ऑपरेशन के दौरान डॉक्टर ने पेट में ही छोड़ दी तौलिया, अल्ट्रासाउंड में सामने आई हकीकत

घटना बलरामपुर जिले के श्रीनगर कटुआ के शिवपुरा गांव की है. यहां की निवासी मीरा देवी को एक महीने पहले प्रसव पीड़ा हुई थी.


Updated: July 10, 2018, 7:31 PM IST

Updated: July 10, 2018, 7:31 PM IST
डॉक्टर को धरती का भगवान कहा जाता है. लेकिन वही डॉक्टर जब हैवानियत पर उतर आए तो बीमार आदमी का जीना मुहाल हो जाता है. बहराइच जिले के एक नर्सिंग होम से ऐसा ही मामला सामने आया है. जिसमें एक डॉक्टर ने ऑपरेशन के दौरान प्रसूता के पेट में तौलिया छोड़ दिया और टांका लगाकर महिला को डिस्चार्ज कर दिया. डिलीवरी के बाद करीब एक महीने तक महिला दर्द से परेशान रही.

नर्सिंग होम के डॉक्टर उसे बदल-बदल कर दवाएं देते रहे. लेकिन फायदा नहीं हुआ. हालत ज्यादा नाजुक होने पर महिला ने दूसरी जगह इलाज के लिये दिखाया. तब अल्ट्रासाउंड और सीटी स्कैन जांच में पता चला कि महिला के पेट में तौलिया पड़ी हुई है. तब दूसरे अस्पताल के डॉक्टर ने महिला का दोबारा ऑपरेशन कर तौलिया बाहर निकाल दिया. इस मामले में पीड़ित परिवारीजनों ने स्वास्थ्य विभाग के उच्चाधिकारियों से शिकायत की है. इस मामले पर सीएमओ डॉ. अरुण कुमार पाण्डेय ने बताया कि मामले की जांच के आदेश दिये हैं. जांच पूरी होने के बाद आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

यह भी पढ़ें- मुन्ना बजरंगी ने 20 साल में किए 40 कत्ल, ज्यादातर शिकार हुए BJP के नेता

घटना बलरामपुर जिले के श्रीनगर कटुआ के शिवपुरा गांव की है. यहां की निवासी मीरा देवी को एक महीने पहले प्रसव पीड़ा हुई थी. इस पर पति वंशीराम पांडेय ने महिला को बलरामपुर में दिखाया. जहां डॉक्टरों ने ऑपरेशन की बात कही. इस पर वंशीराम पत्नी को लेकर बहराइच जिला महिला अस्पताल चला आया. अस्पताल में मिली दो महिला दलालों ने उसे बहराइच शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती करवा दिया. वहां डॉक्टरों ने ऑपरेशन कर डिलीवरी तो करवा दी. लेकिन डॉक्टरों की लापरवाही के चलते महिला के पेट में एक तौलिया छोड़ दिया.

यह भी पढ़ें- माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की मौत से पहले का VIDEO वायरल

पेट में पड़े कपड़े की वजह से महिला को पेट दर्द की शिकायत शुरू हो गयी और हालत बिगड़ने लगी. महिला की हालत बिगड़ती देख ऑपरेशन करने वाले आरोपी डॉक्टर ने लखनऊ स्थित अस्पताल में इलाज के लिए भेज दिया. वहां पर भी लाभ न होने पर वंशीराम ने पत्नी को बहराइच जिले की महिला रोग विशेषज्ञ डॉ. सुषमा मिश्रा को दिखाया. जिसके बाद अल्ट्रासाउंड और सीटी स्कैन में ये पुष्टि हुई कि महिला के पेट में कपड़ा है. दूसरे अस्पताल के डॉक्टर ने ऑपरेशन किया तो बीमार महिला के पेट से काफी बड़ा कपड़े का टुकड़ा निकला. फिलहाल महिला की हालत गम्भीर है.

पीड़ित महिला के पति बंशीराम पाण्डेय का कहना है कि निजी अस्पताल के डॉक्टरों ने उससे डिलीवरी और इलाज के नाम पर मोटी रकम वसूल की थी. फिलहाल महिला के पति ने मुख्य चिकित्साधिकारी अरुण पाण्डेय और एसपी को प्रार्थनापत्र देकर आरोपी डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.

ये भी पढ़ें-
बाराबंकी: नाबालिग लड़की को किडनैप कर 5 लोगों ने किया दुष्कर्म, मौत!
जानिए यूपी के सबसे बड़े गैंगवार की कहानी, मुन्ना बजरंगी तो महज एक शूटर के किरदार में था
राम की नगरी अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए सरयू तट पर गूंजेंगी कुरान की आयतें
12वीं पास के लिए बस कंडक्टर के पद पर भर्ती, 15 जुलाई से पहले करें अप्लाई
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर