• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • DM ने कॉलर पकड़ कर ऑफिस से बाहर निकाला, दी जातिसूचक गालियां, अधिकारी ने दिया इस्तीफ़ा

DM ने कॉलर पकड़ कर ऑफिस से बाहर निकाला, दी जातिसूचक गालियां, अधिकारी ने दिया इस्तीफ़ा


डीएम ने कहा कि बाढ़ प्रभावित कैदियों को आजमगढ़ और अम्बेडकर नगर स्थानांतरित करने जैसे संवेदनशील मामले पर सहायक क्षेत्रीय प्रबन्धक द्वारा लापरवाही बरती गई और बसों को समय से नहीं भेजा गया.  (सांकेतिक तस्वीर)

डीएम ने कहा कि बाढ़ प्रभावित कैदियों को आजमगढ़ और अम्बेडकर नगर स्थानांतरित करने जैसे संवेदनशील मामले पर सहायक क्षेत्रीय प्रबन्धक द्वारा लापरवाही बरती गई और बसों को समय से नहीं भेजा गया. (सांकेतिक तस्वीर)

डीएम (DM) ने कहा कि बाढ़ प्रभावित कैदियों को आजमगढ़ (Azamgarh) और अम्बेडकर नगर (Ambedkar Nagar) स्थानांतरित करने जैसे संवेदनशील मामले पर सहायक क्षेत्रीय प्रबन्धक द्वारा लापरवाही बरती गई और बसों को समय से नहीं भेजा गया.

  • Share this:
    बलिया. सहायक क्षेत्रीय प्रबन्धक रोडवेज (Roadways) बिन्दू प्रसाद (Bindu Prasad) ने बलिया (Ballia) के जिलाधिकारी (DM) भवानी सिंह खंगारौत (Bhawani Singh Khangraut) के व्यवहार से आहत होकर मंगलवार को अपनी नौकरी से इस्तीफा दे दिया. वहीं सहायक क्षेत्रीय प्रबन्धक द्वारा अचानक इस तरह से इस्तीफा दिए जाने से विभागीय कर्मियों मे जहां हड़कंप की स्थिति बनी हुई है. वहीं विभागीय यूनियन अब डीएम के खिलाफ आर-पार की लड़ाई लड़ने का मन बना चुकी है. डीएम ने इस मामले में सभी आरोपों को ख़ारिज करते हुए कहा कि उन पर गलत आरोप लगाये जा रहे हैं.

    सहायक क्षेत्रीय प्रबन्धक के अनुसार, जिला जेल में हुए भारी जल-भराव के चलते कैदियों को आजमगढ़ और अम्बेडकर नगर शिफ्ट करने के लिए डीएम द्वारा 15 बसों की मांग की गई थी. आदेश के अनुपालन में चालक और परिचालक के साथ सभी 15 बसों को लेकर वो खुद मौके पर पहुंचे और सभी बसों को जिला प्रशासन के हवाले कर, वापस रोडवेज ऑफिस वापस आ गए. जिसके कुछ देर बाद ही डीएम ने उनके ऑफिस पहुंचकर उनसे बदसलूकी करते हुए शर्ट का कॉलर पकड़ लिया. उनका आरोप है कि डीएम, कॉलर पकड़ कर जबरन उन्हें बाहर लाए और उनके साथ जाति सूचक शब्दों का प्रयोग भी किया.

    अधिकारी बोला- मेरी कोई गलती नहीं
    बिंदू प्रसाद ने आगे कहा कि मेरी कोई गलती भी नहीं थी. इस पूरे मामले पर जिलाधिकारी भवानी सिंह खंगारौत ने बताया कि 11 सितम्बर को बलिया-नगरा मार्ग पर रोडवेज बस और ट्रक की हुई टक्कर के बारे में जानकारी के लिए उन्होंने सहायक क्षेत्रीय प्रबन्धक रोडवेज बिन्दू प्रसाद के सीयूजी नम्बर पर कई बार फोन किया, लेकिन फोन रिसीव नहीं किया गया.

    डीएम ने लगाया लापरवाही बरतने का आरोप
    उन्होंने कहा कि इसके अलावा कैदियों को आजमगढ़ और अम्बेडकर नगर स्थानांतरित करने जैसे संवेदनशील मामले पर भी सहायक क्षेत्रीय प्रबन्धक द्वारा लापरवाही बरती गई और बसों को समय से नहीं भेजा गया. जिसके चलते कैदियों को रवाना करने में काफी देरी हो गई जोकि एक बड़ी लापरवाही है. उन्होंने बताया कि इस पर मैंने शासन और एमडी यूपी परिवहन निगम को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की है.

    यूपी पुलिस के DGP बोले- अवैध विदेशी नागरिक पकड़े जाने का NRC से कोई संबंध नहीं

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज