बहराइचः दहेज में नहीं मिली बाइक तो पत्नी को पीटकर कोमा में पहुंचाया

मुंह में कपड़ा ठूंसने, रस्सियों से बांधकर करंट लगाने जैसी यातनाओं रोज चुपचाप सहने वाली विवाहिता एक दिन जब बेहोश हो गई तब मामले का खुलासा हुआ


Updated: May 23, 2018, 11:11 AM IST

Updated: May 23, 2018, 11:11 AM IST
बहराइच जिले में दहेज में बाइक नहीं मिलने पर एक पति हैवान बन गया और पत्नी को दी गई उसकी अमानवीय यातनाएं जिसने भी सुना वह दंग रह गया. मुंह में कपड़ा ठूंसने, रस्सियों से बांधकर करंट लगाने जैसी यातनाओं रोज चुपचाप सहने वाली विवाहिता एक दिन जब बेहोश हो गई तब मामले का खुलासा हुआ. बेरहम पति का दिल तब भी नहीं पसीजा और पीड़िता को उसके मायके छोड़कर फरार हो गया.

पीड़िता की यातना यहीं कम नहीं हुई, न्याय के लिए जब पीड़िता थाने पहुंची तो पुलिस ने भी आरोपी पति के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने से इनकार कर दिया. आखिरकार थक-हारकर पीड़िता के परिजन जब मंगलवार को एसपी ऑफिस पहुंचे तब जाकर आरोपी पति के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा सका.

थाना नवाबगंज क्षेत्र निवासी अल्ताफ खान की पीड़ित बेटी की शादी 4 वर्ष पूर्व दिलदार नामक युवक से हुई थी. पीड़िता के परिजनों की मानें तो शादी के कुछ दिनों बाद से ही दहेज़लोभी पति ने दहेज के लिए पत्नी के साथ मारपीट शुरू कर दी, लेकिन तब पीड़िता ने पति की यातनाओं की खबर परिजनों को नहीं लगने दी. कई बार तो आरोपी अपनी सास और सालियों के सामने भी पीड़िता से मारपीट कर चुका है.

पिता के मुताबिक डेढ़ महीने पहले आरोपी पति द्वारा 30 हज़ार रुपए की डिमांड पर उन्होंने किसी तरह से पैसों का इंतजाम कर पैसे दे दिए, लेकिन आरोपी की डिमांड दिन पर दिन बढ़ती चली गई और इस बार उसने मोटरसाइकिल की मांग रख दी और मांग नहीं पूरी नहीं होने पर उसने पीड़िता को प्रताड़ित करना शुरू कर दिया. पिता के मुताबिक आरोपी कभी पीड़िता को रस्सियों से बांधकर पीटता, तो कभी मुंह में कपडा ठूंसकर करेंट के झटके देता और प्रताड़ना से पीड़िता जब मरणासन्न हो गई तो मायके छोड़कर भाग गया.

बताया जाता है पीड़िता को परिजनों द्वारा अस्पताल में भर्ती करवाया तो वह कोमा में पहुंच गई, लेकिन मामले की तहरीर के बाद भी आरोपी पति के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा तक दर्ज नहीं किया. यही कारण था कि लाचार परिजन एसपी ऑफिस पहुंच गए. फिलहाल, एसपी के आदेश पर पुलिस ने मामले की प्राथमिकी दर्ज कर ली है, लेकिन अभी तक आरोपी पति पुलिस की पकड़ से अभी भी बाहर है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर