लाइव टीवी
Elec-widget

जमीन विवाद में फंसे बसपा के पूर्व मंत्री, कहा- मुझे अपमानित किया जा रहा

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 27, 2018, 11:58 AM IST

पूर्व मंत्री अंबिका चौधरी ने कहा कि कोई अदृश्य शक्ति जिला प्रशासन पर दबाव डालकर मुझे बदनाम करना चाहती है. जब उनसे अदृश्य शक्ति के बारे में पूछा गया तो वे हंसकर टाल गए.

  • Share this:
बसपा के कद्दावर नेता व पूर्व मंत्री अंबिका चौधरी एक जमीन विवाद में फंस गए हैं. उन्होंने बलिया प्रशासन पर अनावश्यक प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है. चौधरी ने कहा कि किसी अदृश्य शक्ति की शह उनकी जमीन की पैमाइश कराई जा रही है.

बता दें कि अंबिका चौधरी की जमीन की पैमाइश करने के लिए भारी संख्या में पुलिस बल पहुंचा था. जिला प्रशासन ने एहतियातन किसी बवाल से बचने के लिए आसपास के सभी थानेदारों के साथ भारी संख्या में पुलिस व पीएसी के जवानों को लगाया था. वहीं ने चौधरी ने भारी संख्या में सुरक्षा बलों के साथ पैमाइश को अपनी छवि को धूमिल करने का आरोप लगाया है.

पूर्व मंत्री ने कहा कि कोई अदृश्य शक्ति जिला प्रशासन पर दबाव डालकर मुझे बदनाम करना चाहती है. जब उनसे अदृश्य शक्ति के बारे में पूछा गया तो वे हंसकर टाल गए. चौधरी से जब यह कहा गया कि आप जब मंत्री थे तो पुलिस चौकी के लिए जमीन आपने देकर उसके बदले जमीन ली है की नापी हो रही है. तो उन्होंने कहा कि अगर अदृश्य शक्ति चाहती है कि जमीनों की जो अदला-बदली हुई वो निरस्त हो जाय तो ऐसे आदेश से सबसे ज्यादा खुशी मुझे होगी.

ये भी पढ़ें- डाक की लापरवाही: नाले के पास मिली CM योगी को लिखी चिट्ठी और हजारों आधार कार्ड

क्योंकि अदला-बदली में जो जमीन मुझको पीछे मिली है वह तिराहे पर हो जाएगी. बता दें कि फेफना तिराहे पर जो पिकेट बना है वह अंबिका चौधरी की पुश्तैनी जमीन पर बना है. जिसके बदले में जिला प्रशासन ने चौधरी को ग्राम समाज की जमीन सड़क से पीछे दी थी. उन्होंने कहा कि इस जमीन के लिए मंत्री श्री उपेंद्र तिवारी स्वयं इलाहाबाद हाइकोर्ट में वाद दाखिल किया था. जिसको कोर्ट ने 2005 में खारिज कर दिया था.

ये भी पढ़ें- पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़, 1.25 लाख का इनामी बदमाश घायल

चौधरी ने कहा कि मंगलवार को जिस जमीन की मापी की गई उसके ऊपर सिविल कोर्ट से स्टे मिला हुआ है.  जिसकी कॉपी मैने डीएम से लेकर कानूनगो तक को रिसीव करवा दी है. फिर भी मापी कराया जाना स्पष्ट करता है कि मंशा जमीन को चिन्हित करना नहीं बल्कि मुझे अपमानित करना है.
Loading...

ये भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव में अब मायावती को सपोर्ट करेगी भीम आर्मी!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बलिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2018, 11:51 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...