Home /News /uttar-pradesh /

Bairia Assembly Seat: बैरिया में टिकट को लेकर भाजपा नेताओं में खींचतान, सपा ने भी वापसी के लिए कसी कमर

Bairia Assembly Seat: बैरिया में टिकट को लेकर भाजपा नेताओं में खींचतान, सपा ने भी वापसी के लिए कसी कमर

UP Chunav 2022: लोकनायक जयप्रकाश नारायण का जन्मस्थान सिताबदियारा इसी विधानसभा में पड़ता है.

UP Chunav 2022: लोकनायक जयप्रकाश नारायण का जन्मस्थान सिताबदियारा इसी विधानसभा में पड़ता है.

Bairia Assembly Seat Election: बलिया जिले की बैरिया विधानसभा सीट पहले दोआबा के नाम पर थी. विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले सुरेंद्र सिंह वर्तमान में भाजपा से विधायक हैं. बलिया के पूर्व सांसद भरत सिंह भी इस सीट से तीन बार विधायक रह चुके हैं. एक बार फिर उन्‍होंने पेशबंदी शुरू कर दी है.

अधिक पढ़ें ...

बलिया. बैरिया विधानसभा सीट से अपने विवादित बयानों को लेकर खबरों में रहने वाले सुरेंद्र सिंह विधायक हैं. यह सीट पहले दोआबा के नाम पर थी. 2014 में बलिया से सांसद रहे भरत सिंह इस सीट से भाजपा प्रत्‍याशी हुआ करते थे. वह यहां से तीन बार 1991, 96 और 2002 में विधायक रहे हैं. 2007 में बसपा के सुभाष और 2012 में सपा के जयप्रकाश अंचल से भरत मात खा गए थे. इसके बाद वह लोकसभा पहुंच गए. इस सीट पर पेशबंदी के लिए अब एक बार फिर वह यात्राएं निकाल रहे हैं. फिलहाल इस चुनाव में बैरिया से चुनाव लड़ने के लिए भाजपा में आपस में ही घमासान मचने के आसार बन रहे हैं. वहीं, समाजवादी पार्टी ने भी कमर कस ली है.

बाढ़ की विभीषिका झेलने को मजबूर बलिया जिले का यह इलाका सियासी रूप से बड़ा महत्‍वपूर्ण है. जयप्रकाश नारायण (जेपी) का गांव सिताबदियारा भी इसी इलाके में आता है. हालांकि तकनीकी रूप से जेपी का टोला बिहार में है. छोटे लोहिया के नाम से मशहूर हुए समाजवादी नेता जनेश्‍वर मिश्र भी इसी इलाके से थे. वर्तमान में राज्‍यसभा के उपसभापति हरिबंश का गांव भी बैरिया विधानसभा सीट में आता है.

भाजपा के वर्तमान विधायक सुरेंद्र सिंह आरएसएस के पदाधिकारी रहे हैं. उनकी छवि किसी से न दबने वाली है. भरत सिंह के सांसद बनने के बाद पार्टी ने 2017 में उन्‍हें यहां से टिकट दिया था. भरत फिलहाल किसी सदन के सदस्‍य नहीं हैं. माना जा रहा है कि इस चुनाव में वह भी दावेदारी करेंगे. वर्तमान में बलिया से वीरेंद्र सिंह मस्‍त सांसद हैं. बताया जा रहा है कि सुरेंद्र सिंह की वीरेंद्र सिंह मस्‍त से भी पटरी नहीं खाती. दोनों की अदावत कई बार सड़कों पर भी दिख चुकी है. यह सब देखते हुए इस सीट पर टिकट को लेकर भाजपा में ही संघर्ष मचने के आसार हैं.

2017 का परिणाम
भाजपा प्रत्‍याशी सुरेंद्र सिंह को 64868 वोट मिले थे. 47791 वोट लेकर निवर्तमान विधायक व समाजवादी पार्टी प्रत्‍याशी जयप्रकाश अंचल दूसरे स्‍थान पर थे. तीसरे नंबर पर रहे बसपा के जवाहर को 27974 वोट मिले थे.

जातीय समीकरण
साढ़े तीन लाख से अधिक मतदाताओं वाली बैरिया विधानसभा सीट पर क्षत्रिय और यादव वोटरों का वर्चस्‍व है. यादव मतदाता जहां लगभग 85 हजार हैं, वहीं क्षत्रिय मतदाताओं की संख्‍या भी 80 हजार के करीब है. दलित वोटर 60 हजार और ब्राह्मण वोटर करीब 40 हजार हैं.

Tags: Ballia news, UP Election 2022

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर