बहराइच में नसबंदी के तीन साल बाद महिला ने जुड़वा बच्‍चों को दिया जन्‍म

बहराइच जिले के रिसिया थाना क्षेत्र के गांव में महिला ने तीन साल पहले जुड़वा बच्चों को जन्म देने के बाद 2013 में नसबंदी कराई थी। करीब तीन साल बाद महिला ने एक बार फिर जुड़वा बच्चों को जन्म देकर स्वास्थ्य महकमे की लापरवाही उजागर कर दी। कहा तो यह भी जा रहा है कि सीएमओ ने महिला को 30 हजार रुपए देकर खमोश रहने की हिदायत दी है।

News18
Updated: November 28, 2014, 8:48 AM IST
बहराइच में नसबंदी के तीन साल बाद महिला ने जुड़वा बच्‍चों को दिया जन्‍म
बहराइच जिले के रिसिया थाना क्षेत्र के गांव में महिला ने तीन साल पहले जुड़वा बच्चों को जन्म देने के बाद 2013 में नसबंदी कराई थी। करीब तीन साल बाद महिला ने एक बार फिर जुड़वा बच्चों को जन्म देकर स्वास्थ्य महकमे की लापरवाही उजागर कर दी। कहा तो यह भी जा रहा है कि सीएमओ ने महिला को 30 हजार रुपए देकर खमोश रहने की हिदायत दी है।
News18
Updated: November 28, 2014, 8:48 AM IST
बहराइच जिले के रिसिया थाना क्षेत्र के गांव में महिला ने तीन साल पहले जुड़वा बच्चों को जन्म देने के बाद 2013 में नसबंदी कराई थी। करीब तीन साल बाद महिला ने एक बार फिर जुड़वा बच्चों को जन्म देकर स्वास्थ्य महकमे की लापरवाही उजागर कर दी। कहा तो यह भी जा रहा है कि सीएमओ ने महिला को 30 हजार रुपए देकर खमोश रहने की हिदायत दी है।

गंदौरा गांव में रामअधार की पत्नी अनीता (30) ने करीब तीन साल पहले जुड़वा बच्चों को जन्म दिया और बच्चों का नाम करन व अर्जुन रखा। बच्‍चों के फिल्मी नाम रखने के बाद महिला ने सात जनवरी 2013 को जिला अस्पताल में तत्कालीन महिला चिकित्सक सुषमा सिंह से नसबंदी कराई थी।

नसबंदी पौने दो साल बाद महिला एक बार फिर गर्भवती हो गई और उसने मंगलवार की देर रात नसबंदी के बाद दोबारा एक बार फिर जुड़वा बच्चों को जन्म दिया।

सीएमओ डॉ. जेएन मिश्र ने कहा, 'किसी-किसी केस में नसबंदी के बाद भी ऐसा हो जाता है। फिलहाल महिला को बतौर क्षतिपूर्ति 30 हजार रुपए दे दिए गए हैं।'
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...