बलिया: खतरे में दर्जन भर गांवों का अस्तित्व, धरना देकर योगी सरकार को दिया अल्टीमेटम

बलिया में गांव को कटान से बचाने के लिए धरना
बलिया में गांव को कटान से बचाने के लिए धरना

सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला बोलते हुए रोहित कुमार सिंह ने कहा की दुबे छपरा में रिंग बांध टूटा था. उस दौरान मुख्यमंत्री आए थे बड़े-बड़े वायदे जनता से करके चले गए, लेकिन आज तक कुछ नहीं हुआ.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 15, 2020, 7:31 PM IST
  • Share this:
बलिया. उत्तर प्रदेश के बलिया (Ballia) जिले में दर्जन भर गांवों का अस्तित्व गंगा नदी (River Ganga) के कटान से खतरे में है. इसी कड़ी में रविवार को युवा चेतना के तत्वावधान में एक दिवसीय महाधरना का आयोजन हुआ. दरअसल बारिश के दौरान बलिया के हैबतपुर, मालदेपुर, खोड़ी-पाकड़, दरामपुर, सर्फुद्दीनपुर, नसीराबाद, मुबारकपुर, तारनपुर, विजयीपुर, रामपुर महावल समेत कई गांवों में गंगा के कटान का खतरा बना रहता है.

धरने पर बैठे युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक रोहित कुमार सिंह ने कहा कि दर्जन भर गांवों के अस्तित्व का सवाल है हम चुप नहीं रहेंगे. सरकार कुंभकर्णी नींद में सोई है जनता के मुद्दों से कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने कहा कि कुछ महीने पूर्व उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य खोड़ी-पाकड़ स्थित एक विद्यालय में आए थे. हमने बांध निर्माण का मुद्दा उठाया था तो अधिकारियों को भेजकर आननफानन नक्शा निकलवाया गया और जनता को भ्रमित किया गया कि बांध निर्माण का काम शुरू होने वाला है. आज तक कुछ भी नहीं हुआ.

सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला बोलते हुए रोहित कुमार सिंह ने कहा की दुबे छपरा में रिंग बांध टूटा था. उस दौरान मुख्यमंत्री आए थे बड़े-बड़े वायदे जनता से करके चले गए, लेकिन आज तक कुछ नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि बरसात आने वाला है हम अगर सक्रिय नहीं हुए तो परेशानी बढ़ेगी. सिंह ने कहा कि हम योगी सरकार को अल्टीमेटम देते हैं कि बारिश से पहले बांध का निर्माण कराएं और इन गांवों को विलीन होने से बचाएं, नहीं तो दिल्ली तक चरणबद्ध आंदोलन चलाया जाएगा.



वहीं, समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता डा. सानंद सिंह ने कहा कि युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक लगातार जनता के मुद्दों को उठा रहे हैं जिसका समर्थन सबको करना चाहिए. कांग्रेस के जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश पांडेय ने कहा कि जनता की सही लड़ाई लड़ी जा रही है. हम सभी इस लड़ाई में युवा चेतना के साथ हैं.
ये भी पढ़ें:

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने बनाई नई पार्टी, पहले ही दिन कार्यक्रम पर पुलिस ने लगाई रोक
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज