यूपी में पहली बार बिना MURDER के पंचायत चुनाव संपन्‍न्‍ा, 65 फीसदी हुई वोटिंग

उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के पहले चरण के मतदान के दौरान कुछ जिलों में हुई छिटपुट हिंसा के बीच करीब 65 प्रतिशत मतदान हुआ. राज्य निर्वाचन आयुक्त सतीश अग्रवाल ने कहा कि इतनी शांतिपूर्ण तरीके से पहली बार उत्‍तर प्रदेश में पंचायत चुनाव संपन्‍न हुए हैं. उन्‍होंने कहा कि इस उपलब्‍धी के लिए उत्तर प्रदेश निर्वाचन आयोग, पुलिस, प्रशासन और मीडिया का आभारी हूं.

Kumari ranjana | Agencies
Updated: October 9, 2015, 8:26 PM IST
यूपी में पहली बार बिना MURDER के पंचायत चुनाव संपन्‍न्‍ा, 65 फीसदी हुई वोटिंग
उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के पहले चरण के मतदान के दौरान कुछ जिलों में हुई छिटपुट हिंसा के बीच करीब 65 प्रतिशत मतदान हुआ. राज्य निर्वाचन आयुक्त सतीश अग्रवाल ने कहा कि इतनी शांतिपूर्ण तरीके से पहली बार उत्‍तर प्रदेश में पंचायत चुनाव संपन्‍न हुए हैं. उन्‍होंने कहा कि इस उपलब्‍धी के लिए उत्तर प्रदेश निर्वाचन आयोग, पुलिस, प्रशासन और मीडिया का आभारी हूं.
Kumari ranjana | Agencies
Updated: October 9, 2015, 8:26 PM IST
उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के पहले चरण के मतदान के दौरान कुछ जिलों में हुई छिटपुट हिंसा के बीच करीब 65 प्रतिशत मतदान हुआ. राज्य निर्वाचन आयुक्त सतीश अग्रवाल ने कहा कि इतनी शांतिपूर्ण तरीके से पहली बार उत्‍तर प्रदेश में पंचायत चुनाव संपन्‍न हुए हैं. उन्‍होंने कहा कि इस उपलब्‍धी के लिए उत्तर प्रदेश निर्वाचन आयोग, पुलिस, प्रशासन और मीडिया का आभारी हूं.

मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने इसका श्रेय मीडिया को देते हुए कहा कि मीडिया कवरेज के चलते सख्त संदेश गया है और आज सभी डीएम और एसपी फील्ड में रहे. उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों के दम पर शांतिपूर्ण चुनाव कराया जा सका. अग्रवाल ने बताया कि पंचायत चुनाव में सिर्फ छह फीसदी ग्रेजुएट प्रत्याशी मैदान में हैं. पहले चरण में संपन्न हुए चुनावों के 46421 बूथों में से सिर्फ 12 जगह री-पोलिंग होगी.

पंचायत के इतिहास में निर्वाचन आयोग को बड़ी सफलता मिली है. इस चुनाव में कुछ जगहों पर छुटपुट हिंसा जरूर हुई, लेकिन कोई हत्या नहीं हुई. उप्र पंचायत चुनाव : पहले चरण का मतदान संपन्न, 65 फीसदी मतदान

गौतमबुद्धनगर और आगरा में कम दिखा वोटरों का रूझान

लखनऊ में पत्रकारों से बातचीत करते हुए एस.के. अग्रवाल ने बताया कि पहले चरण में गौतमबुद्धनगर तथा आगरा को छोड़कर शेष 73 जिलों में क्षेत्र पंचायत सदस्य के कुल 20022 तथा जिला पंचायत सदस्य के कुल 921 पदों के लिए छिटपुट घटनाओं के बीच करीब 65 प्रतिशत मतदान हुआ.

उन्होंने बताया कि छिटपुट घटनाओं की वजह से प्रतापगढ़ में एक, बलिया में दो, फरु खाबाद, संभल, गोरखपुर में एक-एक तथा अमेठी में चार समेत 12 मतदान केंद्रों पर पुनर्मतदान होगा. इस तरह कुल 46621 में से 12 पर पुनर्मतदान कराया जाएगा.

अग्रवाल ने बताया कि मतदान के दौरान कहीं भी किसी की मौत नहीं हुई है.
उन्होंने कहा, "प्रदेश में जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य का चुनाव हो और एक भी मौत ना हो, मैं यह समझता हूं कि उत्तर प्रदेश के इतिहास में इससे शांतिपूर्ण मतदान शायद कभी नहीं हुआ. आप किसी भी चुनाव के आंकड़े देख लें. हमने अपने दम पर शांतिपूर्ण चुनाव कराया. यह बहुत बड़ी उपलब्धि है."

इससे पूर्व मैनपुरी के बिसवां में चुनाव में वोट डालने को लेकर वोटरों में विवाद हो गया. उनमें फायरिंग भी हुई, जिसमें दो लोग घायल हो गए. फिरोजाबाद के नगला गौसा मे मतदाता सूची में नाम न होने पर 2 उम्मीदवारों के समर्थक आपस में भिड़ गये. मारपीट में दो लोग घायल हुए हैं.

पंचायत चुनाव के दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे. प्रदेश के गृहविभाग की मांग पर केंद्रीय गृहमंत्रालय ने 11 कंपनी बीएसएफ और 9 कंपनी सीआईएसएफ मुहैया कराई थी. इन सुरक्षाकर्मियों को अलग-अलग जगहों पर तैनात किया गया था.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...