'ऑनर किलिंग' मामले में कोर्ट ने मां और चाचा को सुनाई उम्रकैद की सजा
Ballia News in Hindi

'ऑनर किलिंग' मामले में कोर्ट ने मां और चाचा को सुनाई उम्रकैद की सजा
कोर्ट ने सुनाई 5 साल की सजा(File Photo)

कोर्ट (Court) ने 'ऑनर किलिंग' मामले में दुर्गावती और बिरदा गोंड को दोषी करार देते हुए आजीवन कारावास और 10-10 हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई है.

  • Share this:
बलिया. बलिया (Baliya) जिले की एक अदालत ने 'ऑनर किलिंग' (झूठी शान के लिए हत्या) के तीन साल पुराने मामले में दोषी दो लोगों को उम्रकैद (Life Prison) सजा सुनाई है. साथ कोर्ट ने दोषियों पर जुर्माना भी लगाया है.

अभियोजन पक्ष के अनुसार सुखपुरा थानाक्षेत्र के कुर्थिया ग्राम में 21 मई 2016 को कक्षा 11 की छात्रा सरस्वती (18) की हत्या करके शव को जला दिया था. इसके आरोपियों ने जले हुए शव को बोरे में भरकर एक सुनसान झोपड़ी में छुपा दिया था.

इस मामले में चौकीदार नन्द लाल पासवान ने सरस्वती की माँ दुर्गावती और चाचा बिरदा गोंड के खिलाफ मामला दर्ज कराया था. पुलिस ने मामले की छानबीन के बाद पाया कि दुर्गावती को शक था कि उसकी बेटी के एक युवक से अवैध संबंध हैं, इसीलिए उसने देवर की मदद से उसकी हत्या कर दी.



कोर्ट ने सुनाई उम्रकैद की सजा
अपर जिला न्यायाधीश प्रण विजय सिंह की अदालत ने दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद मंगलवार को दुर्गावती और बिरदा गोंड को दोषी करार देते हुए आजीवन कारावास और 10-10 हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनायी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज