ब्राह्मणों का आरोप, दौलत की बेटी सावित्री बाई फुले का एससी की जमीन पर कब्जा

ब्राह्मण समाज के लोगों ने कहा कि सावित्री बाई फुले अनुसूचित जाति की नहीं दौलत की बेटी है. ब्राह्मण समाज के लोगों ने आरोप लगाया कि वे पहले से नानपारा में अनुसूचित जाति के कई लोगों की जमीन कब्जा कर चुकी हैं और इस संबंध में नानपारा कोतवाली में इनके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 7, 2018, 11:52 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: December 7, 2018, 11:52 PM IST
बहराइच से भाजपा की सांसद सावित्री बाई फुले ने गुरुवार को भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दिया था लेकिन सवर्णों ने बहराइच के पुलिस अधीक्षक कार्यालय में पहुंचकर उनके खिलाफ अपना गुस्सा निकाला.

ब्राह्मण समाज लामबंद होकर शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचा और अपने आक्रोश का इजहार किया. सभी ब्राह्मणों कहा कि, “हम सभी ने वोट देकर उनको सांसद बनाया था, लेकिन आज वे हम लोगों का अपमान कर रही हैं. सावित्री बाई फुले अनुसूचित जाति की नहीं, दौलत की बेटी है. ब्राह्मण समाज के लोगों ने आरोप लगाया कि वे पहले से नानपारा में कई अनुसूचित जाति के लोगों की जमीन कब्जा कर चुकी हैं और इस संबंध में नानपारा कोतवाली में इनके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज है.”

सावित्री बाई फूले के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के लिए सैकड़ों की संख्या में सवर्ण समाज के लोग पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे और एसपी को ज्ञापन दिया. गौरतलब है कि सावित्री भाई फूले पिछले डेढ़ सालों से भाजपा में नाराज चल रही थीं.

वे भाजपा के खिलाफ पिछले कुछ समय से जमकर हमला बोल रही थी. हाल ही में देश में रह रहे तीन प्रतिशत पंडितों पर हमला करते हुए उन्होंने कहा था कि देश के सभी मंदिरों में पंडितों का कब्जा है, जो देश को गुमराह करते हैं और पंडित अनुसूचित जातियों और पिछड़ों को आपस में बांटकर राजनीति चमका रहे हैं, लेकिन अब एससी पिछड़ा नहीं रहा. इसी बयान के दूसरे दिन उन्होंने भाजपा से इस्तीफा दे दिया.

ब्राह्मणों ने कहा कि ये अनुसूचित जातियों की नेता बनना चाहती हैं. शुक्रवार को वे लोग पुलिस अधीक्षक कार्यालय में मुकदमा दर्ज कराने गए और कहा कि अगर मुकदमा पंजीकृत नहीं हुआ तो बड़ा आंदोलन किया जाएगा. वे सड़कें जाम करेंगे. इस मामले में पुलिस अधीक्षक ने बोलने से मना कर दिया और कहा कि सांसद का मामला है, जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें - 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->