Home /News /uttar-pradesh /

UP Elections: यूपी की इन सीटों पर विरासत बचाने की चुनौती, जानें इस सियासी परिवार की दिलचस्प कहानी

UP Elections: यूपी की इन सीटों पर विरासत बचाने की चुनौती, जानें इस सियासी परिवार की दिलचस्प कहानी

यासर शाह ने अपनी पत्नी मारिया शाह को मटेरा विधान सभा से मैदान में उतारा है और खुद अपने पिता डॉक्टर वकार अहमद शाह की विरासत बचाने बहराइच सदर से इस बार चुनाव लड़ रहे हैं.

यासर शाह ने अपनी पत्नी मारिया शाह को मटेरा विधान सभा से मैदान में उतारा है और खुद अपने पिता डॉक्टर वकार अहमद शाह की विरासत बचाने बहराइच सदर से इस बार चुनाव लड़ रहे हैं.

UP Assembly Elections 2022: यूपी के बहराइच जिले में सात विधान सभा सीटें हैं, मगर दो विधान सभाएं ऐसी हैं जहां का चुनाव दिलचस्प हो गया है. यहां की मटेरा विधानसभा और बहराइच सदर विधानसभा सीटों पर विरासत बचाने सियासी साख दांव पर है. यहां दो बार से लगातार विधायक रहे यासर शाह ने अपनी पत्नी मारिया शाह को मटेरा विधान सभा से मैदान में उतारा है और खुद अपने पिता डॉक्टर वकार अहमद शाह की विरासत बचाने बहराइच सदर विधानसभा सीट से इस बार चुनाव लड़ रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

बहराइच. यूपी के बहराइच (Bahraich) जिले में पांचवें चरण में चुनाव होना है. जिले में सात विधानसभा सीटें हैं, मगर दो विधानसभाएं ऐसी हैं, जहां का चुनाव बड़ा दिलचस्प नजर आ रहा है. यहां की मटेरा विधानसभा और बहराइच सदर विधानसभा, इन दोनों विधानसभा की सीट पर अब सियासत में विरासत बचाने की एक दिलचस्प दास्तान सामने आई है. जहां दो बार से लगातार विधायक रहे यासर शाह ने अपनी पत्नी मारिया शाह को इस बार मटेरा विधान सभा से मैदान में उतारा है और खुद अपने पिता डॉक्टर वकार अहमद शाह की विरासत बचाने बहराइच सदर विधानसभा सीट से इस बार चुनाव लड़ रहे हैं.

बहराइच सदर विधान सभा की सीट पर सपा के टिकट पर 1993 से 2012 तक लगातार डॉक्टर वकार अहमद शाह चुनाव जीतते रहे थे और 23 साल तक उन्हें कोई इस सीट से हरा नहीं पाया था. मगर 2012 का चुनाव जीतने के कुछ दिन बाद ही वकार अहमद शाह बीमार पड़ गए और लगभग 5 साल की लंबी बीमारी के बाद उनका देहांत हो गया था. उसके बाद बहराइच सदर की इस सीट से डॉक्टर वकार अहमद शाह की पत्नी रूवाब सईदा ने 2017 में चुनाव लड़ा और वो बीजेपी की महिला प्रत्याशी अनुपमा जयसवाल से चुनाव हार गईं.

इस बार समाजवादी पार्टी ने बहराइच सदर की सीट पर डॉक्टर वकार अहमद शाह के बेटे यासर शाह को मैदान में उतारा है. यासर शाह सपा सरकार में ऊर्जा मंत्री भी रह चुके हैं. इन दोनों सीटों पर अब विरासत बचाने की जंग लड़ी जा रही है. जहां मारिया शाह दरवाजे खटखटा कर वोट मांग रही हैं तो वहीं यासर शाह अपने और पिता द्वारा कराए गए विकास की बात पर वोट मांग रहे है.

मारिया शाह का कहना है इस विधान सभा में बीजेपी सरकार में 5 साल कोई काम नहीं हुआ है. जो काम मेरे पति ने दो बार विधायक रहते हुए कराया था आज भी वही काम नजर आ रहा है. अगर मैं विधायक बनती हूं तो जो काम मेरे पति के अधूरे रह गए है मैं उन्हें पूरा करूंगी.

Tags: Bahraich news, Uttar Pradesh Assembly Elections, Uttar Pradesh Elections

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर