बहराइच के कतर्नियाघाट रेंज में तेंदुए ने तीन साल के बच्चे को बनाया निवाला....
Bahraich News in Hindi

बहराइच के कतर्नियाघाट रेंज में तेंदुए ने तीन साल के बच्चे को बनाया निवाला....
तेंदुए ने अचानक हमला किया (फाइल तस्वीर)

खेत से निकले तेंदुए (Leopard) ने मचान के नीचे वाले तीन साल के मासूम को जबड़े में दबा लिया. उसे निवाला बनाने के बाद तेंदुए ने उसके क्षत-विक्षत शव को कुछ दूरी पर छोड़ दिया

  • Share this:
बहराइच. जनपद के कतर्नियाघाट नानपारा रेंज में तेंदुए (Leopard) ने एक तीन साल के बच्चे को निवाला बना लिया. ये हादसा उस वक्त हुआ जब कुछ बच्चे मक्के के खेत के पास मचान पर खेल रहे थे जबकि एक बच्चा मचान के नीचे बैठा था उसी समय खेत से निकल कर आए एक तेंदुए ने अचानक हमला कर दिया और मचान के नीचे बैठे तीन साल के बच्चे को दबोच लिया. तेंदुए के हमले में मासूम की मौत की सूचना पर पहुंची वन विभाग (Forest Department) की टीम ने मौके का मुआयना किया.

लोगों ने शोर मचाते हुए तेंदुए को खदेड़ा
रिपोर्ट के मुताबिक तकरीबन 5-6 बच्चे जब नानपारा रेंज के डल्लापुरवा गांव में एक मचान पर खेल रहे थे उसी दौरान तेंदुए ने हमला किया हमले के वक्त पांच बच्चे लकड़ी के मचान पर बैठे हुए थे. जबकि एक बच्चा मचान के नीचे था. खेत से निकले तेंदुए ने मचान के नीचे वाले तीन साल के मासूम को जबड़े में दबा लिया. उसे निवाला बनाने के बाद तेंदुए ने उसके क्षत-विक्षत शव को कुछ दूरी पर छोड़ दिया और जंगल में चला गया. मासूम की मौत से परिवार में कोहराम मच गया. बुधवार शाम को तेंदुए के हमले की सूचना के बाद डीएफओ के साथ वनकर्मियों ने मौके का मुआयना किया. पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता भी प्रदान की गई है.

तेंदुए के हमले में बच्चे की मौत के बाद पहुंची वन विभाग की टीम ने किया मुआयना




प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक विकल्प (3) पुत्र मोतीलाल मचान के नीचे बैठा था. इसी दौरान मक्के के खेत से तेंदुआ निकल आया. तेंदुए ने तीन वर्षीय मासूम को जबड़े में दबोच लिया और जंगल में ले जाने लगा. इसी दौरान वहां मौजूद विकल्प की बहन ने शोर मचाया. जिसके बाद अन्य लोगों ने शोर मचाते हुए तेंदुए को खदेड़ा इस पर तेंदुआ 40 मीटर की दूरी पर विकल्प को छोड़कर चला गया. लेकिन तब तक मासूम की मौत हो चुकी थी. हमले की सूचना पाकर वन क्षेत्राधिकारी राशिद जमील मौके पर पहुंचे. उन्होंने तेंदुए के हमले की पुष्टि की, स्थानीय पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा. गुरुवार को डीएफओ मनीष सिंह ने वनकर्मियों के साथ मौके का मुआयना किया. डीएफओ ने बताया कि तेंदुए के हमले में मासूम की मौत की पुष्टि हुई है. डब्ल्यूडब्ल्यूएफ की ओर से 10 हजार रुपये परिवारीजनों को आर्थिक सहायता के रूप में दिए गए हैं जबकि स्थानीय प्रशासन ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आपदा राहत कोष से पांच लाख रुपये का मुआवजा दिए जाने का आश्वासन दिया है. कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग से सटे गांवों में तेंदुए के हमले से ग्रामीण अभी उबरे भी नहीं थे. उधर बहराइच वन प्रभाग के गांवों में भी तेंदुए का हमला शुरू हो गया है जिसे लेकर ग्रामीणों में चिंता है.



ये भी पढ़ें- COVID-19: अयोध्या में बच्चों ने तख्तियां लेकर 'CM योगी-PM मोदी' से लगाई ये गुहार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading