बहराइचः डाक बंगले में नहीं मिला कमरा तो BJP विधायक ने किया हंगामा

श्रावस्ती सीट से चुने गए विधायक का आरोप है कि डाक बंगले में कमरा उपलब्ध नहीं करवाकर विधायक प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया गया. नाराज विधायक ने मामले की शिकायत जिलाधिकारी से लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय में भी दर्ज कराई है

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 25, 2018, 11:38 AM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: April 25, 2018, 11:38 AM IST
बहराइच जिले में मंगलवार को भाजपा विधायक राम फेरन पांडे डाक बंगले में कमरा नहीं मिलने पर जमकर हंगामा किया. श्रावस्ती सीट से चुने गए विधायक का आरोप है कि डाक बंगले में कमरा उपलब्ध नहीं करवाकर विधायक प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया गया. नाराज विधायक ने मामले की शिकायत जिलाधिकारी से लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय में भी दर्ज कराई है.

बकौल विधायक, उन्हें काफी देर खड़े रहने के बाद बैठने के लिए टूटी कुर्सी उपलब्ध कराई गई, जिससे वो आहत हैं. डाक बंगले में उपलब्ध टार सूट में से एक भी सूट खाली नहीं था, जहां दो कमरों में जिले के अधिकारी रुके थे जबकि दो कमरों में वीआईपी के नाम पर अन्जान लोग ठहराए गए थे. मामले की शिकायत के बाद मौके पर आनन-फानन में अधिशासी अभियंता प्रांतीय खंड व सिटी मजिस्ट्रेट भी डाक बंगले पर पहुंच गए और मामले की तफ्तीश में जुट गए.

रिपोर्ट के मुताबिक नाराज विधायक ने सिटी मजिस्ट्रेट से डाक बंगले के आगंतुकों की रजिस्टर्ड तलब की, लेकिन काफी देर के इंतजार के बाद भी अधिकारी आगंतुकों का रजिस्टर उपलब्ध नहीं करा सके, जिससे भड़के विधायक वहां से चले गए.

विधायक का आरोप है कि अधिकारी सरकार की छवि खराब करने पर उतारू हैं. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने विधायकों के सम्मान के लिए कड़े फरमान जारी किए हैं, बावजूद इसके अधिकारी मनमानी पर उतारू हैं.

उन्होंने आगे बताया कि डाक बंगले के पंचम तल और जिलाधिकारी को मामले से अवगत करा दिया गया हैं और अगर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही नहीं हुई तो वो मामले को माननीय मुख्यमंत्री के दरवाजे तक ले जाएंगे.

गौरतलब है श्रावस्ती विधानसभा सीट से भाजपा विधायक राम फेरन पांडे सोमवार को जिले के प्रभारी मंत्री धुन्नी सिंह को बहराइच तक छोड़ने आए थे, जहां उन्हें प्यास और थकान महसूस हुई और जब प्यास बुझाने के लिए विधायक डाक बंगले पर पहुंचे तो वहां की व्यवस्था देखकर काफी आहत हुए.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर