• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • UP: मुलायम-जनेश्वर के साथ देश में प्रबुद्ध सम्मेलनों का सिलसिला सबसे पहले हमने शुरू किया: सपा

UP: मुलायम-जनेश्वर के साथ देश में प्रबुद्ध सम्मेलनों का सिलसिला सबसे पहले हमने शुरू किया: सपा

UP: बहराइच में सपा के प्रबुद्ध सम्मेलन के दौरान विधायक मनोज पांडेय

UP: बहराइच में सपा के प्रबुद्ध सम्मेलन के दौरान विधायक मनोज पांडेय

UP News: बहराइच के महसी क्षेत्र में सपा के प्रबुद्ध सम्मेलन में विधायक मनोज पांडेय ने कहा कि 1997 में शुरूआत होने के बाद सपा ने नवम्बर 2018 में प्रबुद्ध सम्मेलनों का दूसरा चरण और 2020 में तीसरा चरण आयोजित किया था. अब 2021 में इन सम्मेलनों का चौथा चरण चल रहा है.

  • Share this:

    बहराइच. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के मद्देनजर विभिन्न दलों द्वारा ‘प्रबुद्ध सम्मेलन’ आयोजित किये जाने की होड़ के बीच समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने दावा किया है कि देश में ऐसे सम्मेलनों की शुरुआत सबसे पहले उन्होंने ने ही की थी. प्रबुद्ध सभा के प्रदेश अध्यक्ष सपा विधायक मनोज पांडेय ने मंगलवार को बहराइच (Behraich) में कहा, ’’कुछ लोग प्रबुद्ध वर्ग का झंडाबरदार होने का दावा कर रहे हैं. उन्हें शायद यह मालूम नहीं है कि देश में प्रबुद्ध सम्मेलनों की शुरुआत समाजवादियों ने ही की. देश का सबसे पहला प्रबुद्ध सम्मेलन जनवरी 1997 में रायबरेली में हुआ था. उस प्रबुद्ध सम्मेलन को केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री रहे जनेश्वर मिश्र और तत्कालीन रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव ने संबोधित किया था.”

    बहराइच के महसी क्षेत्र में मंगलवार को सपा के प्रबुद्ध सम्मेलन में उन्होंने कहा कि 1997 में शुरूआत होने के बाद सपा ने नवम्बर 2018 में प्रबुद्ध सम्मेलनों का दूसरा चरण और 2020 में तीसरा चरण आयोजित किया था. अब 2021 में इन सम्मेलनों का चौथा चरण चल रहा है.

    भाजपा सरकार को ब्राह्मण विरोधी करार देते हुए मनोज पांडेय ने कहा कि भाजपा सरकार जिन ब्राह्मणों की हत्या करवा रही है, उसी ब्राह्मण कुल के मंगल पांडे ने 1857 के आंदोलन में अंग्रेजों के विरुद्ध जंग का बिगुल फूंका था. ब्राह्मण के स्वाभिमान की बात आई तो चाणक्य ने धनानंद को गद्दी से उतारकर पिछड़े समाज के चंद्रगुप्त मौर्य को सम्राट बना दिया था.

    मनोज पांडेय ने कहा, ’’प्रदेश भर में हो रहे प्रबुद्ध सम्मेलनों के माध्यम से हम अपने उस प्रबुद्ध और ब्राह्मण समाज के बीच जा रहे हैं, जिसने देश में कभी एक तपस्वी, कभी साहित्यकार, कभी कवि, कभी बड़ा वैज्ञानिक तो कभी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बनकर देश को नई दिशा और सही दिशा देने का काम किया है.”

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज