शादी के बीच दूल्हे को मिली व्हाट्सऐप पर फोटो, मंडप से उठ गया दूल्हा

इसी दौरान सिंदूर भरने की रस्म से पहले दूल्हे के मोबाइल पर आए व्हाट्सएप मैसेज के कारण शादी रुक गई, दूल्हे ने जब व्हाट्सएप मैसेज देखा तो उसके होश उड़ गए क्योंकि उस मैसेज में दुल्हन और उसके मित्र की फोटो थी

News18 Uttar Pradesh
Updated: June 23, 2018, 12:09 PM IST
शादी के बीच दूल्हे को मिली व्हाट्सऐप पर फोटो, मंडप से उठ गया दूल्हा
शादी के बीच दूल्हे को मिली व्हाट्सएप पर फोटो, मंडप से उठ गया दूल्हा
News18 Uttar Pradesh
Updated: June 23, 2018, 12:09 PM IST
यूपी के बहराइच जिले के थाना राम गांव क्षेत्र के बेगमपुर गांव में शादी के बीच दूल्हे को व्हाट्सऐप पर दुल्हन और उसके दोस्त की एक फोटो मिली. इसके बाद दूल्हे ने शादी करने से मना कर दिया. मैसेज देखने के बाद दूल्हा के साथ बराती भी बरात लेकर वापस लौटने लगें. बताया जा रहा है कि जिले के थाना मोतीपुर क्षेत्र के राजापुर कतरनिया पेटरहा ग्राम निवासी नींबू लाल चौहान के बेटे तेज प्रकाश चौहान की बरात धूमधाम से थाना राम गांव क्षेत्र के बेगमपुर निवासी उमाशंकर चौहान के घर आई थी.

बरातियों का पारंपरिक ढंग से भव्य स्वागत सत्कार किया गया. वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच विवाह की रस्में शुरू हुईं. द्वार पूजा के बाद फेरे की रस्म अदायगी की जा रही थी. इसी दौरान सिंदूर भरने की रस्म से पहले दूल्हे के मोबाइल पर आए व्हाट्सऐप मैसेज के कारण शादी रुक गई. दूल्हे ने जब व्हाट्सऐप मैसेज देखा तो उसके होश उड़ गए क्योंकि उस मैसेज में दुल्हन और उसके मित्र की फोटो थी.

दूल्हा उस फोटो को देखकर आक्रोशित हो उठा और उसने समारोह में मौजूद दुल्हन के मित्र की पिटाई कर दी. दुल्हन का मित्र जान बचाकर भाग खड़ा हुआ. इसके बाद दूल्हे ने बरात वापस ले जाने की जिद कर दी.

ये भी पढ़ें - 

बयान से पलटा नसीम, कहा- कंपनी मालिक को फंसाने के लिए गढ़ी 'पत्थरबाजी' की कहानी

इसके बाद पंचायत बुलाई गई. लेकिन घंटों की पंचायत के बाद भी शादी और विदाई को लेकर समझौता नहीं हो सका. बाद में दोनों पक्षों के लोगों ने शादी के लिए आए सामान, जेवरात एक दूसरे को वापस कर दिया. दोनों पक्षों ने पुलिस को किसी तरह की कोई शिकायत नहीं करने का फैसला किया.

दूल्हा तेज प्रकाश चौहान का कहना है कि उनके मोबाइल में आए मैसेज से यह स्पष्ट हो गया कि वह लड़की जो उसकी दुल्हन बनने वाली थी. वह किसी और से प्यार करती है और वह उसी के साथ शादी करना चाहती है. ऐसी स्थिति में उससे शादी करना संभव नहीं है. इसलिए यह शादी नहीं हो सकती है.

ये भी पढ़ें - 

बंगले में तोड़फोड़ पर बढ़ी अखिलेश की मुश्किलें, HC ने योगी सरकार से मांगी रिपोर्ट

ग्राम सहनवाजपुर के प्रधान अनिल निषाद का कहना है कि शादी की रस्म अदायगी के दौरान लड़की और उसके प्रेमी के फोटो दूल्हे के मोबाइल नंबर पर भेजे गए. उसे देखकर शादी की रस्म रोक दी गई और दूल्हा बरात लेकर वापस चला गया. फिलहाल दोनों पक्षों में समझौता हो गया है. दोनों पक्षों में से किसी पक्ष ने पुलिस से कोई शिकायत नहीं की है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर