लाइव टीवी

आग में झुलसने से हुई मादा तेंदुए की मौत, सामने आई वन विभाग की लापरवाही

भाषा
Updated: May 27, 2018, 9:32 PM IST
आग में झुलसने से हुई मादा तेंदुए की मौत, सामने आई वन विभाग की लापरवाही
तेंदुआ ( फाइल फोटो )

दमकल की मदद से आग बुझाने पर झाड़ियों में छिपी मादा तेंदुए ने भागकर जान बचाने की कोशिश की लेकिन भायनक गर्मी और आग में झुलसने के कारण तेंदुए की मौत हो गयी.

  • Share this:
यूपी के रामगांव थाना अंतर्गत तीन गांवों में शनिवार सुबह हमला कर छह लोगों को घायल करने वाली मादा तेंदुए को ग्रामीणों ने मार डाला. बहराइच के प्रभागीय वन अधिकारी आरपी सिंह ने बताया कि सुबह इलाके के नकही तथा धोबिया गांव के तीन-तीन लोगों को घायल कर उक्त मादा तेंदुआ खालेपुरवा गांव पहुंची. यहां उसने दो और ग्रामीणों पर हमला कर दिया.

आरपी सिंह ने बताया कि ग्रामीणों ने तेंदुए को घेरा तो वह एक खेत की झाड़ियों में जा छुपी. इस दौरान किसी ने झाड़ियों में आग लगा दी. दमकल की मदद से आग बुझाने पर झाड़ियों में छिपी मादा तेंदुए ने भागकर जान बचाने की कोशिश की लेकिन भायनक गर्मी और आग में झुलसने के कारण तेंदुए की मौत हो गयी.

डीएफओ ने बताया कि मृत तेंदुए के शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर ही मौत के सही कारण की पुष्टि हो सकेगी.  प्रभागीय वन अधिकारी जी पी सिंह ने मीडिया को बताया कि बर्दिया गांव निवासी वृद्धा कौशल्या (70) गांव के पास जंगल में लकड़ी बीनने गयी थी. उसी समय अपने दो शावकों के साथ वहां मौजूद मादा तेंदुए ने वृद्धा पर हमला कर दिया. लोगों ने शोर मचाकर उन्हें बचाने की कोशिश की लेकिन करीब आधा घंटा मादा तेंदुआ अपने शावकों के साथ वहां डटी रही. बाद में शोर अधिक होने पर वह घने जंगल में चली गई,

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बहराइच से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 27, 2018, 9:32 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर