बलिया कांड: मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह को पकड़ने के लिए पुलिस ने गठित की 12 टीमें

धीरेंद्र ने वायरल वीडियो में दावा किया कि अधिकारियों की मौजूदगी में उसके 80 वर्षीय पिता व भाभी पर भी हमला किया गया. (फाइल फोटो)
धीरेंद्र ने वायरल वीडियो में दावा किया कि अधिकारियों की मौजूदगी में उसके 80 वर्षीय पिता व भाभी पर भी हमला किया गया. (फाइल फोटो)

मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह (Dhirendra Pratap Singh) ने स्वयं को निर्दोष करार देते हुए दावा किया है कि रेवती की घटना में उसके परिवार के एक व्यक्ति की भी मौत हो गई है तथा आधा दर्जन लोग घायल हुए हैं.

  • Share this:
बलिया. उत्तर प्रदेश के बलिया (Ballia) में कोटे की दुकान के आवंटन को लेकर प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा बुलाई गई खुली बैठक में एक शख्स की गोली मारकर हत्या (Shot Dead) मामले में पुलिस ने फरार आरोपियों पर इनाम घोषित किया है. साथ ही उनके विरुद्ध रासुका व गैंगस्टर कानून (Rasuka And Gangster Law) के अंतर्गत कार्रवाई की घोषणा की है. इस मामले में मुख्य आरोपी सहित छह मुलजिम अभी फरार हैं, जबकि दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस उप महानिरीक्षक सुभाष चंद्र दुबे ने रेवती कांड के फरार आरोपियों के विरुद्ध 50-50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है. साथ ही आरोपियों के विरुद्ध रासुका व गैंगस्टर कानून के अंतर्गत कार्रवाई की घोषणा भी की है. पुलिस अधीक्षक देवेंद्र नाथ ने फरार आरोपियों के विरुद्ध 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है. इस मामले में पुलिस ने दो आरोपियों देवेंद्र प्रताप सिंह व नरेंद्र प्रताप सिंह को गिरफ्तार किया है तथा पांच अन्य लोगों को हिरासत में लिया है. घटना का मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह डब्ल्यू अभी फरार है. गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने 12 टीम गठित की हैं.

उसके परिवार के एक व्यक्ति की भी मौत हो गई है
इस बीच मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह ने स्वयं को निर्दोष करार देते हुए दावा किया है कि रेवती की घटना में उसके परिवार के एक व्यक्ति की भी मौत हो गई है तथा आधा दर्जन लोग घायल हुए हैं. उसने सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर शुक्रवार रात जारी वीडियो में स्वयं को पूर्व सैनिक संगठन का अध्यक्ष करार दिया है. आरोपी ने घटना को पूर्व नियोजित करार देते हुए आरोप लगाया है कि उसने आवंटन के लिये बैठक शुरू होते ही उप जिलाधिकारी, पुलिस उपाधीक्षक व अन्य अधिकारियों से अप्रिय घटना होने की आशंका जताई थी, लेकिन अधिकारियों ने उसकी बात पर कोई ध्यान नहीं दिया.
80 वर्षीय पिता व भाभी पर भी हमला किया गया


धीरेंद्र ने वायरल वीडियो में दावा किया कि अधिकारियों की मौजूदगी में उसके 80 वर्षीय पिता व भाभी पर भी हमला किया गया. गौरतलब है कि जिले के रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर ग्राम में बृहस्पतिवार को सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान के चयन के दौरान कथित रूप से गोली लगने से एक व्यक्ति की मौत हो गयी थी तथा कई लोग घायल हो गये थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज