बहराइच: पंचायत चुनाव के दौरान हुई थी हत्या, 20 साल बाद 30 अभियुक्तों को उम्रकैद

बहराइच में 30 लोगों को उम्रकैद की सजा

बहराइच में 30 लोगों को उम्रकैद की सजा

Bahraich News: अपर सत्र न्यायाधीश मनोज कुमार मिश्र ने मुकदमें की सुनवाई करते हुए मामले मेें सभी 30 अभियुक्तों को घटना में दोषी करार देते हुए सश्रम आजीवन कारावास की सजा सुनाई है.

  • Share this:
बहराइच. पंचायत चुनाव (Panchayat Chunav) को बाधित करने के लिए हत्या, बलवा और मतपेटी लूटने के मामले मेें अपर सत्र न्यायाधीश ने बुधवार को 20 साल बाद भरी आदालत मेें 30 अभियुक्तों को सश्रम आजीवन करावास (Life Imprisonment) की सजा सुनाई. सुनवाई के दौरान 6 अभियुक्तगणों की मृत्यु हो जाने से उनके विरुद्ध मुकदमें की कार्रवाई उपशमित कर दी गई. 14 जून 2000 को विकास खंड विशेश्वरगंज मेें पंचायत चुनाव मेें मतदान का कार्य चल रहा था. इसी दौरान चुनाव को बधित करने के लिए हथियारों से लैस 30 लोग मतदान केंद्र पर पंहुचकर उत्पात मचाने लगे. इस दौरान हमलावरों ने हथगोले व हथियारों का इस्तेमाल कर मतदेटियों को लूट लिया. ग्रामीणों के विरोध पर हमलावरों ने अंधाधुंध फायरिंग की थी, जिसमें एक व्यक्ति रमेश तिवारी की मौत हो गई थी और 7 अन्य घायल हुए थे.

घटना की सूचना पाकर मौके पर पंहुची पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए मौके से एक दर्जन हमलावरों का गिरफ्तार कर लिया था. घटना के बाद विशेश्वरगंज थाने पर मृतक के भाई कौशल किशोर तिवारी की ओर से 30 लोगों के खिलाफ हत्या, बलवा, मतपेटी लूटने समेत विभिन्न गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया था. मुकदमे की सुनवाई अपर सत्र षष्ठम के न्यायालय में हो रही थी.

बुधवार को अपर सत्र न्यायाधीश मनोज कुमार मिश्र ने मुकदमें की सुनवाई करते हुए मामले मेें सभी 30 अभियुक्तों को घटना मेें दोषी करार देते हुए सभी को सश्रम आजीवन कारावास की सजा सुनाई. मुकदमें के दौरान 6 अभियुक्तों की मौत हो जाने पर न्यायाधीश ने उनके विरद्ध मुकदमें की कार्रवाई उपशमित कर दी. न्यायाधीश द्वारा सजा सुनाने के बाद सभी अभियुक्तों को न्यायिक अभिरक्षा मेें जेल भेज दिया गया.

इन अभियुक्तों को सुनाई गई आजीवन कारावास की सजा
थाना विशेश्वरगंज के हरैया डोलकुआं निवासी गजेंद्र नाथ, सुरेंद्र नाथ, मनोज कुमार, पवन कुमार, सुभाषचंद्र, संतोष कुमार, नरसिंह नारायण, उमेश चंद्र, अदालत प्रसाद, शुकुलपुरवा निवासी चांदअली, गोंडा जनपद के थाना कौड़िया स्थित विधुड़ी गांव निवासी हरेंद्रदेव, नंगूलाल, बाबू लाल, विनोद कुमार, विशेश्वरगंज के नउवागांव निवासी गंगाराम, लालसाहब, थाना कौड़िया के पूरेबरल गांव निवासी रामअनुज, मुन्नाराम मिश्रा, और विशेश्वरगंज के डोलकुआं गांव निवासी राघवराम, राजीव, राजू, रामसेवक, महादेव, सहदेव को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई.

मुकदमें के दौरान इनकी हुई मृत्यु

जगतनारायण, रामभुलावन, महेश चंद्र, शेषधर, राधेश्याम और शोहराब अली की मृत्यु हो जाने से इनके खिलाफ मुकदमें की कार्रवाई उपशमित कर दी गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज