• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • आजादी से पहले स्वतंत्र हो गए थे बलिया के 75 गांव, BJP सांसद बोले- इन गांवों को आत्‍मनिर्भर बनाएगी सरकार

आजादी से पहले स्वतंत्र हो गए थे बलिया के 75 गांव, BJP सांसद बोले- इन गांवों को आत्‍मनिर्भर बनाएगी सरकार

उन्‍होंने कहा कि केंद्र सरकार ने संसदीय बोर्ड के विमर्श पर इन तीनों जिलों के 75-75 गांवों को आत्मनिर्भर बनाने पर सहमति जताई है.  (फाइल फोटो)

उन्‍होंने कहा कि केंद्र सरकार ने संसदीय बोर्ड के विमर्श पर इन तीनों जिलों के 75-75 गांवों को आत्मनिर्भर बनाने पर सहमति जताई है. (फाइल फोटो)

बीजेपी सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त (MP Virendra Singh Mast) ने कहा कि भाजपा संसदीय बोर्ड की बैठक में देश के आजाद होने से पहले आजादी पाने वाले उत्तर प्रदेश के बलिया, महाराष्ट्र के सातारा और पश्चिम बंगाल के मेदिनीपुर जिलों के विकास को लेकर विचार विमर्श किया गया था.

  • Share this:

    बलिया. भारतीय जनता पार्टी के किसान मोर्चा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त (MP Virendra Singh Mast) ने कहा कि देश की स्वतंत्रता से पहले आजाद होने वाले उत्तर प्रदेश के बलिया (Baliya), महाराष्ट्र के सातारा और पश्चिम बंगाल के मेदिनीपुर जिलों के 75-75 गांवों को केंद्र सरकार आत्मनिर्भर बनाएगी. मस्त ने बीते दिनों मीडिया से बातचीत में कहा कि भाजपा संसदीय बोर्ड की बैठक में इस मुद्दे पर विचार किया गया था. देश के आजाद होने से पहले आजादी पाने वाले उत्तर प्रदेश के बलिया, महाराष्ट्र के सातारा और पश्चिम बंगाल के मेदिनीपुर जिलों के विकास को लेकर बोर्ड की बैठक में विमर्श किया गया था.

    उन्‍होंने कहा कि केंद्र सरकार ने संसदीय बोर्ड के विमर्श पर इन तीनों जिलों के 75-75 गांवों को आत्मनिर्भर बनाने पर सहमति जताई है. उन्होंने बताया कि इन चयनित गांवों में विकसित खेती, आर्गेनिक खेती, सिंचाई, शिक्षा, चिकित्सा, सड़क, बिजली, पेयजल, सुरक्षा और सबके लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने का कार्य किया जायेगा. इन योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए केंद्र सरकार धन उपलब्ध करायेगी.

    भदोही के 22 सपूतों को इमली के पेड़ पर दी गई थी फांसी
    इसकी सफलता के बाद उन तीनों जनपदों के सभी गांवों को पूरी तरह से आत्मनिर्भर बनाने के प्रयास किए जाएंगे. सांसद ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू, लोकसभा के अध्यक्ष ओम बिड़ला, राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश ने प्रस्ताव के प्रति विशेष रुचि दिखाई है. आपको बता दें कि बीते 16 अगस्त को बलिया सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने भदोही जिले के 75 गांवों को आत्मनिर्भर भारत, स्वावलंबी भारत बनाने के लिए काम करने का ऐलान किया था. जमुनीपुर स्थित स्वदेशी आश्रम में उन्होंने कहा था कि देश आजादी के 75वें वर्ष का जश्न मना रहा है. इस दौरान हम सबको उन वीर शहीदों की कुर्बानियों को भी याद करते रहना होगा, ताकि आने वाली पीढ़ियां उन्हें भुला न पाए. उन्होंने कहा था  कि भदोही का इतिहास गौरव से भरा पड़ा है. 1857 आजादी के लिए नील आंदोलन की शुरुआत भदोही से हुई थी. भदोही के 22 वीर सपूतों को अंग्रेजों ने इमली के पेड़ पर फांसी दी थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज