COVID-19: बलिया में लॉकडाउन के बीच फ्री में खाना बांटने पर प्रशासन ने भेजा नोटिस

युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक रोहित कुमार सिंह.
युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक रोहित कुमार सिंह.

बलिया जिला प्रशासन ने लाकडाउन ब्रेक और सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) में बाधा बनने के आरोप में युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक रोहित कुमार सिंह को नोटिस भेज 3 दिनों में जवाब मांगा है.

  • Share this:
बलिया. बलिया जिला प्रशासन ने लॉकडाउन (Lockdown) का उल्लंघन और सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) में बाधा बनने के आरोप में जिले के एक सामाजिक संगठन के संयोजक को नोटिस भेजा है. युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक रोहित कुमार सिंह को भेजे चेतावनी नोटिस में प्रशासन ने पूछा है कि क्यों न आपदा अधिनियम, एपिडेमिक डिजिज एक्ट,1897 और उत्तर प्रदेश महामारी कोविड- 19 विनियमावली,2020 के अंतर्गत आपके ऊपर कारवाई की जाए? इस नोटिस के बाद रोहित कुमार सिंह ने प्रेस कहा कि 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के बाद 25 को लॉकडाउन किया गया. इसके पहले से ही युवा चेतना बलिया के गांवों में मास्क, साबुन, सेनेटाइजर, साड़ी, कपड़ा और भोजन का वितरण कर रही है.

प्रशासन के भेजे नोटिस को लेकर रोहित सिंह ने कहा कि पीएम मोदी रोज लोगों से जरूरतमंदों की मदद की अपील कर रहे हैं और युवा चेतना उस समय से मदद कर रही है, जब देश में कोरोना के नाम पर कोई चर्चा नहीं था. आपको बता दें कि प्रशासन ने रोहित सिंह को तीन दिनों के भीतर नोटिस का जवाब देने को कहा है.

25 मार्च के बाद नहीं गया घर से बाहर
सिंह ने कहा की 25 मार्च को लाकडाउन की घोषणा होने के बाद वो अपने घर से जिले के किसी भी इलाक़े में नहीं गए. उन्होंने देश के कई राज्यों से पैदल बलिया और पास के राज्यों में जा रहे जरूरतमंद लोगों की मदद घर के नीचे उतरकर भोजन और पैसे से की है. इस नोटिस को लेकर सिंह ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी सवाल किया है कि क्या मानव सेवा करना गलत है?
निस्वार्थ भाव से कर रहे हैं सेवा



सिंह ने कहा कि बलिया की जनता को मालूम है कि निस्वार्थ भाव से हम सेवा कर रहे हैं, लेकिन इससे घर में बैठे नेताओं को परेशानी हो रही है. उन्होंने अपने वकील के माध्यम से इस नोटिस का जवाब तय समय में देने की बात कही है. सिंह ने पूछा कि 25 मार्च को देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा के बाद जब लाखों की संख्या में यूपी, बिहार और झारखंड जाने के लिए लोगों ने आनंद विहार में जमघट लगाया तो लाकडाउन की धज्जियां नहीं उड़ी और हमने गरीबों के पेट को आराम देने का अभियान चलाया तो हम मुजरिम हो गए. सिंह ने कहा कि जनता के हितों की रक्षा के लिए हर जुल्म सहने को तैयार हैं.

ये भी पढ़ें:

यूपी में 410 हुए कोरोना पॉजिटिव मरीज, इनमें जमात के 221, अब तक 4 मौत

कोरोना पीड़ित महिला मिलने के बाद भाकियू अध्यक्ष नरेश टिकैत सेल्फ क्वारेंटाइन


 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज