बलिया गोलीकांड: आरोपी के समर्थन में उतरे बीजेपी MLA सुरेंद्र सिंह, बोले- इंसाफ की लड़ाई में हम अकेले

फफक-फफक कर रो पड़े बीजेपी MLA सुरेंद्र सिंह
फफक-फफक कर रो पड़े बीजेपी MLA सुरेंद्र सिंह

बैरिया से बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह (BJP MLA Surendra Singh) बलिया गोलीकांड के फरार मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह के परिजनों से मिलने जिला अस्पताल पहुंचे, जहां वह फफक- फफककर रो पड़े. इस दौरान बीजेपी विधायक ने कहा कि इंसाफ की लड़ाई में हम बिल्कुल अकेले हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2020, 3:04 PM IST
  • Share this:
बलिया. उत्तर प्रदेश के बलिया (Ballia) में कोटे की दुकान के आवंटन को लेकर प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा बुलाई गई खुली बैठक में एक शख्स की गोली मारकर हत्या (Shot Dead) मामले में बवाल मचा हुआ है. इसी बीच शनिवार को बैरिया से बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह (BJP MLA Surendra Singh) फरार मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह के परिजनों से मिलने जिला अस्पताल पहुंचे, जहां उनकी 'पीड़ा' को देखकर फफक- फफककर रो पड़े. इस दौरान बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा कि इंसाफ की लड़ाई में हम बिल्कुल अकेले हैं.

उन्होंने कहा कि सरकार के अधिकारी हम लोगों की बात का भरोसा नहीं कर रहे हैं. वहीं सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सचिव, डीआईजी, कमिश्नर मुझ पर आरोपी धीरेन्द्र सिंह को सरेंडर कराने के लिए दबाव बना रहे हैं. विधायक ने कहा, सरकार भरोसा नहीं कर रही है, क्योंकि उच्च अधिकारी सरकार को गलत रिपोर्टिंग कर रहे हैं. इससे पहले बैरिया से बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा कि आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह उनका सहयोगी रहा है. उन्होंने कहा कि मैं झूठ नहीं बोलता. धीरेंद्र सिंह बीजेपी का सहयोगी रहा है. हालांकि, उन्‍होंने गोलीकांड को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है.





बीजेपी विधायक ने कहा, 'आप लोग उसे (धीरेंद्र सिंह) आरोपी बता रहे हैं. उसके पिता को उन्होंने डंडे से मारा. किसी के पिता, किसी की माता, किसी की भाभी और किसी की बहू को लाठी, डंडे और रॉड से मारकर 6 महिला और 2 पुरुषों को घायल किया है. इस पर भी कार्रवाई होनी चाहिए. यह असाधारण घटना है.' उन्होंने कहा कि आत्मरक्षा के लिये ही लाइसेंस गन होता है, लगता है उनके पास मरने और मारने के अलावा और कोई विकल्प नहीं था. जो दोषी है उन पर पुलिस कार्रवाई करे.
मेरे परिवार का हो रहा है उत्पीड़न

आरोपी धीरेंद्र ने वीडियो में कहा कि जब मारपीट और पथराव शुरू हुआ तो वह एसडीएम व सीओ के बगल में ही खड़ा था. उसने उसी समय अधिकारियों से मामले को कंट्रोल करने की गुहार लगाई थी, लेकिन अधिकारियों ने ध्यान नहीं दिया, जिससे उसके परिवार के लोग दूसरे पक्ष के लोगों से चारों तरफ से घिर गए. धीरेंद्र सिंह ने कहा कि पुलिस प्रशासन उसके परिवार के लोगों का उत्पीड़न कर रहा है और घर में तोड़फोड़ की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज