बहराइच: नाना के साथ बकरी चरा रही बच्ची को जंगल खींच ले गया बाघ, बनाया निवाला

बहराइच में बाघ ने मासूम बच्ची का किया शिकार.( फाइल फोटो.)
बहराइच में बाघ ने मासूम बच्ची का किया शिकार.( फाइल फोटो.)

कतर्नियाघाट रेंज के कटियारा बीट में नाना के साथ बकरी चरा रही बालिका को बाघ (Tiger) जंगल की ओर घसीट ले गया. सूचना पाकर पहुंचे SSB जवानों व ग्रामीणों ने जंगल में तलाश शुरू की. कुछ दूरी पर बालिका का क्षत-विक्षत शव बरामद हुआ.

  • Share this:
बहराइच. उत्तर प्रदेश के बहराइच (Bahraich) जिले में एक मासूम बच्ची को बाघ (Tiger Attack) ने अपना निवाला बना लिया. अपाने नाना के साथ बकरी चरा रही मासूम को बाघ जबड़े में दबोचकर जंगल में खींच ले गया. बाद में एसएसबी जवानों और ग्रामीणों ने बच्ची का क्षत-विक्षत शव बरामद किया. मामले में पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. इस घटना के बाद से ग्रामीणों में दहशत है.

कतर्नियाघाट रेंज के कटियारा बीट में नाना के साथ बकरी चरा रही बालिका को बाघ जंगल की ओर घसीट ले गया. सूचना पाकर पहुंचे एसएसबी जवानों व ग्रामीणों ने जंगल में तलाश शुरू की. कुछ दूरी पर बालिका का क्षत-विक्षत शव बरामद हुआ. सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. परिवारीजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. वनाधिकारियों ने हमले की रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेज दी है. वहीं, घटना को लेकर ग्रामीणों में दहशत के साथ आक्रोश भी है.

कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग के कतर्नियाघाट रेंज अंतर्गत बर्दिया गांव निवासी आसमीन (11) पुत्री मैनुद्दीन अपने नाना अब्दुल सत्तार के साथ खेत में बकरी चरा रही थी. बालिका बकरी चराते हुए कुछ दूरी पर चली गई. सोमवार सुबह 11 बजे के आसपास जंगल से निकले बाघ ने बालिका को दबोच लिया. इसके बाद उसे जंगल की ओर ले गया. साथ में बकरी चरा रहे नाना के अलावा पहलवान और जाकिर अहमद ने हांका लगाते हुए बाघ से छुड़ाने की कोशिश की लेकिन जंगल में बाघ ने बालिका को निवाला बना लिया.



एसएसबी जवानों ने खोजा शव
सूचना पाकर एसएसबी 70वीं बटालियन 'E' कंपनी के सब इंस्पेक्टर आंचल सिंह, एसएसआई अंगता गोस, हवलदार संदीप कुमार व राजेश्वर कुमार यादव ने ग्रामीणों के साथ खोजबीन करते हुए कुछ दूरी पर बालिका के क्षत-विक्षत शव को बरामद कर लिया. इंस्पेक्टर के मुताबिक एसएसबी कैंप से 100 मीटर की दूरी पर जंगल में शव मिल गया. इससे परिवार में कोहराम मच गया. परिवार के लोग रोते-बिलखते घटनास्थल पर पहुंचे. ग्रामीणों ने बाघ के हमले की सूचना रेंज कार्यालय पर दी. वन दरोगा पवन शुक्ला वनकर्मियों के साथ पहुंचे. सुजौली थाने के उपनिरीक्षक कौसर अली कुरैशी ने महिला पुलिस की मौजूदगी में शव को पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

शव के पास दहाड़ता रहा बाघ
कतर्नियाघाट के कटियारा बीट में बालिका को निवाला बनाने के बाद बाघ वहीं पर बैठा रहा. प्रत्यक्षदर्शी ग्रामीणों के मुताबिक शिकार के बाद बाघ रह-रह कर दहाड़ता रहा. इससे ग्रामीणों में दहशत है. ग्रामीणों ने लगातार हो रहे हमलों पर भी नाराजगी जतायी. वन क्षेत्राधिकारी पीयूष मोहन श्रीवास्तव का कहना है कि बाघ के हमले में बालिका की मौत हुई है. शव पोस्टमार्टम के लिए गया है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद मृतक के परिवारीजनों को आर्थिक सहायता राशि दी जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज