UP के इस थाने में है 'भूतों' का साया, 25 साल से नहीं खुला कमरे का ताला

आज से लगभग 25 वर्ष पूर्व 1995 मे पंचायत चुनाव के दौरान प्रेमरजा गांव के रहने वाले एक युवक की थाने में मौत हो गई थी. तब से...

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 19, 2019, 5:52 AM IST
UP के इस थाने में है 'भूतों' का साया, 25 साल से नहीं खुला कमरे का ताला
भीमपुरा थाना
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 19, 2019, 5:52 AM IST
जिस यूपी पुलिस से सूबे के बड़े-बड़े गुंडे और माफिया डरते हैं. उस यूपी पुलिस के बहादुर सिपाही व दरोगा अब भूतों से डरने लगे हैं. जी हां ये पूरा मामला बलिया के भीमपुरा थाने का है, जहां अज्ञात भय के चलते थानेदार का कक्ष बीते 25 साल में किसी भी सिपाही या दरोगा ने नहीं खोला. साथ ही जिस थानेदार ने थानाध्यक्ष के कमरे को खोलने की हिमाकत की उसके साथ निश्चित ही कोई न कोई बड़ी अनहोनी हो गई, जिसके चलते अब जिस भी थानेदार की पोस्टिंग इस थाने पर होती है वो अपने बन्द कक्ष के बाहर ही कुर्सी-मेज लगाकर फरियादियों की फरियाद सुनता है. साथ ही सरकारी काम काज को भी निपटाता है.

कैमरा के सामने कुछ भी बोलने से साफ मना कर दिया
वहीं, इस बाबत जब थानेदार से पूछा गया तो उन्होंने कैमरा के सामने कुछ भी बोलने से साफ मना कर दिया. वहीं, इस रहस्य को लेकर जब हमारे संवाददाता ने आस-पास के गावों के ग्रामीणों से बात की तो पता चला कि आज से लगभग 25 वर्ष पूर्व 1995 मे पंचायत चुनाव के दौरान प्रेमरजा गांव के रहने वाले बीएचयू के एक होनहार छात्र अटल बिहारी मिश्र थाने की उसी कमरे में बंद किया गया था. तब उसके साथ थाने में ही बहुत मारपीट की थी.

अटल बिहारी मिश्र की थाने में हो गई थी मौत

जानकारी के मुताबिक, गवई राजनीति के आरोप में तत्कालीन थानाध्यक्ष राम बड़ाई यादव ने थाने में अटल बिहारी मिश्र की इतनी पिटाई कर दी थी कि उसकी थाने में ही मौत हो गई थी. बहरहाल, परिजनों की शिकायत पर मामला न्यायालय में लम्बित है. कहा जाता है कि तब से मिश्रा की आत्मा तथाकथित रूप से उसी कमरे में भटकती है. यही वजह है कि कोई भी थानेदार उस कमरे को खोलने से डरता है.

रिपोर्ट- अमित कुमार श्रीवास्तव

ये भी पढ़ें-  
Loading...

मी बोला था- शादी नहीं की तो गिफ्ट करूंगा भाई का शव, अब..

झीलों की नगरी से गुमटियों का शहर बन गया भोपाल 
First published: July 19, 2019, 5:47 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...