यूपी के 20 जिलों में आज बारिश का अनुमान लगाया है. (सांकेतिक फोटो)

Weather Update: मौसम विभाग के ताजा अनुमान के मुताबिक आगरा, मथुरा, लखनऊ, सीतापुर, बहराइच, लखीमपुर खीरी, बलरामपुर, श्रावस्ती, संत कबीर नगर, शाहजहांपुर और फर्रूखाबाद जिलों में दोपहर बाद तेज बारिश हो सकती है.

SHARE THIS:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में मौसम विभाग (Meteorological Department) के ताजा अनुमान के मुताबिक दोपहर बाद तक लगभग 20 जिलों में बारिश की संभावना बनी हुई है. कुछ जिलों में तो बौछारें पड़ भी रही हैं. लखनऊ (Lucknow) और इसके आसपास के जिलों में भी हवा के तेज झोंकों के साथ बरसात की संभावना है. इसके अलावा तराई के जिले और ब्रज क्षेत्र के जिलों में भी बौछारों से सुकून मिलने वाला है.

ताजा अनुमान के मुताबिक जिन जिलों में दोपहर बाद तेज बारिश हो सकती है वे जिले हैं- आगरा, मथुरा, लखनऊ, सीतापुर, बहराइच, लखीमपुर खीरी, बलरामपुर, श्रावस्ती, संत कबीर नगर, शाहजहांपुर और फर्रूखाबाद. इन जिलों में बारिश के दौरान 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा भी चल सकती है. साथ ही बारिश वाले जिलों में बिजली गिरने के खतरे के प्रति भी लोगों को आगाह किया गया है. लखनऊ के कई इलाकों में तो हल्की बारिश भी हुई है. सुकून देने वाली बात ये है कि सुबह से ही उमस भी कम हुई है. जिन इलाकों में बारिश हो जा रही है वहां तो ठण्डा हो ही जा रहा है, लेकिन बाकी इलाकों में ठंडी हवाओं के चलने से राहत है.

इन जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट
इसके अलावा कानपुर नगर, कानपुर देहात, उन्नाव, फतेहपुर, हरदोई, बाराबंकी, रायबरेली, गोंडा और बस्ती के लिए मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. इन जिलों में 87 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली हवा के साथ तेज बारिश हो सकती है.

आगरा सबसे गर्म
लगातार बारिश होने और हवाओं के चलने से गर्मी से राहत मिली है. प्रदेश के तीन-चार जिलों को छोड़ दें तो बाकी सभी शहरों में बुधवार को दिन का अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस के नीचे ही दर्ज किया गया था. सबसे ज्यादा आगरा में 41.1 डिग्री सेल्सियस जबकि झांसी में 40.7 डिग्री सेल्सियस दिन का तापमान दर्ज किया गया.

प्रदेश में अगले चार दिनों तक हल्की से मध्यम बारिश का अनुमान मौसम विभाग ने लगाया है. हालांकि ये भी सच है कि मॉनसून के शुरुआती दौर में जितनी बारिश हुई थी, अब उसकी रफ्तार बहुत सुस्त हो गयी है. पिछले 24 घण्टे के दौरान प्रदेश के बहुत कम इलाके में बारिश दर्ज की गयी है. प्रदेश के सिर्फ 7 जिलों में ही बारिश दर्ज की गयी है. सबसे ज्यादा बारिश 13.2 मिलीमीटर वाराणसी में बारिश हुई. इसके अलावा बहराइच में 10 जबकि गोरखपुर में 8 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गयी.

योगी सरकार ने प्रयागराज, कौशाम्बी और बहराइच DM बदले, देखें आईएएस ट्रांसफर लिस्ट

योगी सरकार ने शुक्रवार देर रात 3 जिलों के डीएम बदल दिए.
(File Photo: सीएम योगी आदित्यनाथ)

UP News: योगी सरकार ने शुक्रवार देर रात आईएएस अफसरों के तबादले किए. इनमें संजय खत्री को डीएम प्रयागराज बनाया गया है, वहीं सुजीत कुमार को डीएम कौशाम्बी, दिनेश चंद्र सिंह डीएम बहराइच बनाए गए.

SHARE THIS:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Government) ने 3 जिलों के डीएम (DM) बदल दिए हैं. शुक्रवार देर रात आईएएस अफसरों के तबादले (IAS Transfer) सरकार ने किए. इनमें संजय खत्री को डीएम प्रयागराज बनाया गया है, वहीं सुजीत कुमार को डीएम कौशाम्बी, दिनेश चंद्र सिंह डीएम बहराइच बनाए गए. वहीं प्रयागराज के डीएम भानु चंद्र गोस्वामी को सीईओ, ग्राम विकास अभिकरण पद पर भेजा गया है.

इनके अलावा आईएएस सुभाष चन्द्र शर्मा को प्रमुख सचिव, उच्च शिक्षा विभाग और एटा डीएम विभा चहल को बाल विकास पुष्टाहार विभाग का डिप्टी डायरेक्टर बनाया गया है. बता दें प्रयागराज के डीएम बनाए गए संजय कुमार खत्री संयुक्त प्रबंध निदेशक, जल निगम की जिम्मेदारी संभाल रहे थे, वहीं कौशाम्बी के डीएम बने सुजीत कुमार के पास सीईओ यूपी ग्रामीण सड़क अभियंत्रण का प्रभार था.

इनके अलावा बहराइच के डीएम रहे शम्भू कुमार को विशेष सचिव, माध्यमिक शिकक्षा, कौशाम्बी के डीएम रहे अमित कुमार सिंह को विशेष सचिव, नगर विकास और संयुक्त प्रबंध निदेशक जल निगम का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है.

एक दिन पहले भी किए थे ट्रांसफर

बता दें इससे पहले योगी सरकार ने मंडलायुक्त/DM और कई विभागों के अपर मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव बदल दिए थे. इनमें रामी रेड्डी को सहकारिता से उद्यान विभाग का अपर मुख्य सचिव बनाया गया है, जबकि बीएल मीणा को सहकारिता का अपर मुख्य सचिव नियुक्‍त किया गया है. सुधीर गर्ग को वन विभाग से हटाते हुए दुग्ध विभाग का प्रमुख सचिव बनाया गया है. जबकि मनोज सिंह को वन विभाग का नया अपर मुख्य सचिव बनाया गया है. के. रवीन्द्र नायक प्रमुख सचिव समाज कल्याण अल्पसंख्यक कल्याण, एनजी रवि कुमार गोरखपुर का मंडलायुक्त और मुकेश मेश्राम को डीजी पर्यटन का चार्ज दिया गया है.

अंकित कुमार अग्रवाल को DM एटा बनाया गया, राकेश कुमार सिंह डीएम गाजियाबाद, अरविंद चौरसिया डीएम लखीमपुर, बालकृष्ण त्रिपाठी डीएम अमरोहा, शैलेंद्र सिंह डीएम मुरादाबाद और नरेंद्र शंकर पांडेय को झांसी मंडल का कमिश्नर बनाया गया. इससे पहले यूपी सरकार ने प्रशासनिक स्तर पर फेरबदल करते हुए 2 आईएएस और 7 पीसीएस अधिकारियों का ट्रांसफर कर दिया था.

इनपुट: अनामिका सिंह/राजीव पी सिंह
Load More News

More from Other District