बलिया कांड: अखिलेश यादव का सवाल- सरकार अपने लोगों की गाड़ी पलटाती है या नहीं?

अखिलेश यादव बोले- सरकार अपने लोगों की गाड़ी पलटाती है या नहीं?(फाइल फोटो)
अखिलेश यादव बोले- सरकार अपने लोगों की गाड़ी पलटाती है या नहीं?(फाइल फोटो)

डीआईजी (DIG) ने दावा किया कि सभी नामजद आरोपियों को पुलिस जल्द ही गिरफ्तार कर लेगी. मामले में लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 16, 2020, 2:15 PM IST
  • Share this:
बलिया. उत्तर प्रदेंश के बलिया में कोटे के आवंटन को लेकर बुलाई गई खुली बैठक में एक शख्स की हत्या के मामले को लेकर राजनीतिक प्रतिक्रियाएं आ रही हैं. यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने शुक्रवार को यूपी सरकार पर निशाना साधा है. अखिलेश यादव ने इस बारे में ट्वीट किया और कहा कि बलिया में सत्ताधारी भाजपा के एक नेता के, एसडीएम और सीओ के सामने खुलेआम, एक युवक की हत्या कर फरार हो जाने से उप्र में कानून व्यवस्था का सच सामने आ गया है. अब देखें क्या एनकाउंटरवाली सरकार अपने लोगों की गाड़ी भी पलटाती है या नहीं. #नहींचाहिएभाजपा

उधर, बसपा प्रमुख मायावती ने अपने ट्वीट में लिखा है कि यूपी में बलिया की हुई घटना अति-चिन्ताजनक तथा अभी भी महिलाओं व बच्चियों पर आए दिन हो रहे उत्पीड़न आदि से यह स्पष्ट हो जाता है कि यहां कानून-व्यवस्था काफी दम तोड़ चुकी है. सरकार इस ओर ध्यान दे तो यह बेहतर होगा, बी.एस.पी. की यह सलाह है.


डीआईजी ने दावा किया कि सभी नामजद आरोपियों को पुलिस जल्द ही गिरफ्तार कर लेगी. मामले में लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी. उन्होंने बताया कि खुली पंचायत में मौजूद अफसरों के खिलाफ शासन ने कार्रवाई की है. मामले में आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नजीर बनेगी.





दो गुटों में भिड़ंत
अधिकारियों के जाने के बाद मौके पर मौजूद रेवती पुलिस दोनों पक्षों को समझाने और विवाद शांत करने में जुट गई. जबकि एक पक्ष अधिकारियों पर पक्षपात करने का आरोप लगाते हुए नारेबाजी करने लगा. इसी दौरान दूसरे पक्ष के लोगों से भिड़ंत हो गयी. बात बढ़ी तो लाठी-डंडे के साथ ही ईंट-पत्थर चलने लगे. इसी बीच एक पक्ष की ओर से फायरिंग शुरू हो गई. इस दौरान दुर्जनपुर के 46 वर्षीय जयप्रकाश उर्फ गामा पाल को ताबड़तोड़ 4 गोलियां मार दी गईं. गोली चलते ही अफरातफरी मच गई. जयप्रकाश को लेकर लोग सीएचसी सोनबरसा पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज