बलियाः गरीबों व असहायों के लिए मसीहा बनीं समाजसेवी संध्या पांडेय

पीड़ितों के मदद के लिए तत्पर संध्या पांडेय विनायक सामाजिक महिला सेवा संस्थान नामक एक संस्था चलाती हैं, जो न सिर्फ मदद मांगने वालों की मदद करती है, बल्कि लोगों की आगे बढ़कर भी मदद करती हैं

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 27, 2018, 10:55 AM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: April 27, 2018, 10:55 AM IST
बलिया जिले में गरीब व असहायों की मसीहा बनकर उभरी संध्या पांडेय जिले में एक जानी-पहचानी शख्सियत बनकर उभरी हैं. पीड़ितों के मदद के लिए तत्पर संध्या पांडेय विनायक सामाजिक महिला सेवा संस्थान नामक एक संस्था चलाती हैं, जो न सिर्फ मदद मांगने वालों की मदद करती है, बल्कि लोगों की आगे बढ़कर भी मदद करती हैं.

शहर कोतवाली अन्तर्गत बालेश्वर मन्दिर रोड पर स्थित सामाजिक संगठन की कर्ता-धर्ता पीड़ितों के बीच दीदी के रूप में चर्चित हैं. संस्था उन सभी महिला और पुरुषों की मदद के लिए आगे आती हैं, जो किसी व्यवस्था के चलते पीड़ित हो और जिनकी सुनवाई कहीं नहीं होती है.

हालांकि गरीबों और असहायों को उनका हक दिलाने के लिए सामाजिक संगठन चलाने वाली संध्या पांडेय का अपना खुद का भरा-पूरा परिवार है और उन पर 3 बच्चों व माता-पिता की जिम्मेदारी है, बावजूद इसके संध्या पांडेय गरीबों की मदद के लिए समय निकाल लेती हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक समाजसेवी संध्या पाण्डेय अकेले दम पर अब तक सैकड़ों ऐसी महिलाओं को उनका हक दिला चुकी हैं, जिन्होंने अपने हक की उम्मीद लगभग छोड़ चुकी थी. यही नहीं, गरीबों की लड़ाई के चलते संध्या पांडेय कई बार जेल यात्रा भी कर चुकी हैं.

संस्था महिलाओं को विधवा, वृद्धा पेन्शन व राशन कार्ड दिलवाने के अलावा गरीबों को केंद्र व राज्य सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं से भी अवगत कराती हैं और उक्त योजनाओं से गरीबों को जोड़ने के लिए भी काम करती हैं. यही कारण हैं कि मदद के लिए बलिया के अलावा अन्य पड़ोसी जिलों के पीड़ित संस्था में गुहार लगाने पहुंचते हैं.
First published: April 27, 2018, 10:55 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...