लाइव टीवी

निर्भया के गुनहगारों को फांसी न मिलने से बढ़ा रेपिस्टों का मनोबल: निर्भया के दादा

भाषा
Updated: December 2, 2019, 7:31 PM IST
निर्भया के गुनहगारों को फांसी न मिलने से बढ़ा रेपिस्टों का मनोबल: निर्भया के दादा
निर्भया के दादा ने बलिया (Ballia) में कहा कि बलात्कार (Rape) से जुड़े मामले लम्बे समय तक लम्बित न रहे इसके लिए न्यायिक व्यवस्था में व्यापक सुधार की आवश्यकता है.

निर्भया के दादा ने बलिया (Ballia) में कहा कि बलात्कार (Rape) से जुड़े मामले लम्बे समय तक लम्बित न रहे इसके लिए न्यायिक व्यवस्था में व्यापक सुधार की आवश्यकता है.

  • Share this:
बलिया. दिल्ली के 2012 सामूहिक बलात्कार कांड की पीड़िता निर्भया के दादा ने बलात्कार की घटनाओं पर अंकुश नहीं लग पाने पर सोमवार को उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि निर्भया के गुनहगारों को फांसी न होने के कारण बलात्कारियों का मनोबल बढ़ा है और इसी वजह से इन घटनाओं पर अंकुश नहीं लग पा रहा है.

तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में महिला वेटनरी डॉक्टर से गैंगरेप के बाद हत्या और फिर लाश को जला देने की घटना ने देश को हिला कर रख दिया है. देशभर में लोग आरोपियों को तुरंत सरेआम सज़ा देने की मांग कर रहे हैं.

निर्भया कांड के रेपिस्टों को 7 साल बाद भी फांसी पर नहीं चढ़ाया जा सका
निर्भया के दादा लाल जी सिंह ने पैतृक गांव मेड़वार कला में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि निर्भया कांड के सात वर्ष बाद भी बलात्कारियों को फांसी पर नहीं चढ़ाया जा सका है, इतने जघन्य कांड के अपराधी अब भी जेल में ही हैं.

कानून बनाने से क्या हो जाएगा?
लाल जी सिंह ने कहा कि यदि निर्भया के गुनहगारों को फांसी हो गई होती तो बलात्कार करने से पहले अपराधी फांसी से मरने की दहशत में रहते. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार बलात्कार को लेकर नया सख्त कानून बनाने की बात कह रही है लेकिन कानून बनाने से क्या हो जाएगा?

जिस दिन बलात्कारी को चौराहे पर खड़ा करके गोली मार दी जाएगी ...सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार को कानून बनाना हो तो वह यह कानून बनाए कि बलात्कार का आरोपी गिरफ्तार होने के बाद भीड़ के हवाले कर दिया जाए, जनता स्वयं इंसाफ कर देगी. उन्होंने कहा कि जिस दिन बलात्कारी को चौराहे पर खड़ा करके गोली मार दी जाएगी, बलात्कार की घटनाओं पर स्वतः अंकुश लग जाएगा. उन्होंने कहा कि न्यायिक व्यवस्था में व्यापक सुधार की आवश्यकता है ताकि बलात्कार से जुड़े मामले लम्बे समय तक लम्बित न रहे.

यह भी पढे़ं - 

बच्चों को चप्पल सिलवाने भेजा: प्रिंसिपल सस्पेंड, महिला शिक्षामित्र हटाई गई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बलिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 2, 2019, 6:23 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर