बलिया: दलित किशोरी के साथ दुष्कर्म के मामले में कोर्ट ने सुनाई आजीवन कारावास की सजा

 पुलिस अधीक्षक डॉ. विपिन ताडा ने बताया कि चितबड़ागांव थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली 16 वर्षीय दलित लड़की का एक जुलाई 2018 को अपहरण कर बलात्कार किया गया. (सांकेतिक फोटो)

पुलिस अधीक्षक डॉ. विपिन ताडा ने बताया कि चितबड़ागांव थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली 16 वर्षीय दलित लड़की का एक जुलाई 2018 को अपहरण कर बलात्कार किया गया. (सांकेतिक फोटो)

किशोरी के पिता की शिकायत पर गांव के ही रहने वाले युवक राहुल कुमार साहनी (Rahul Kumar Sahni) के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता, पॉक्सो तथा अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम की सुसंगत धाराओं में मामला दर्ज किया गया था.

  • Share this:
बलिया. बलिया जिले (Ballia District) की एक स्थानीय अदालत ने 16 वर्षीय एक दलित किशोरी (Dalit Teenager) का अपहरण कर बलात्कार (Rape) करने के मामले में आरोपी युवक को मंगलवार को दलित अधिनियम, पॉक्सो तथा बलात्कार के मामले में दोषी करार देते हुए तीनों मामले में अलग-अलग आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. पुलिस अधीक्षक डॉ. विपिन ताडा ने बताया कि चितबड़ागांव थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली 16 वर्षीय दलित लड़की का एक जुलाई 2018 को अपहरण कर बलात्कार किया गया.

इस मामले में किशोरी के पिता की शिकायत पर गांव के ही रहने वाले युवक राहुल कुमार साहनी के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता, पॉक्सो तथा अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम की सुसंगत धाराओं में मामला दर्ज किया गया. ताडा ने बताया कि विशेष न्यायाधीश (पॉक्सो एक्ट)/ अपर सत्र न्यायाधीश शिव कुमार द्वितीय की अदालत ने मंगलवार को दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद आरोपी राहुल कुमार साहनी को दोषी करार देते हुए विभिन्न धाराओं के तहत सजा सुनाई और जुर्माना लगाया. उन्होंने बताया कि अदालत ने अर्थदण्ड की संपूर्ण राशि का आधा भाग पीड़िता को देने तथा जुर्माना अदा नहीं करने की स्थिति में दोषी की चल-अचल संपत्ति से अर्थदंड की राशि वसूल करने का आदेश दिया.

Youtube Video


जान से मारने की धमकी देने की बात कही गई थी
वहीं, कुछ देर पहले खबर सामने आई थी कि उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले के सजेती थाना क्षेत्र में एक 13 वर्षीय नाबालिग किशोरी के गैंगरेप की घटना के 24 घंटे के भीतर ही पीड़िता के पिता की अज्ञात वाहन से टक्कर के बाद मौत हो गई. हादसे के बाद गुस्साए परिजनों ने हत्या का आरोप लगाते हुए कानपुर-सागर हाईवे को जाम कर दिया. परिजनों और ग्रामीणों का आरोप है कि आरोपियों द्वारा ही इस वारदात को अंजाम दिया गया है. दरअसल, पीड़िता के पिता ने भी आरोपियों के भाई द्वारा पुलिस में शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी देने की बात कही गई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज