Assembly Banner 2021

UP के बलिया में दो समुदायों के बीच खूनी संघर्ष, एक किशोर की मौत, 8 लोग जख्मी

घर में घुसकर प्रधान के बेटे की लाठी-रॉड से पीट-पीटकर हत्या (प्रतीकात्मक तस्वीर)

घर में घुसकर प्रधान के बेटे की लाठी-रॉड से पीट-पीटकर हत्या (प्रतीकात्मक तस्वीर)

गांव में तनाव न बढ़े इसके लिए पुलिस के अधिकारी लगातार काम कर रहे हैं. तनाव की स्थिति को देखते हुए गांव में पुलिस बल के अलावा पीएसी की तैनाती की गई है. पुलिस यहां शांति व्यवस्था बनाए रखने का लगातार प्रयास कर रही है

  • Share this:
बलिया. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बलिया (Ballia) जिले के खेजुरी क्षेत्र में दो संप्रदायों के बीच हिंसक झड़प में एक किशोर की मौत (Teenager Died) हो गई. जबकि इस संघर्ष में दोनों पक्षों के आठ लोग घायल हो गये. पुलिस सूत्रों ने मंगलवार को बताया की खेजुरी थाना क्षेत्र के मासूमपुर गांव में सोमवार की रात दो संप्रदाय से जुड़े लोगों में के बीच शुरू विवाद ने तूल पकड़ गया और दोनों पक्षों के बीच हिंसक झड़प हो गई. इस वारदात में 16 वर्षीय हमजा उर्फ फरदीन खान की मौत हो गई और दोनों पक्षों के आठ व्यक्ति घायल हो गए. उन्होंने बताया कि घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जिनमें से पांच को जिला अस्पताल द्वारा रेफर करने पर वाराणसी ले जाया गया है.

रास्ते में गुजरते वक्त की थी अभद्रता
पुलिस अधीक्षक (एसपी) देवेंद्र नाथ ने बताया कि सुहैल खान अखिलेश चौरसिया की बहन से फोन पर बात किया करता था. सोमवार रात सुहैल का रिश्तेदार वसीम अपने परिवार की एक महिला के साथ अखिलेश के घर के पास से गुजर रहा था तभी अखिलेश ने वसीम से सुहैल की शिकायत कर दी और इस दौरान अपशब्द भी कहे.

पुलिस बल और पीएसी है तैनात
उन्होंने बताया कि देखते ही देखते उनके बीच विवाद शुरू हो गया जो बाद में गहरा गया. इस बीच दोनों पक्षों में हिंसक संघर्ष हो गया. घटना की सूचना मिलने पर वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने मौके का मुआयना किया. हालात के मद्देनजर गांव में पुलिस बल और पीएसी तैनात कर दी गई है. इस मामले में दोनों तरफ से मुकदमा दर्ज कराया गया है.



गांव में तनाव न बढ़े इसके लिए पुलिस के अधिकारी लगातार काम कर रहे हैं. तनाव की स्थिति को देखते हुए गांव में पुलिस बल के अलावा पीएसी की तैनाती की गई है. पुलिस यहां शांति व्यवस्था बनाए रखने का लगातार प्रयास कर रही है.

ये भी पढ़ें:

मदिरालय खुले तो देवालय क्यों नहीं? काशी विद्वत परिषद ने उठाया सवाल

अखिलेश यादव ने कसा तंज, बोले- क्या 5 ट्रिलियन के लिए इसी लाइन में लगना है?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज