काटजू के बाद साध्‍वी ने कहा, महात्‍मा गांधी अंग्रेजों के एजेंट

यूपी के बहराइच में विश्व हिन्दू परिषद के 50वें वार्षिक समारोह में वीएचपी नेता साध्वी प्राची ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। उन्‍होंने महात्मा गांधी को अंग्रेजों का एजेंट बताया है। इससे पहले जस्टिस मार्कंडेय काटजू ने महात्मा गांधी को ब्रिटेन का वफादार एजेंट कहा था।

News18
Updated: March 18, 2015, 9:53 AM IST
काटजू के बाद साध्‍वी ने कहा, महात्‍मा गांधी अंग्रेजों के एजेंट
यूपी के बहराइच में विश्व हिन्दू परिषद के 50वें वार्षिक समारोह में वीएचपी नेता साध्वी प्राची ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। उन्‍होंने महात्मा गांधी को अंग्रेजों का एजेंट बताया है। इससे पहले जस्टिस मार्कंडेय काटजू ने महात्मा गांधी को ब्रिटेन का वफादार एजेंट कहा था।
News18
Updated: March 18, 2015, 9:53 AM IST
यूपी के बहराइच में विश्व हिन्दू परिषद के 50वें वार्षिक समारोह में वीएचपी नेता साध्वी प्राची ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। उन्‍होंने महात्मा गांधी को अंग्रेजों का एजेंट बताया है। इससे पहले जस्टिस मार्कंडेय काटजू ने महात्मा गांधी को ब्रिटेन का वफादार एजेंट कहा था।

इतना ही नहीं उन्होंने इंदिरा गांधी के बारे में कहा कि उन्होंने संतों पर गोलियां चलवाई थीं और संतों का अपमान करने वाले की मौत अच्छी नहीं होती।

साध्वी ने कहा कि ये देश चरखा चलाने से आजाद नहीं हुआ, बल्कि वीर सारवरकर और भगतसिंह जैसे सपूतों के बलिदान देने से आजाद हुआ है। उन्‍होंने कहा कि इंदिरा गांधी जब प्रधानमंत्री थी तो संत लोग उनके पास गोहत्या का मामला लेकर गए थे इंदिरा ने उन संतों पर गोलियां चलवाई थीं।

वीएचपी के समारोह के दौरान साध्‍वी ने कहा कि दो से अधिक बच्चे पैदा करने वाले लोगों का मताधिकार समाप्त कर देना चाहिए। यह कानून बनाकर सभी धर्मों के लोगों के लिए दो बच्चों की अनिवार्यता तय की जानी चाहिए और इससे ज्यादा बच्चे पैदा करने वालों का मताधिकार समाप्त करके उन्हें मिलने वाली सरकारी सुविधाएं समाप्त कर दी जानी चाहिए। वहीं, साध्वी अपने चार बच्चों वाले बयान पर कायम हैं।

इतना ही नहीं उन्होंने सुब्रमण्यम स्वामी के मस्जिद कोई धार्मिक स्थल नहीं वाले बयान का भी समर्थन किया और बोलीं कि मैं उनका समर्थन करती हूं मस्जिद सिर्फ दीवारें होती हैं।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...