लाइव टीवी

सपा में वापसी पर बोले शिवपाल- नेताजी अगर अखिलेश के साथ हैं तो मैं भी पीछे मुड़कर नहीं देखूंगा
Ballia News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 19, 2020, 5:20 PM IST
सपा में वापसी पर बोले शिवपाल- नेताजी अगर अखिलेश के साथ हैं तो मैं भी पीछे मुड़कर नहीं देखूंगा
शिवपाल ने कहा कि मैं मुलायम सिंह का सम्मान करता हूं (File Photo)

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (Pragatisheel Samajwadi Party) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव (shivpal singh yadav) ने सपा में वापसी पर कहा कि अब बहुत देर हो गई है, अगर नेताजी भतीजे के साथ हैं तो वह भी पीछे मुड़कर नहीं देखेंगे.

  • Share this:
बलिया. समाजवादी पार्टी (सपा) से अलग होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) बनाने वाले पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव (shivpal singh yadav) ने सपा में वापसी को लेकर बड़ा बयान दिया है. शिवपाल यादव ने कहा है, "सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) के कहने पर ही अलग पार्टी बनाई थी लेकिन अगर नेताजी आज सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के साथ हैं तो मैं भी अब पीछे मुड़ कर नहीं देखूंगा."

शिवपाल ने रविवार को जिले के सहतवार क्षेत्र में मीडिया से बात करते हुए कहा कि उन्होंने मुलायम के ही कहने पर प्रसपा बनाई थी. मुलायम आज अखिलेश के साथ क्यों खड़े हैं, इसका जवाब वह ही दे सकते हैं. मगर इतना तय है कि अब वह पीछे मुड़कर नहीं देखेंगे. उनकी पूरी कोशिश डॉक्टर राम मनोहर लोहिया, चौधरी चरण सिंह और गांधीवादी लोगों को एकजुट करके पार्टी को मजबूत करने की है.

'मुलायम का हमेशा सम्मान किया और उनकी हर बात मानी'
उनसे पूछा गया था कि सपा संस्थापक मुलायम इन दिनों उन्हें छोड़कर अखिलेश के कार्यक्रमों में शिरकत करने लगे हैं. क्या मुलायम ने उनके साथ धोखा किया है. शिवपाल ने कहा कि उन्होंने मुलायम का हमेशा सम्मान किया और उनकी हर बात मानी. मुलायम की बात को तवज्जो नहीं देने के कारण ही सपा में विघटन हुआ. इसी कारण सपा की दोबारा सरकार नहीं बनी. नहीं तो अखिलेश फिर मुख्यमंत्री बनते.

बता दें, नवम्बर 2019 में मुलायम अपने जन्मदिन पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा आयोजित कार्यक्रम में शरीक हुए थे. इसके अलावा इसी शनिवार को भी उन्होंने एक अन्य कार्यक्रम में अखिलेश के साथ मंच साझा किया था.

2016 में अखिलेश और शिवपाल के बीच हुई अनबन
तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश और शिवपाल के बीच वर्ष 2016 में पार्टी और सत्ता को लेकर हुए संघर्ष के दौरान मुलायम शिवपाल के साथ खड़े नजर आए थे. उसके बाद मुलायम ने लम्बे वक्त तक कई अहम मौकों पर अखिलेश के साथ पार्टी के किसी भी कार्यक्रम में शिरकत नहीं की थी. शिवपाल ने सपा से अलग होकर अक्टूबर 2018 में नई पार्टी बना ली थी.शिवपाल ने भविष्य में बीजेपी से गठबंधन से इनकार करते हुए दावा किया कि बीजेपी की तरफ से तालमेल को लेकर कई बार बातचीत की गई, लेकिन उन्होंने उससे किसी भी तरह के गठबंधन से इनकार कर दिया था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बलिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 19, 2020, 5:20 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर