• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • बहराइच: कतर्नियाघाट इलाके में ग्रामीणों ने दो तेंदुओं को पीट कर मार डाला !

बहराइच: कतर्नियाघाट इलाके में ग्रामीणों ने दो तेंदुओं को पीट कर मार डाला !

शव खाने से हुए तेंदुए की मौत (फोटो-प्रतीकात्मक)

शव खाने से हुए तेंदुए की मौत (फोटो-प्रतीकात्मक)

ग्रामीणों ने तेंदुए को घेर लिया और लाठी-डंडो से पीट-पीट कर मार डाला डीएफओ ने बताया कि मृतक तेंदुआ करीब 3 वर्ष उम्र की मादा है. जबकि दूसरे एक साल की उम्र के तेंदुए की मौत में वन विभाग (Forest Department) की कार्य शैली पर भी सवाल उठना लाजमी है....

  • Share this:
    बहराइच. उत्तर प्रदेश के बहाराइच जिले में स्थित कतर्नियाघाट वन्यजीव अभ्यारण्य (Katarniaghat Wildlife Sanctuary) के अंतर्गत आने वाले रिहायशी इलाकों में बृहस्पतिवार को अलग-अलग घटनाओं में लोगों ने दो तेंदुओं को लाठी-डंडो से पीट-पीट कर मार डाला. एक तेंदुए ने खेत में काम कर रहे ग्रामीण में हमला किया था जबकि दूसरा एक घर में छिपा था जहां से भागने के दौरान उसे ग्रामीणों ने घायल कर दिया जिससे उसकी मौत हो गई.

    ग्रामीणों ने तेंदुए को घेर लिया
    प्रभागीय वन अधिकारी (DFO) जीपी सिंह ने बताया कि डिवीजन के ककरहा रेंज अंतर्गत मझरा गांव में सुबह करीब 10 बजे एक तेंदुए (Leopard) ने खेतों में काम कर रहे ग्रामीण केशव राम पर हमला कर दिया. बाद में ग्रामीणों ने तेंदुए को घेर लिया और लाठी-डंडो से पीट-पीट कर मार डाला डीएफओ ने बताया कि मृतक तेंदुआ करीब 3 वर्ष उम्र की मादा है. जबकि दूसरे एक साल की उम्र के तेंदुए की मौत में वन विभाग (Forest Department) की लापरवाही से भी इंकार नहीं किया जा सकता.

    घर में घुसी थी मादा तेंदुआ
    डीएफओ जीपी सिंह ने बताया कि दूसरी घटना वन्य अभयारण्य के सुजौली रेंज अंतर्गत धनियाबेली गांव की है. यहां करीब एक साल की मादा तेंदुआ डॉक्टर छोटेलाल के घर में घुसी थी. लोगों ने शोर मचाया तो घर से भागते समय उसने खेत में काम कर रहे राजू नाम के शख्स को घायल कर दिया इस दौरान ग्रामीणों ने उसे लाठी-डंडों से पीटा. उसके बाद वो पास के गन्ने के खेत में घुस गई. रिपोर्ट के मुताबिक ग्रामीणों की सूचना पर वन विभाग की टीम बचाव करने पहुंची तो तेंदुए ने पवन शुक्ला नामक फारेस्ट गार्ड पर हमला कर दिया. बचाव कार्य हेतु और अधिक वन कर्मी बुलाए गये तो वो शावक खेत में मृत पायी गयी.

    डीएफओ के मुताबिक खेत में छिपने से पहले ग्रामीणों ने तेंदुए को लाठी-डंडो से पीटा होगा जिसके चलते उसकी मौत होने की संभावना है. फिलहाल शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है. जबकि मामले की जांच की जा रही है. डीएफओ के अनुसार तीनों घायलों को मामूली चोटें आई हैं. उन्हें प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर उपचार के बाद छुट्टी दे दी गयी है. डीएफओ ने बताया कि दोनो तेंदुओं के शवों को पोस्टमार्टम के लिए आईवीआरआई (IVRI) बरेली भेजा जा रहा है. हालांकि इस मामले में वन विभाग के रेस्क्यू पर भी सवाल उठना लाजमी है कि अगर समय से रेस्क्यू हो जाता तो संभव था कि इस तेंदुए की जान बच जाती. वही इस मामले पर वन विभाग के फील्ड डायरेक्टर संजय पाठक ने कहा है कि घटना की गहन जांच कराई जा रही है. तेंदुओं की हत्या करने वालों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी. (इनपुट-भाषा)

    ये भी पढ़ें- CM योगी का निर्देश, 20 से अधिक कोविड-19 केस वाले जिलों में भेजे जाएं वरिष्ठ अधिकारी

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज